लॉकडाउन में बधाई से मिले रुपयों से भरा सैकड़ों लोगों का पेट, चंडीगढ़ की ट्रांसजेंडर सोनाक्षी गोशाला में भी देती हैं दान

चंडीगढ़ की ट्रांसजेंडर सोनाक्षी महंत की फाइल फोटो।

चंडीगढ़ की ट्रांसजेंडर सोनाक्षी ने लॉकडाउन के दौरान पहले गोशाला सेक्टर-45 में जाकर दान किया ताकि वहां रह रहीं गायों को भरपेट चारा मिल सके। गोशाला में दान करने के बाद सोनाक्षी महंत ने शहर के अलग-अलग मंदिरों और गुरुद्वारों में जाकर जरूरतमंदों के लिए राशन दान दिया।

Pankaj DwivediTue, 20 Apr 2021 04:23 PM (IST)

चंडीगढ़ [सुमेश ठाकुर]। कोरोना काल में सबसे बड़ी समस्या भरपेट भोजन की है। वर्ष 2020 में जब कोरोना की शुरुआत हुई और लॉकडाउन में सब कुछ बंद हो गया तो उस समय गरीब और जरूरदमंद लोगों के सामने रोटी का सवाल पैदा हो गया था। इंसान के साथ जानवरों की भी देखभाल की जानी थी। तब इस ओर ध्यान दिया धनास डेरे की ट्रांसजेंडर सोनाक्षी महंत ने। सोेनाक्षी ने लॉकडाउन के दौरान पहले गोशाला सेक्टर-45 में जाकर दान किया ताकि वहां रह रहीं गायों को भरपेट चारा मिल सके। गोशाला में दान करने के बाद सोनाक्षी महंत ने शहर के अलग-अलग मंदिरों और गुरुद्वारों में जाकर जरूरतमंदों के लिए राशन दान दिया।

किसी का पेट भरना सबसे बड़ा कर्मः सोनाक्षी महंत

सोनाक्षी महंत ने लॉकडाउन के दौरान गोशाला सेक्टर-45 के अलावा विभिन्न मंदिरों में करीब एक लाख रुपये के राशन का दान किया। सोनाक्षी के अनुसार उन्हें जो भी मिला, वह लोगों ने खुशी में बधाई के तौर पर उन्हें दिया था। इस कमाई को यदि मैं दूसरों का पेट करने के लिए लगा सकी तो यह मेरी सबसे बड़ी खुशकिस्मती है। मैं हर साल सांई मंदिर सेक्टर-29 में पहुंचकर लंगर लगवाती हूं। इसमें 30 से 40 हजार लोगों को लंगर मुहैया कराया जाता है। लंगर लगाने में करीब एक लाख रुपये लगते हैं।

लॉकडाउन में मंदिरों और गुरुद्वारों में किया दान

मैंने कोरोना महामारी के दौरान साईं मंदिर सेक्टर-29 में जाकर लंगर लगाने के बजाए उन मंदिर और गुरुद्वारों में दान दिया। यहां से भी जरूरतमंद लोगों का पेट भर रहा है। किसी का पेट भरना मेरा और मेरे समुदाय का सबसे बड़ा कर्म है। यह करके मैं खुश भी हूं। मुझे लगता है कि मैंने नेक कर्म किया है। मैं हर इंसान से अपील करती हूं कि यदि किसी के पास कुछ है तो वह दूसरों का पेट भरने और किसी का भला करने के लिए लगाए। उस व्यक्ति की दुआएं आपको मिलेंगी।

यह भी पढ़ें - बच्चे को लेकर अस्पताल जा रही महिला की कार हुई पंचर...मसीहा बनकर पहुंचा चंडीगढ़ पुलिस का जवान

यह भी पढ़ें- स्वास्थ्य मंत्रालय के पीजीआइ को बेड व वेंटिलेटर बढ़ाने के आदेश, अभी एडमिट हैं 243 कोरोना मरीज

यह भी पढ़ें- Chandigarh Micro Containment Zone: शहर के इन क्षेत्रों में जाने से बचें, लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले

यह भी पढ़ें- बाबर के शासनकाल में बना था मां जयंती का मंदिर, माता की महिमा से डाकू गरीबदास बना था प्रसिद्ध राजा

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.