Chandigarh Paid Parking: चंडीगढ़ में पेड पार्किंग को लेकर कमेटी की रिपोर्ट तैयार, सदन की बैठक गरमाएगा मामला

नगर निगम कमेटी की ओर से जो शहर की 89 पेड पार्किंग का निरीक्षण किया है। उसकी रिपोर्ट कमिश्नर आनंदिता मित्रा को सौंपी गई है। अब इस रिपोर्ट के आधार पर कमिश्नर आगामी कार्रवाई तय करेगी। इस बार होने वाली निगम की सदन की बैठक में ममला गरमाएगा।

Ankesh ThakurSat, 18 Sep 2021 05:21 PM (IST)
कांग्रेस पार्षदों ने फिर से सदन की बैठक में हंगामा करने की रणनीति तैयार कर ली है। फाइल फोटो

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। इस महीने होने वाली चंडीगढ़ नगर निगम की सदन की बैठक में एक बार फिर से पेड पार्किंग में स्मार्ट फीचर न होने का मामला गरमाएगा। कमेटी ने पार्किंग्स को लेकर रिपोर्ट तैयार कर ली है, जिसे कमिश्नर आनंदिता मित्रा बैठक में पेश करेंगी। कमिश्नर यह भी बताएंगी कि कब तक पेड पार्किंग में स्मार्ट फीचर लग जाएंगे। इस समय 50 करोड़ की लागत से तैयार हुई मल्टीलेवल पार्किंग खाली रहने का मामला भी गरमाया हुआ है। मेयर रविकांत शर्मा की ओर से इस माह होने वाली सदन की बैठक की तारीख तय करनी है। इस माह के अंत में सदन की बैठक होगी जबकि कांग्रेस की ओर से एक बार फिर से मेयर को घेरा जाएगा। इस बार कांग्रेस पार्टी ने सदन के बाहर भी भाजपा के खिलाफ प्रदर्शन करने की रणनीति बनाई है जबकि भीतर सदन में कांग्रेस पार्षद हंगामा करेंगे। पिछली सदन की बैठक में आम आदमी पार्टी ने भाजपा के खिलाफ प्रदर्शन किया था।    

नगर निगम कमेटी की ओर से जो शहर की 89 पेड पार्किंग का निरीक्षण किया है। उसकी रिपोर्ट कमिश्नर आनंदिता मित्रा को सौंपी गई है। अब इस रिपोर्ट के आधार पर कमिश्नर आगामी कार्रवाई तय करेगी। रिपोर्ट के अनुसार ठेकेदार टेंडर की शर्त के अनुसार कई वायलेशन भी हो रही है। जोन-1 और जोन-2 की रिपोर्ट के अनुसार निरीक्षण के दौरान पाया गया कि कई कर्मचारियों ने वर्दी नहीं पहनी हुई थी। सिर्फ जैकेट और आइडी कार्ड ही पहना हुआ मिला। पिछले दिनों नगर निगम ने दो अलग अलग पेड पार्किंग के ठेकेदारों पर भी कार्रवाई की है। एक ठेकेदार पर 20 हजार और दूसरे ठेकेदार पर दस हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है।  

कमेटी ने बनाई रिपोर्ट

शहर की ज्यादातर पार्किंग में सेक्टर-35बी और सी, 43, 20, 26 की पार्किंग में कर्मचारी तो तैनात थे, लेकिन उनके पास उपकरण नहीं थे। इसी जोन की छोटी पेड पार्किंग में कर्मचारी नहीं था। रिपोर्ट के अनुसार छोटी पार्किंग में एलईडी स्क्रीन नहीं लगी है। सेक्टर-34 और सेक्टर-26 के बेकसाइड वाली पार्किंग में मैनुअल पर्ची काटी जा रही है, जबकि सभी पार्किंग में ई-टिकट की व्यवस्था है। रिपोर्ट में कहा गया है कि शाम के समय पार्किंग की व्यवस्था सही नहीं मिली। कियोस्क है लेकिन वह पेंट करवाने है।

जोन-2 की रिपोर्ट के अनुसार भी कई कर्मचारियों ने ड्रेस में नहीं थे। इस जोन में अधिकतर प्रमुख पेड पार्किंग में स्टाफ तैनात था और सभी पेड पार्किंग में ई टिकट की व्यवस्था है। मालूम हो कि कमिश्नर ने तीन सप्ताह पहले पार्किंग ठेकेदारों के साथ बैठक करके सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए थे। यह रिपोर्ट कमिश्नर की ओर से इस माह होने वाली सदन की बैठक में भी पेश की जाएगी। नगर निगम के अनुसार जोन-1 और 2 की जो रिपोर्ट आई है उनमे टेंडर के अनुसार कई शर्ते पूरी भी हैं।

कांग्रेस पार्षद सतीश कैंथ का कहना है कि पेड पार्किंग में स्मार्ट फीचर अभी तक नहीं लगे हैं। सिर्फ खानापूर्ति के लिए ठेकेदारों पर जुर्माना लगाया जा रहा है। शहरवासियों से पूरा शुल्क लिया जा रहा है लेकिन अगर उन्हें सुविधा नहीं मिल रही है तो उनके द्वारा भुगतान किया गया शुल्क वापस होना चाहिए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.