चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव: इस बार पार्षद नहीं उनकी पत्नियां लड़ेंगी चुनाव, मेयर पद भी महिला के लिए रिजर्व

भाजपा पार्षद शक्तिदेव शाली का वार्ड भी महिला के लिए रिजर्व होने से अब उनकी पत्नी भी दावेदार बन गई हैं। सेक्टर-20 और 30 का वार्ड भी महिला के लिए रिजर्व होने से अब यहां से कांग्रेस के महासचिव हरमेल केसरी अपनी पत्नी प्रिति केसरी को मैदान में उतारेंगे।

Ankesh ThakurTue, 23 Nov 2021 09:58 AM (IST)
पहले साल के लिए मेयर पद महिला के रिजर्व किया गया है।

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव के लिए इस बार कई नेताओं के चुनाव लड़ने के सपने टूट गए हैं। ऐसे में अब उनकी पत्नियां अब राजनीति को आगे बढ़ाएंगी। भाजपा के कई सिटिंग पार्षदों के वार्ड महिलाओं के लिए रिजर्व हो गए हैं जो कि अब अपनी पत्नियों के लिए टिकट मांग रहे हैं। कांग्रेस पार्षद दल के नेता देवेंद्र सिंह बबला भी अब फिर से पार्षद बनकर नगर निगम पहुंच नहीं पाएंगे, क्योंकि उनका वार्ड महिला के लिए रिजर्व हो गया है। ऐसे में कांग्रेस बबला की पत्नी हरप्रीत कौर बबला को उम्मीदवार बनाकर मैदान में उतारने जा रही है। इस बार पहले के मुकाबले में ज्यादा महिलाएं चुनकर नगर निगम पहुंचेगी। क्योंकि महिला वार्ड की संख्या बढ़ गई है। अब 12 वार्ड महिला के लिए रिजर्व हो गए हैं। वहीं, जनरल सीट से भी महिलाओं ने दावा ठोका हुआ है।  

भाजपा पार्षद शक्तिदेव शाली का वार्ड भी महिला के लिए रिजर्व होने से अब उनकी पत्नी भी दावेदार बन गई हैं। सेक्टर-20 और 30 का वार्ड भी महिला के लिए रिजर्व होने से अब यहां से कांग्रेस के महासचिव हरमेल केसरी अपनी पत्नी प्रिति केसरी को मैदान में उतारना चाहते हैं। इसी वार्ड से कांग्रेस सेवा दल के चेयरमैन डा. ओपी वर्मा अपनी बहू के लिए टिकट मांग रहे हैं। अभी इस वार्ड से भाजपा के राजेश गुप्ता पार्षद है जो कि अपनी पत्नी के लिए टिकट मांग रहे हैं। इससे पहले भी ऐसा हो चुका है जब वार्ड महिला के लिए रिजर्व होने से नेताओं को अपनी पत्नियों को मैदान में उतारना पड़ा। जिसमें कांग्रेस पार्षद रविंदर कौर गुजराल, गुरबख्श रावत और भाजपा की चंद्रावती शुक्ला का नाम शामिल है। जो इस समय भी पार्षद चुनाव के लिए फिर प्रबल दावेदार हैं।

हाफिज अनवर अपनी पत्नी जन्नत जहां के लिए टिकट मांग रहे हैं। भाजपा के मंडल अध्यक्ष दीपक शर्मा अपनी पत्नी ममता शर्मा के लिए टिकट मांग रहे हैं। चुनाव के बाद मेयर का चुनाव होना है। अगले साल मेयर का पद भी महिला के लिए रिजर्व है। ऐसे में कई महिलाएं मेयर बनने का भी सपना देख रही है। इस बार 70 से ज्यादा महिलाएं पार्षद बनने के लिए राजनीतिक जमीन पर उतरेगी। जिनमें पूर्व मेयर भी शामिल है।

इस बार महिलाओं की सीटें भी बढ़ गई हैं। प्रशासन की ओर से ड्रा में 12 सीटे महिलाओं के लिए तय की है जिनमें तीन वार्ड आरक्षित महिला के लिए हैं। कांग्रेस, भाजपा, आप, शिअद- बसपा इन वार्ड में उम्मीदवार उतारेगी।इसके अलावा ऐसे जनरल वार्ड से भी महिलाएं उतरेगी जहां पर उनके मुकाबले में पुरूष उम्मीदवार होंगे।इन जनरल वार्ड में महिलाएं मजबूत है इसलिए दल उन्हें उन्हीं सीट से मैदान में उतारेंगे। इसमे कांग्रेस की गुरबख्श रावत शामिल है। कांग्रेस की गुरबख्श रावत भी वार्ड नंबर-27 से दावेदार है। वह इस समय इसी वार्ड से पार्षद है। जबकि यह वार्ड भी जनरल है।इस वार्ड से कांग्रेस उपाध्यक्ष जगजीत सिंह कंग भी टिकट के दावेदार है।भाजपा से पूर्व मेयर आशा जसवाल और सुनीता धवन को भी अब वार्ड बदलना होगा क्योंकि अब ड्रा में उनका वार्ड महिला के लिए रिजर्व नहीं है। ऐसा पहली बार होगा जब इतनी ज्यादा महिलाएं मैदान में उतरेगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.