चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव: ठंड के मौसम में बढ़ी चुनाव की गर्मी, ऊनी मफलर की बढ़ी डिमांड

चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव को लेकर प्रत्याशियों की तरफ से प्रचार के लिए पूरी ताकत झोंकी जा रही है। ऐसे में इस बार ठंड के मौसम में चुनाव होने के कारण ऊनी मफलर की डिमांड ज्यादा बढ़ गई है। प्रत्याशी अपनी-अपनी पार्टी के मफलर तैयार करवा रहे हैं।

Ankesh ThakurPublish:Tue, 07 Dec 2021 09:29 AM (IST) Updated:Tue, 07 Dec 2021 09:29 AM (IST)
चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव: ठंड के मौसम में बढ़ी चुनाव की गर्मी, ऊनी मफलर की बढ़ी डिमांड
चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव: ठंड के मौसम में बढ़ी चुनाव की गर्मी, ऊनी मफलर की बढ़ी डिमांड

कुलदीप शुक्ला, चंडीगढ़। इस बार चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव में ठंडे मौसम का असर पड़ रहा है। पार्टियों के पदाधिकारी, प्रत्याशी और समर्थक ठंड से बचने के लिए ऊन से बने मफलर की ज्यादा डिमांड कर रहे हैं। जिस पर पार्टी के निशान, चुनाव निशान सहित पदाधिकारियों की तस्वीर भी उकेरी जा रही है। प्रत्याशियों ने इसकी मुख्य वजह यह बताई कि यह मफलर लोगों के लिए काफी समय तक काम आएंगे। इसके अलावा ठंड के साथ कोरोना संक्रमण से बचाव में भी यह मफलर कारगर साबित होंगे। 

चुनाव सामग्री के आर्डर लेने वाले मालिक सोनू ने बताया कि मफलर के लिए कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के प्रत्याशियों की तरफ से सामग्री के आर्डर ज्यादा हैं। जबकि, भाजपा की तरफ से अब तक कम ही आर्डर मिले हैं। इसकी मुख्य वजह यह भी हो सकती है कि भाजपा प्रत्याशियों को ज्यादा से ज्यादा चुनावी सामग्री पार्टी की तरफ से पहले ही दी जा चुकी है। चुनावी बिगुल बजने के बाद से चुनाव प्रचार के लिए सामान का आर्डर मिलना शुरू हो गया है। 

निर्दल प्रत्याशियों की संख्या बढ़ी, सामग्री में नए दांव-पेंच

चुनाव आयोग के निर्देशानुसार कई पार्टियों के प्रत्याशियों को भी निर्दलीय लिस्ट में माना जा रहा है। जो अपनी पार्टी के चुनाव निशान पर नहीं लड़ेंगे। अब उन्हें निर्दलीय प्रत्याशियों की तरह चुनाव निशान मिलेगा। जिसमें भाजपा और कांग्रेस को छोड़कर आम आदमी पार्टी, शिवसेना, बसपा, अकाली दल शामिल हैं। इस आधार पर निर्दलीय प्रत्याशियों की संख्या बढ़ने के साथ चुनाव सामग्री की कुछ नए ट्रेंड में डिमांड है।

कोरोना में महंगाई का असर नहीं

मफलरनुमा पटका - 20 से 100 रुपये तक

पटका - पांच रुपये से 50 रुपये तक

टोपी - पांच रुपये से सात रुपये तक

प्लास्टिक का बिल्ला- पांच रुपये

कपड़ा प्लैग - पांच रुपये से 100 रुपये तक