Chandigarh MC Polls: भाजपा प्रदेश एससी मोर्चा उपाध्यक्ष मीरा पासवान ने भाजपा छोड़ सपा का पकड़ा दामन

मीरा पासवान ने एससी मोर्चा के टिकट का आवेदन किया था लेकिन पार्टी ने इनकार कर दिया। विरोध में मीरा अपने समर्थकों के साथ सपा में शामिल हो गईं और पार्टी के चुनाव चिन्ह पर नामांकन पत्र भरकर सबको चौंका दियाl

Pankaj DwivediPublish:Sun, 05 Dec 2021 10:37 AM (IST) Updated:Sun, 05 Dec 2021 10:37 AM (IST)
Chandigarh MC Polls: भाजपा प्रदेश एससी मोर्चा उपाध्यक्ष मीरा पासवान ने भाजपा छोड़ सपा का पकड़ा दामन
Chandigarh MC Polls: भाजपा प्रदेश एससी मोर्चा उपाध्यक्ष मीरा पासवान ने भाजपा छोड़ सपा का पकड़ा दामन

जासं, चंडीगढ़। भाजपा एससी मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष मीरा पासवान ने पद से त्यागपत्र देकर समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया है। उन्होंने नगर निगम चुनाव के लिए सपा से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया है। पासवान ने एससी मोर्चा के टिकट का आवेदन किया था लेकिन पार्टी ने इनकार कर दिया। विरोध में मीरा अपने समर्थकों के साथ सपा में शामिल हो गईं और पार्टी के चुनाव चिन्ह पर नामांकन पत्र भरकर सबको चौंका दियाl समाजवादी पार्टी से वार्ड नंबर 34 से सुरेंद्र ठाकुर, वार्ड नंबर 21 से नागेंद्र गुप्ता, वार्ड नंबर वार्ड नंबर 35 से मोहम्मद फुरकान, वार्ड नंबर 7 से कविंद्र, वार्ड नंबर 15 से रंजना यादव, वार्ड नंबर 9 से पुष्पा देवी, वार्ड नंबर 29 से जयदीप बाल्मीकि, वार्ड नंबर 28 से विमला देवी, वार्ड नंबर 20 से रोहित पंडित, वार्ड नंबर 1 से गीता देवी, वार्ड नंबर 13 से संतोष कुमार, वार्ड 14 से प्रतिमा देवी ने पर्चे दाखिल किए।

इन सभी ने समाजवादी पार्टी के चुनाव चिन्ह साइकिल से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। प्रदेश अध्यक्ष विक्रम यादव ने अपने एक वक्तव्य में कहा कि चंडीगढ़ में जनता का हमें भरपूर समर्थन मिल रहा है और जल्द ही उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव चंडीगढ़ में सपा उम्मीदवारों का प्रचार करने के लिए पधारेंगे। आने वाले समय में यहां पर हम बहुत ही प्रभावशाली अपना प्रदर्शन करेंगे और निगम में बहुमत प्राप्त करेंगे।

सेक्टर 42 स्पोर्ट्स कंपलेक्स में अपना नामांकन भरने आई मीरा ने कहा कि उन्होंने लोगों के बीच में रहकर काम किया है और उन्हें उम्मीद है कि लोग इस चुनाव में उन्हें जरूर विजई बनाएंगे। भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा ने इन चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर किसी से कोई बातचीत नहीं की।

यह भी पढ़ें - Navjot Sidhu बोले- जब सियासत बोझ लगती है तो इस्तीफा देता हूं, वह फिर वापस ले आते हैं