चंडीगढ़ कांग्रेस पार्षद प्रशासक वीपी सिंह बदनौर के साथ करेंगे बैठक, इन मुद्दों पर होगा मंथन

चंडीगढ़ प्रशासक वीपी सिंह बदनौर की फाइल फोटो।

कांग्रेस पार्षद दल के नेता देंवेंद्र सिंह बबला वर्तमान स्थिति पर बुधवार को कांग्रेस पार्षदों के साथ गवर्नर हाउस प्रशासक वीपी सिंह बदनौर को मिलने जा रहे हैं। बैठक के दौरान शहर की समस्याओं पर चर्चा की जाएगी।

Ankesh KumarWed, 14 Apr 2021 12:03 PM (IST)

चंडीगढ़, जेएनएन। चंडीगढ़ कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष सुभाष चावला इस समय बीमार हैं। कोरोना होने के कारण वह अस्पताल में भर्ती हैं। ऐसे में चंडीगढ़ नगर निगम और भाजपा के खिलाफ कांग्रेस पार्षद दल के नेता देंवेंद्र सिंह बबला ने मोर्चा संभाला है। वर्तमान स्थिति पर बबला बुधवार को कांग्रेस पार्षदों के साथ गवर्नर हाउस प्रशासक वीपी सिंह बदनौर को मिलने जा रहे हैं। इस मौके पर कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता एचएस लक्की भी मौजूद रहेंगे।

इस बैठक में शहर की समस्याओं पर चर्चा की जाएगी। कांग्रेस नेताओं ने प्रशासक से मिलने का समय मांगा था, जिसके बाद यह बैठक हो रही है। इस मौके पर कांग्रेस पार्षद पानी की बढ़ी दरों का मामला भी उठाएंगे। इसके साथ ही नगर निगम के लिए ज्यादा से ज्यादा फंड देने की मांग की जाएगी। इस समय फंड न होने के कारण नगर निगम के विकास के काम रुक गए हैं। इसके अलावा गांवों की स्थिति से भी प्रशासक को अवगत करवाया जाएगा। कांग्रेस नेताओं का मानना है कि जब से गांव नगर निगम में शामिल हुए हैं तब से गांव की हालत ज्यादा खस्ता हुई है। कांग्रेस नेताओं की ओर से इस मौके पर प्रशासन को समस्याओं का ज्ञापन भी सौंपा जाएगा। मालूम हो कि अध्यक्ष सुभाष चावला के बीमार होने से कांग्रेस की पिछले 20 दिन से हर तरह की गतिविधि रुक गई है जबकि पहले कांग्रेस के कार्यकर्ता भाजपा के खिलाफ सड़क पर उतरकर अलग अलग मुद्दों पर प्रदर्शन कर रहे थे।   

दो दिन पहले बबला ने प्रशासक को लिखा पत्र

दो दिन पहले देवेंद्र सिंह बबला ने प्रशासक को पत्र भी लिखा था। जिसमें उन्होंने मेयर रविकांत शर्मा पर गंभीर आरोप लगाए थे। आरोप लगाया गया था कि भाजपा मेयर और पार्षद नगर निगम को लूट रहे हैं। शहर में घर-घर से कूड़ा उठाने के लिए जो गाड़ियां खरीदी गई हैं उनके लिए ड्राइवर भर्ती के नाम पर एक ड्राइवर से नौकरी के लिए एक लाख रुपये लिए गए हैं। इन गाड़ियों के चालकों की भर्ती के लिए कोई नियम फॉलो नहीं किया जा रहा है। ड्राइवर भर्ती के लिए न कोई टेस्ट लिया जा रहा है।

यह भी आरोप लगाया गया था कि पहले भी कूड़ा उठाने वाले गाड़ियों के लिए 112 चालक की भर्ती इसी तरह से हुई हैं, जिनका अभी तक कोई टेस्ट भी नहीं लिया गया है। अब दोबारा 150 चालकों की लिस्ट नगर निगम कमीश्नर को भेज दी गई है। इसी तरह दूसरे डिपार्टमेंट में कर्मचारियों की भर्ती भी किसी नियम के तहत नहीं हो रही है। उन्होंने पत्र में प्रशासक से भर्ती की जांच की मांग की है। बबला ने यह भी आरोप लगाया था कि मेयर किसी एसई को नगर निगम में लाने के लिए नियमों की अनदेखी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह वह अधिकारी है जिसने नगर निगम में रहते हुए सेक्टर-17 में पार्किंग का निर्माण करवाया था, जो पार्किंग आज तक विवादो में घिरी हुई है।

यह भी पढ़ें : Axis Bank 4 Crore Theft Case: चंडीगढ़ में Axis Bank से 4 करोड़ रुपये चोरी कर भागा सिक्योरिटी गार्ड गिरफ्तार

यह भी पढ़ें : चंडीगढ़ Axis Bank से 4 करोड़ रुपये चोरी करने वाले सिक्योरिटी गार्ड की फिल्मी कहानी, लव मैरिज की तो परिवार ने किया बे-दखल

चंडीगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.