Chandigarh MC Polls: उम्मीदवार घोषित होते ही भाजपा में बगावत शुरू, टिकट न मिलने पर किसान मोर्चा के राष्ट्रीय सदस्य का इस्तीफा

गांव दड़वा के पूर्व सरपंच और किसान मोर्चा के राष्ट्रीय सदस्य गुरप्रीत हैप्पी ने पद से इस्तीफा देकर निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। हैप्पी वार्ड-9 से पत्नी के लिए टिकट मांग रहे थे। यहां से भाजपा ने निवर्तमान पार्षद अनिल दूबे की पत्नी को टिकट दी है।

Pankaj DwivediThu, 02 Dec 2021 02:19 PM (IST)
चंडीगढ़ में नगर निगम चुनाव दिसंबर के महीने में ही करवाए जा रहे हैं। सांकेतिक चित्र।

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। नगर निगम चुनाव के लिए भाजपा के उम्मीदवार घोषित होते ही बगावत और इस्तीफों का दौर शुरू हो गया है। कई जगह अब भाजपा नेता बागी होकर आजाद प्रत्याशी के रूप में खड़े होने जा रहे हैं। कई नाराज नेता कांग्रेस के भी संपर्क में हैं। गांव दड़वा के पूर्व सरपंच और किसान मोर्चा के राष्ट्रीय सदस्य गुरप्रीत हैप्पी ने अपने पद से इस्तीफा देकर निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। मालूम हो कि हैप्पी वार्ड नंबर-9 से अपनी पत्नी के लिए टिकट मांग रहे थे। यहां से भाजपा ने वर्तमान पार्षद अनिल दूबे की पत्नी बिमला दूबे को टिकट दी है।

इसके साथ ही वार्ड नंबर-10 से भाजपा ने जिला अध्यक्ष मनु भसीन की पत्नी राशी भसीन को उम्मीदवार बनाया है।इस वार्ड से भी उतर प्रदेश वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष वीएस पाठक अपनी पत्नी सुशीला पाठक के लिए टिकट मांग रहे थे। टिकट न मिलने से वे नाराज हो गए हैं। वीएस पाठक का कहना है कि अब उनकी पत्नी निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन दाखिल करेंगी। पाठक का कहना है कि पुराने कार्यकर्ताओं की अनदेखी की गई है, जिसका खामियाजा भाजपा को चुनाव में भुगतान पड़ेगा। मालूम हो कि इसी वार्ड से कांग्रेस पार्षद दल के नेता देवेंद्र सिंह बबला की पत्नी हरप्रीत कौर बबला चुनाव लड़ने जा रही हैं।

गुरप्रीत हैप्पी का कहना है कि उनके साथ में इस्तीफा देने वालों में वार्ड नंबर-9 के मंडल अध्यक्ष चमन लाल, महामंत्री श्याम लाल जैन, पूर्व मंडल अध्यक्ष तिलक राज, किसान मोर्चा के सचिव बलवीर सिंह, किसान मोर्चा के मंडल अध्यक्ष जगमोहन सिंह, हिमाचल प्रकोष्ठ के वार्ड नंबर -9 के अध्यक्ष सीताराम व अन्य भाजपा कार्यकर्ता शामिल हैं। मालूम हो कि इस बार भाजपा ने इस बार नए चेहरों को मौका दिया है। टिकट आवंटन में भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद की चली है। सूद ने अपने वफादारों को टिकट बांटी है, जिनमे अधिकतर नए चेहरों को तवज्जों दी गई है ताकि सिटिंग पार्षदों की सता विरोधी लहर का असर न पड़ सके।

वहीं उम्मीदवारों की घोषणा से पहले ही किसान मोर्चा के महासचिव धमेंद्र सैनी ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। सैनी अपनी पत्नी के लिए वार्ड नंबर-9 से टिकट मांग रहे थे।

भाजपा की पहली सूची में 23 में केवल 4 सीटें निवर्तमान पार्षदों को

भाजपा ने 23 उम्मीदवारों की घोषणा की है, जिनमे सिर्फ चार सिटिंग पार्षदों को टिकट मिली है। इनमें कंवरजीत राणा, मेयर रविकांत शर्मा, दलीप शर्मा और भरत कुमार का नाम शामिल है। पहली जारी हुई सूची में किसी भी पूर्व मेयर का नाम शामिल नहीं है। मालूम हो कि मंगलवार को दैनिक जागरण ने भाजपा के कई सिटिंग पार्षदों की कटेगी टिकट शीर्षक के साथ खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। बाकी बचे उम्मीदवारों की घोषणा भाजपा बुधवार को करेगी। 4 दिसंबर को नामांकन की अंतिम तारीख है। पहली सूची में पूर्व मेयर देवेश मोदगिल, पूर्व मेयर राजबाला मलिक, राजेश कालिया और आशा जसवाल का नाम शामिल नहीं है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.