कैप्‍टन अमरिंदर ने सिद्धू के खिलाफ मोर्चा, कहा- कार्रवाई के लिए राहुल व प्रियंका से करुंगा बात

चंडीगढ़, जेएनएन। Lok Sabha Election Result 2019 का रिजल्‍ट घोषित होने के साथ ही पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने कहा कि उन्‍होंने कहा, सिद्धू के बारे में मैं जल्‍द के बारे में राहुल गांधी से मिलूंगा। सिद्धू नॉन परफॉर्मर मिनिस्टर हैं। शहरों में उनके द्वारा काम न किए जाने की वजह से पार्टी कई प्रमुख शहरों में हार गई। बठिंडा और गुरदासपुर सीटों पर कांग्रेस की हार के लिए सिद्धू की बयानबाजी भी जिम्‍मेदार है। इन सीटों पर कांग्रेस की हार का कारण सिद्धू का बयान हो सकता है।

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि नवजोत सिद्धू नॉन परफाॅर्मर मंत्री हैं और स्थानीय निकाय मंत्री के रूप में एकदम काम नहीं किया। इसलिए उनका विभाग बदला जाएगा। इस बारे में मैं जल्द ही पार्टी हाईकमान से मिलूंगा। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा, नावजोत सिद्धू के प्रति राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा का सॉफ्ट कॉर्नर है, लेकिन वे राज्य के हित के लिए मेरी बात को समझेंगे।

कैप्टन ने कहा कि सिद्धू ने स्‍थानीय निकाय मंत्री के रूप में शहरों में कोई काम नहीं किया। यही कारण है कि शहरी क्षेत्रों में चुनाव में कांग्रेस को नुकसान हुआ। बठिंडा जैसे शहर में भी कांग्रेस हार गई, जबकि पिछले संसदीय चुनाव में यहां से पार्टी की 30 हजार की लीड थी। इसी प्रकार संगरूर, पठानकोट, गुरदासपुर व फिरोजपुर जैसे शहरों में मिली हार भी हमारे लिए चिंता का विषय है।

कैप्‍टन ने कहा- एसआइटी बनाने पर सिद्धू ने घुटने टेक बोला था, अच्छा किया

प्रचार के अंतिम दिन सिद्धू द्वारा अकाली दल से मिले होने के आरोप पर कैप्टन  खुलकर बोले। उन्होंने कहा कि अगर सिद्धू मतदान के एक दिन बाद बोलते तो पार्टी की स्थिति बेहतर होती। कैप्टन ने कहा जब बेअदबी मामले में मैंने विधानसभा में एसआइटी बनाई थी तब यही सिद्धू मेरे सामने घुटने टेककर बोला था कि आपने यह काम अच्छा किया। कैप्टन ने आज फिर सिद्धू द्वारा पाक आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा को जफ्फी डालने के मामले में कहा कि उनके सैनिक हमारे युवाओं को मार रहे हैं और हम उन्हें जफ्फियां डाल रहे हैं।

नहीं होगी मंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई
मुख्यमंत्री आज अपने पुराने बयान से पलट गए। उन्होंने कहा कि अब किसी भी सीट पर हार के मामले में मंत्री के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होगी। चुनाव से पहले कैप्टन ने सभी विधायकों और मंत्रियों को कहा था कि अगर किसी सीट पर लीड कम हुई तो मंत्री व विधायक को खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

गुरदासपुर से जाखड़ के हारने का अफसोस
मुख्यमंत्री ने गुरदासपुर से सुनील जाखड़ के हारने पर अफसोस जताया है। उन्होंने कहा कि जाखड़ ने अपने छोटे से कार्यकाल में संसदीय क्षेत्र के लिए काफी काम किया, लेकिन एक एक्टर के आने से सारा युवा उसकी तरफ हो गया। यह दुखद है। लगता है भारतीय लोकतंत्र को अभी और सुधरने की जरूरत है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.