लोंगेवाला मोर्चे के हीरो रहे ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी पर बनी बायोपिक, मोहाली एसपी ने लिखी है स्टोरी

1971 भारत-पाक युद्ध के दौरान लोंगेवाला पोस्ट पर हुई जंग को 50 साल पूरे होने वाले हैं। 3 दिसंबर से 13 दिसंबर 1971 तक दस दिन तक लोंगेवाल पोस्ट पर दोनों देशों के सेनाओं के बीच जंग चली थी। सिर्फ 120 भारतीय जवानों ने पाकिस्‍तानी सेना को धूल चटाई थी।

Ankesh ThakurPublish:Sun, 21 Nov 2021 01:41 PM (IST) Updated:Sun, 21 Nov 2021 01:41 PM (IST)
लोंगेवाला मोर्चे के हीरो रहे ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी पर बनी बायोपिक, मोहाली एसपी ने लिखी है स्टोरी
लोंगेवाला मोर्चे के हीरो रहे ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी पर बनी बायोपिक, मोहाली एसपी ने लिखी है स्टोरी

सुमेश ठाकुर, चंडीगढ़। 1971 भारत-पाक युद्ध के दौरान लोंगेवाला पोस्ट पर हुई जंग को 50 साल पूरे होने वाले हैं। 3 दिसंबर से 13 दिसंबर 1971 तक दस दिन तक लोंगेवाल पोस्ट पर दोनों देशों के सेनाओं के बीच जंग चली थी। सिर्फ 120 भारतीय जवानों ने पाकिस्‍तानी सेना के तीन हजार सैनिकों को धूल चटा दी थी। लोंगेवाला मोर्चे के हीरो भारतीय सेना ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी पर उनके अदम्य साहस को दर्शाते हुए बायोपिक बनाई गई है जो जल्द ही रिलीज होने वाली है। खास बात यह है कि बायोपिक के लिए स्टोरी मोहाली एसपी गुरजोत सिंह कलेर ने लिखी है। जिसमें कुलदीप सिंह चांदपुरी के बचपन से लेकर युवावस्था को दिखाया गया है।

बचपन के बाद युवावस्था में भारतीय सेना में जाना और सेना में उनके जनून को फिल्म में दर्शाया गया है। मोहाली एससी गुरजोत सिंह कलेर ने बताया कि मेरा प्रयास ब्रिग्रेडर चांदपुरी के शौर्य से युवाओं को अवगत कराना है। ब्रिगेडियर चांदपुरी ने 120 भारतीय सैनिकों के साथ लोंगेवाल का मोर्चा संभाला और पाकिस्तानी सेना को आत्मसमर्पण के लिए मजबूर कर दिया।

वीरता के साथ प्लानिंग के प्रेरक है चांदपुरी

एसपी गुरजोत सिंह कलेर ने बताया कि ब्रिगेडर कुलदीप सिंह चांदपुरी में वीरता के साथ बेहतर प्लानिंग थी। पाकिस्तान आर्मी के पास टैंक थे जिनकी मारक क्षमता दो से चार किलोमीटर की थी। 100 से ज्यादा टैंक भारतीय सरहद में प्रवेश कर चुके थे जिन्हें रोकना मुश्किल था लेकिन ब्रिगेडियर चांदपुरी की प्लानिंग के चलते दुश्मनों के मंसूबों पर पानी फेर दिया।

गोल्डन जुबली पर रिलीज होगी फिल्म

ब्रिगेडियर चांदपुरी पर बन रही फिल्म दिसंबर 2021 में लोंगेवाल मोर्चे पर भारतीय सेना की जीत के 50 साल पूरे होने के उपलक्ष्य पर रीलिज किया जाएगा। फिल्म में खासतौर पर भारतीय सेना के शौर्य के साथ कुलदीप सिंह चांदपुरी के जीवन को दिखाना है। इससे पहले भी बाॅलीवुड फिल्म ‘बाॅर्डर’ लोंगेवाला की जंग पर आधारित है, जिसमें इस जंग के हीरो ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी का किरदार सन्नी देओल ने निभाया था।