चंडीगढ़ पुलिस कांस्टेबल की नकली Facebook आइडी से ठगी की कोशिश, जानकारों से मांगे जा रहे पैसे

पुलिस के अनुसार साइबर क्रिमिनल ने कांस्टेबल अजय के नाम से नकली एफबी आइडी बनाकर मैसेंजर के माध्यम से उसके किसी जानकार को मैसेज भेजा। पहले हैकर ने उससे हालचाल पूछने के बाद कहा कि एक दिन के लिए कुछ पैसे उधार चाहिए।

Ankesh ThakurPublish:Mon, 22 Nov 2021 01:52 PM (IST) Updated:Mon, 22 Nov 2021 01:52 PM (IST)
चंडीगढ़ पुलिस कांस्टेबल की नकली Facebook आइडी से ठगी की कोशिश, जानकारों से मांगे जा रहे पैसे
चंडीगढ़ पुलिस कांस्टेबल की नकली Facebook आइडी से ठगी की कोशिश, जानकारों से मांगे जा रहे पैसे

कुलदीप शुक्ला, चंडीगढ़। साइबर क्रिमिनल द्वारा चंडीगढ़ पुलिस विभाग में तैनात कांस्टेबल की नकली फेसबुक आइडी बनाकर उसके जानकारों से पैसे मांगे जा रहे हैं। शातिर पुलिस जवान के फ्रेंडलिस्ट में शामिल लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज रहा है। वहीं, रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करने वालों से मदद के बहाने पैसे मांगे जा रहे हैं। फिलहाल इस मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस जवान अजय ने साइबर सेल को शिकायत दे दी है।

पुलिस के अनुसार साइबर क्रिमिनल ने कांस्टेबल अजय के नाम से नकली एफबी आइडी बनाकर मैसेंजर के माध्यम से उसके किसी जानकार को मैसेज भेजा। पहले हैकर ने उससे हालचाल पूछने के बाद कहा कि एक दिन के लिए कुछ पैसे उधार चाहिए। काम होने के बाद पैसों को दूसरे दिन सुबह ही लौटा देगा। ऐसा मैसेज मिलने के बाद जानकार ने तुरंत अजय को कॉल किया। इसके बाद सामने आया कि किसी शातिर ने अजय की नकली फेसबुक आइडी बनाकर लोगों को ठगने की कोशिश कर रहा है।

रिटायर्ड एसपी की नकली आइडी से भी की जा चुकी है ठगी की कोशिश

पहले यूटी पुलिस के पूर्व एसपी रोशन लाल, पूर्व डीएसपी क्राइम जगबीर सिंह, वर्तमान डीएसपी दिलशेर सिंह चंदेल, इंस्पेक्टर अशोक कुमार की भी नकली आइडी बनाकर शातिर पैसे मांगने का काम कर चुके हैं। इससे पहले एडवोकेट अजय जग्गा, डीएवी-10 के प्रिंसिपल डॉ. पवन कुमार शर्मा, एमसीएम डीएवी की प्रिंसिपल डॉ. निशा भार्गव की नकली आइडी बनाकर ठगी की कोशिश की गई थी। 

चंडीगढ़ के मेयर की नकली फेसबुक आइडी बनाकर भी मांगे गए पैसे

पांच अप्रैल को भी इसी तरह चंडीगढ़ के मेयर रविकांत शर्मा की नकली फेसबुक आइडी बनाकर लोगों से पैसे मांग गए थे। किसी जानकार से इस तरह की सूचना मिलने के बाद मेयर ने तुरंत शिकायत चंडीगढ़ पुलिस के साइबर सेल को दी। वहीं, मेयर ने अपनी फेसबुक वॉल पर भी लोगों को सतर्क करते हुए पोस्ट किया था कि किसी ने उनकी नकली आइडी बनाई है, जोकि उनके जानकारों से पैसे मांग रहा है।