कैंटर चोरी होने के बाद ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी ने नहीं दिया क्लेम, अब देना होगा साढ़े पांच लाख हर्जाना

मोहाली निवासी दलविंदर सिंह ने अपने कैंटर को ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड से इंश्योर करवाया था।
Publish Date:Thu, 29 Oct 2020 07:46 AM (IST) Author: Vikas_Kumar

चंडीगढ़, राजन सैनी। जिला कंज्यूमर कमीशन ने एक इंश्योरड कैंटर के चोरी होने के बाद उसका क्लेम नहीं देने वाली ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड पर हर्जाना लगाया है। कमीशन ने कंपनी को शिकायतकर्ता को 5,59,500 रुपये आठ प्रतिशत ब्याज के साथ लौटाने के आदेश दिए है। इसके साथ ही शिकायतकर्ता को हुई मानसिक परेशानी के लिए 30 हजार रुपये मुआवजा देने के साथ 15 हजार रुपये केस खर्च के रूप में देने के लिए भी कहा है।

मोहाली निवासी दलविंदर सिंह ने जिला कंज्यूमर डिस्प्यूट रिड्रेसल कमीशन को दी अपनी शिकायत में बताया कि उन्होंने अपने कैंटर को ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड से इंश्योर करवाया था। यह पालिसी 1 मई, 2017 से 30 अप्रैल, 2018 तक के लिए थी। 27 मई, 2017 की रात को उनके कैंटर को किसी ने चोरी कर लिया। इसके लिए एफअाइआर भी दर्ज करवाई गई, लेकिन पुलिस कैंटर को नहीं ढूंढ सकी और पुलिस ने कोर्ट में अनट्रेस रिपोर्ट भी सौंप दी थी।

उन्होंने सभी जरूरी दस्तावेज उक्त इंश्योरेंस कंपनी को देकर क्लेम की मांग की थी जो कि 5,60,000 रुपये थी। लेकिन कंपनी ने कई दिन बीत जाने के बाद भी जब क्लेम नहीं दिया तो परेशान होकर अब उन्होंने कंज्यूमर कमीशन का दरवाजा खटखटाया। वहीं, इंश्योरेंस कंपनी ने दलील देते हुए कहा कि शिकायतकर्ता ने उन्हें तय समय पर कई दस्तावेज नहीं दिए, जिस वजह से क्लेम देने में समय लगा।

इसके साथ ही पांच दिन देरी से पुलिस को शिकायत दी और 12 दिनों के बाद उन्हें इसके बारे में सूचना दी। इसलिए इसमें उनकी कोई लापरवाही नहीं है। वहीं दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद अब कंज्यूमर कमीशन ने यह फैसला सुनाया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.