बठिंडा के पूर्ण सिंह हत्याकांड में चौकाने वाला खुलासा, पत्नी ही निकली हत्या की मास्टरमाइंड

पत्नी ने ही करवाई थी पति की हत्या। सांकेतिक फोटो
Publish Date:Sun, 25 Oct 2020 01:28 PM (IST) Author: Kamlesh Bhatt

जेएनएन, बठिंडा। जमीन के बंटवारे को लेकर जनवरी 2019 में मोगा जिले के गांव नथुवाला गरबी निवासी 55 वर्षीय एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई थी। हत्या के बाद शव खेतों से संदिग्ध हालत में बरामद हुआ था। तब पुलिस ने मृतक व्यक्ति के गोद लिए बेटे के बयानों पर अज्ञात लोगों पर हत्या का मामला दर्ज किया गया था। मामले में अब चौकाने वाला खुलासा हुआ था। उसकी हत्या उसी की पत्नी ने रिश्तेदारों के साथ मिलकर की थी। 

मामले की जांच पड़ताल करने के बाद डेढ़ साल बाद बठिंडा के थाना दयालपुरा पुलिस ने मृतक पूर्ण सिंह की पत्नी बठिंडा जिले के गांव दयालपुरा मिर्जा निवासी प्रीतम कौर, उसके रिश्तेदार जगतार सिंह, बेटे मनमीत सिंह, पुत्रवधू कुलवंत कौर, मोगा जिले के गांव दोसांझ निवासी जगजीत सिंह व मोगा के गांव गुंजी गुलाब सिंह निवासी गुरविंदर सिंह के खिलाफ हत्याकांड में शामिल हाेने के आरोप में हत्या का केस दर्ज किया है। हालांकि, इस मामले में किसी भी आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। पुलिस ने मामले की अगली कार्रवाई कर रही है।

पुलिस को शिकायत देकर मोगा निवासी व मृतक पूर्ण सिंह के गोद लिए बेटे गुरलवदीप सिंह ने बताया कि उनके पास काम सीखता था। पूर्ण सिंह की तीन पत्नियां थी, जबकि उसकी अपनी कोई औलाद नहीं थी। दो पत्नियों के साथ तलाक होने के कारण पूर्ण सिंह अपनी पहली पत्नी प्रीतम कौर के साथ रहता था। जिसके चलते वह उन दोनों की सेवा संभाल करने लगा।

गुरलवदीप सिंह ने बताया कि उसकी सेवा से खुश होकर पूर्ण सिंह ने उसे गोद ले लिया और उसके नाम पर दो किले जमीन कर दी। इतना ही नहीं मृतक पूर्ण सिंह ने अपनी पत्नी प्रीतम कौर के हिस्से की दो किले जमीन छोड़कर बाकी की जमीन भी वसीयत के जरिए साल 2018 में उसके नाम पर करवा दी।

शिकायतकर्ता के मुताबिक पूर्ण सिंह के मामा की पोती कुलवंत कौर दयालपुरा मिर्जा निवासी जगतार सिंह की पत्नी है। उसे इस बात का एतराज था कि पूर्ण सिंह ने अपनी पत्नी प्रीतम कौर को कम जगह दी, जिसके चलते उसने पंचायत बुलाकर प्रीतम कौर के हिस्से पांच किले जमीन करवाने की मांग की। इस पर पूर्ण सिंह सहमत भी हो गए थेेे। इसके बाद आठ अगस्त 2018 को आरोपित कुलवंत कौर, प्रतीम कौर, जगतार सिंह, मनमीत सिंह, जगजीत सिंह व गुरविंदर सिंह सब तहसील बाघापुराना आ गए।

इस दौरान उक्त आरोपितों ने उसे व उसके पिता पूर्ण सिंह को धोखे में रखकर 5 किलेे के बजाय 15 किलेे जमीन आरोपित प्रीतम कौर के नाम पर दी। वहीं, आरोपितों ने प्रीतम कौर के हिस्से की जमीन की रजिस्ट्री का बयाना सितंबर 18 को अपने नाम पर करवा लिया। इसकी शिकायत एसएसपी मोगा को दी गई और पुलिस ने मामले की पड़ताल करने के बाद आरोपित जगतार सिंह व जगदीप सिंह पर थाना बाघापुराना में धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया।

इसके बाद उसके पिता पूर्ण सिंह ने रजिस्ट्री तुड़वाने के लिए बाघापुराना की कोर्ट में केस फाइल कर दिया। इस बीच उसके पिता पूर्ण सिंह को अधरंग का अटैक आ गया और उन्हें उपचार के लिए मोगा के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां पर आरोपित जगतार सिंह आदि पहुंच गए और उसे घर से पैसे लेकर आने के लिए भेज दिया और उसके पिता पूर्ण सिंह को अपने साथ ले गए।

इसके बाद 18 जनवरी 2019 को गुरविंदर सिंह निवासी दयालपुरा मिर्जा का फोन आया कि उसके पिता पूर्ण सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। शिकायतकर्ता ने बताया कि उसके पिता की हत्या उक्त आरोपितों ने की है, चूकि उसके पिता पूर्ण सिंह ने जमीन को लेकर उनके खिलाफ कोर्ट में केस किया हुआ था। जिसकी रंजिश में यह हत्या की गई है। पुलिस ने मामले की पड़ताल करने के बाद आरोपितों पर मामला दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास शुरू कर दिए हैंं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.