नशा छुड़ाओ केंद्र में दवा न मिलने पर मरीजों का हंगामा

नशा छुड़ाओ केंद्र (ओट सेंटर) में अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे मुलाजिमों की हड़ताल के चलते मरीजों को दवा नहीं मिली।

JagranTue, 07 Dec 2021 02:35 AM (IST)
नशा छुड़ाओ केंद्र में दवा न मिलने पर मरीजों का हंगामा

जासं,बठिडा: मानसा रोड स्थित ग्रोथ सेंटर में बने सरकारी नशा छुड़ाओ केंद्र (ओट सेंटर) में अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे मुलाजिमों की हड़ताल के चलते मरीजों को दवा नहीं मिली। इससे गुस्साए मरीजों ने जमकर हंगामा किया। सेंटर मुलाजिमों ने गेट बंद किया तो बाहर खड़े सैकड़ों मरीजों ने हंगामा करते हुए गेट को तोड़ने की कोशिश भी की। इसके बाद गुस्साए मरीज गेट के ऊपर चढ़कर सेंटर के अंदर दाखिल हो गए।

सेंटर में नशा छोड़ने की दवा लेने के लिए पहुंचे मरीजों में गौरी शर्मा, पुष्कर व जगसीर ने कहा कि वह हर सप्ताह अस्पताल में नशा छोड़ने की दवा लेने के लिए आते हैं। सुबह करीब डेढ़ सौ लोग लाइन में दवा लेने का इंतजार कर रहे थे, लेकिन तभी अस्पताल के कर्मचारियों ने मुख्य गेट को बंद कर दिया। कहा कि पूरा स्टाफ हड़ताल पर है। इसलिए आज दवा नहीं दी जाएगी। मरीजों ने कहा कि वे दूर-दराज से दवा लेने पहुंचे हैं। सुबह से लाइन में लगे हैं। अब दवा नहीं दी जा रही। इसके बाद गुस्साए मरीजों व उनके स्वजनों ने हंगामा किया और दीवार फांद कर नशा मुक्ति केंद्र के अंदर चले गए। केंद्र के अंदर मौजूद कर्मियों के साथ युवाओं ने बहसबाजी की, जिसके बाद नशा मुक्ति केंद्र कर्मियों ने युवाओं को एक-एक गोली दवा की देकर उन्हें शांत किया। मरीज बोले, एक दिन भी दवा नहीं छोड़ सकते दवा लेने पहुंचे मरीजों ने बताया कि उन्हें रोजाना दवा लेनी होती है। एक दिन भी दवा नहीं लेते तो बहुत दिक्कत होती है। उनमें कई युवक ऐसे हैैं जिनको नशा छोड़ने के लिए भारी डोज दी जाती, लेकिन अगर ऐसे में उक्त युवकों को दवा न मिली तो उनको शारीरक नुकसान हो सकता है। ऐसे में जब उन्होंने गुस्सा जाहिर करते हुए केंद्र कर्मियों से बात की तब जाकर केंद्र कर्मियों ने सभी को दवा की एक-एक गोली दी। कर्मचारी बोले, ठेका कर्मियों की मांगें माने सरकार नशा मुक्ति केंद्र की कर्मचारी जसविदर कौर ने बताया कि उक्त केंद्र में ठेके पर भर्ती स्टाफ अपनी मांगें मनवाने के लिए हड़ताल पर है। उक्त केंद्र में नशा मुक्ति की दवा लेने वाले सैकड़ों लोग रोज की तरह आज भी आए थे, लेकिन केंद्र कर्मी हड़ताल पर थे। गुस्साए मरीज दीवार फांदकर केंद्र के अंदर दाखिल हो गए। हालांकि उन्हें दवा दे दी गई, लेकिन जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होतीं तब तक वे अपना संघर्ष जारी रखेंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.