एनएचएम कर्मियों की हड़ताल जारी

क्लैरिकल डाक्टर मेडिकल पैरामेडिकल के जिले में 400 के करीब कर्मचारियों की हड़ताल शुक्रवार को भी जारी रही।

JagranFri, 03 Dec 2021 08:15 PM (IST)
एनएचएम कर्मियों की हड़ताल जारी

जासं,बठिडा: पंजाब सेहत विभाग में राष्ट्रीय हेल्थ मिशन (एनएचएम) के अंतर्गत ठेका आधारित योजना पर काम करते आ रहे सीएचओ (कम्यूनिटी हेल्थ अफसर), एएनएम, (क्लैरिकल डाक्टर, मेडिकल, पैरामेडिकल) के जिले में 400 के करीब कर्मचारियों की हड़ताल शुक्रवार को भी जारी रही। शुक्रवार को सिविल अस्पताल परिसर में धरना दिया गया।

इस दौरान कोई भी कार्रवाई न होते देख एनएचएम कर्मचारियों ने सरकारी खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शन कर रहे एनएचएम कर्मचारी सुरिदर कौर, सूरज कौर, रंजीत कौर, मनप्रीत कौर, दविदर कौर, संदीप कौर, डा. बुटर, डा. कंग, हरजिदर कौर, हरविदर कौर, ममता धूपर, नरिदर कुमार, सचिन, अमन आदि ने कहा कि पंजाब मुख्यमंत्री चन्नी ने 11 नवंबर को विधानसभा में नया एक्ट के पास करते हुए 36,000 कच्चे मुलाजिमों को पक्का करने का एलान किया था परंतु दुख की बात है कि उन्हें पक्का नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सेहत विभाग पंजाब के एनएचएम कर्मचारियों को दा पंजाब प्रोटेक्शन एंड रेगुलराइजेशन ऑफ कांट्रेक्चुअल इंप्लाइज बिल 2021 के तहत रेगुलर करके सम्मान दे। नहीं तो यह संघर्ष रेगुलर होने तक जारी रहेगा।

रोडवेज कर्मियों ने बस स्टैंड पर दो घंटे लगाया जाम पीआरटीसी व पंजाब रोडवेज के कच्चे मुलाजिमों ने रेगुलर करने की मांग को लेकर दो घंटे बठिडा का बस स्टैंड जाम किया। मुलाजिमों ने बस स्टैंड के गेट पर धरना लगा दिया, जिस दौरान न तो किसी बस को बाहर आने दिया और न ही किसी भी बस को बाहर जाने दिया।

रोडवेज के मुलाजिमों ने जिस समय धरना लगाया था, उस समय सबसे ज्यादा नौकरीपेशा व विद्यार्थी अपने-अपने गंतव्य के लिए जाते हैं, लेकिन उनको कोई भी बस न मिलने के कारण वहां खड़े होकर धरना खत्म होने का इंतजार करना पड़ा। दूसरी तरफ दो घंटे के करीब बस स्टैंड जाम रहने के कारण 50 के करीब विभिन्न बसों के रूट प्रभावित हुए। वहीं मुख्य सड़क पर वाहनों के दोनों तरफ लाइनें लगने से शहरवासी भी जाम में परेशान होने लगे। हालांकि प्राइवेट बस आपरेटरों की ओर से अपनी बसों को बाहर से चलाया गया। इस कारण लोगों को भी काफी दूर तक अपना सामान उठाकर पैदल चलने के लिए मजबूर होना पड़ा। यूनियन के प्रधान संदीप सिंह ने बताया कि वह पिछले लंबे समय से पक्का करने की मांग को लेकर संघर्ष कर रहे हैं, लेकिन सरकार द्वारा हर बार उनको भरोसा दे दिया जाता है। उन्होंने ऐलान किया कि अगर सरकार ने उनकी मांगों को पूरा नहीं किया तो वह सात दिसंबर से पक्के तौर पर हड़ताल करेंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.