सरकारी लैब निजी हाथों में सौंपने का विरोध

मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नीशियन एसोसिएशन बठिडा की तरफ से सिविल अस्पताल में दो दिवसीय हड़ताल शुरू की गई।

JagranMon, 02 Aug 2021 10:15 PM (IST)
सरकारी लैब निजी हाथों में सौंपने का विरोध

जासं,बठिडा: सरकारी अस्पतालों की लेबोरटरियों को प्राइवेट हाथों में देने के विरोध में सोमवार को मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नीशियन एसोसिएशन बठिडा की तरफ से सिविल अस्पताल में दो दिवसीय हड़ताल शुरू की गई। एसोसिएशन के महासचिव हाकम सिंह के अगुआई में जिले के तमाम एमएलटी ने ब्लड बैंक के बाहर रोष धरना शुरू किया है। इस दौरान केवल इमरजेंसी केस छोड़कर अन्य किसी मरीज को सेहत सेवाएं नहीं दी गईं। कर्मियों की हड़ताल के चलते अस्पताल में उपचार के लिए पहुंचे मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

एसोसिएशन की रूपिदर कौर व अमनदीप कौर ने आरोप लगाया कि पंजाब सरकार भी केंद्र सरकार के नक्शे कदम पर चलते हुए सरकारी विभागों को प्राइवेट कंपनियों के हाथों सौंप रही है। प्राइवेट कंपनी अस्पतालों में आने वाले मरीजों से हर टेस्ट की मोटी फीस वसूलेगी। साथ ही एमएलटी लंबे समय से वेतन व भत्तों के साथ अस्थायी टैक्नीशियनों को पक्का करने की मांग कर रहे हैं, जिसे पूरा नहीं किया जा रहा। कोविड महामारी में की गई सेवाओं के बावजूद सरकार उन्हें नजरअंदाज कर रही है।

इस मौके पर दर्शन सिंह, गगनदीप सिंह, जसविदर शर्मा, कुलविदर सिंह, अशोक कुमार, बलदेव सिंह, किरनबाला, महकप्रीत कौर, वरूण कुमार, अशीश ग्रोवर, अमनदीप कौर, रूपिदर कौर, हरजिदर कौर, सुरिदर कौर, मनप्रीत कौर आदि उपस्थित थे।

पीआरटीसी व पंजाब रोडवेज मुलाजिमों ने की गेट रैली पंजाब रोडवेज व पनबस कांट्रेक्ट वर्कर यूनियन की ओर से सोमवार को बठिडा डिपो के गेट पर धरना लगाकर रोष रैली की गई। सरकार से मीटिग होने के बाद भी उनकी मांगों की तरफ ध्यान न दिए जाने के विरोध में उन्होंने प्रदर्शन किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.