कोरोना पर वार.. आज से टीकाकरण

कोरोना पर वार.. आज से टीकाकरण

कोरोना को हराने के लिए शनिवार से देशभर में सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू होने जा रहा है।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 06:46 AM (IST) Author: Jagran

नितिन सिगला, बठिडा

कोरोना को हराने के लिए शनिवार से देशभर में सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू होने जा रहा है। इस टीकाकरण अभियान का हर किसी शख्स को इंतजार था। शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह इस टीकाकरण अभियान की शुरूआत करेंगे। इसके बाद जिले में कोरोना का वैक्सीनेशन शुरू होगी। गत वीरवार शाम को कोवीशील्ड की 12 हजार 430 डोज सिविल अस्पताल बठिडा में पहुंच चुकी हैं। पहले चरण में जिले के 4359 सरकारी व 4798 प्राइवेट अस्पताल के यानि कुल 9157 डाक्टर व हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण किया जाएगा। कोविड वैक्सीन को लेकर फैले भ्रम को दूर करने के लिए शनिवार को एम्स बठिडा के डायरेक्टर डा. डीके सिंह सबसे पहले कोरोना वैकसीन का टीका लगवाएंगे, जबकि दूसरे नंबर जिला टीकाकरण अफसर डा. मीनाक्षी सिगला टीका लगवाएंगी। इसके बाद सूची के अनुसार रजिस्टर्ड फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा।

जिले में सुबह 11 बजे सिविल अस्पताल बठिडा, गोनियाना व तलवंडी साबो में करीब 300 हेल्थ वर्करों को वैक्सीन लगाई जाएगी। हालांकि, पहले शहर के तीन प्राइवेट अस्पताल मैक्स अस्पताल, आदेश अस्पताल व दिल्ली हार्ट अस्पताल में टीकाकरण की मुहिम शुरू करनी थी, लेकिन केंद्र सरकार की तरफ से शुक्रवार को जारी नई गाइडलाइन के अनुसार अभियान के पहले दिन की शुरूआत केवल सरकारी अस्पतालों से होगी। प्राइवेट अस्पताल में टीकाकरण शुरू करने की तारीख दोबारा तय की जाएगी। सिविल सर्जन डा. तेजवंत सिंह ढिल्लों ने बताया कि शनिवार को तीन सेंटरों में 300 हेल्थ वर्करों को वैक्सीन लगवाने का मेसेज उनके मोबाइल नंबर पर भेज दिया गया है। इसमें सभी वर्गों को शामिल किया गया है। पहले चरण में डाक्टर, नर्स, हेल्थ वर्कर, दर्जा चार सेहत कर्मी सहित सभी कैटागिरी को वैक्सीन लगाई जानी है। यह स्वैच्छा से लगने वाली वैक्सीन है। विभाग की तरफ से किसी भी अधिकारी या कर्मचारी पर दबाव नहीं डाला जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में हेल्थ केयर वर्करों ने अपनी जान जोखिम में डालकर लोगों की जान बचाई है, जो सभी के लिए प्रेरणा बने। अब उन्हें सबसे पहले वैक्सीन लगाई जा रही है। डा. ढिल्लो ने बताया कि जिले में 12 जगह वैक्सिनेशन सेंटर बनाए गए हैं। वैक्सिनेशन और मोनीटरिग के लिए अलग-अलग स्तर पर प्रशिक्षण दिया गया है। बाएं हाथ में लगाया जाएगा पहला टीका

सिविल सर्जन डा. तेजवंत सिंह ढिल्लो ने बताया कि कोरोना के दो टीके लगेंगे। पहला टीका बाएं हाथ में लगाया जाएगा, जबकि दूसरा टीका एक महीने बाद लगाया जाएगा। कोरोना वैक्सीन लगवाने वाले मरीजों को एसएमएस भेजकर जानकारी दी जाएगी। कोरोना का टीका लगने के बाद हर मरीज को 30 मिनट आब्जर्वेशन हाल में रहना ही होगा। किसी तरह के साइड इफेक्ट का पता इतने समय में चल जाएगा। इमरजेंसी के लिए एंबुलेंस भी रहेगी। उसके बाद भी अगर किसी को परेशानी आती है तो वह टोल फ्री नंबर 104 पर संपर्क कर सकता है। पहली डोज के तीन घंटे बाद आएगा दूसरी का मेसेज

सेहत विभाग की तरफ से सेंटरों के मुताबिक कोविड पोर्टल में दर्ज लागइन आइडी दे दी गई है। जिन लोगों की पोर्टल में सीरियल वाइज एंट्री हुई है, उन्हें शनिवार की अप्वाइंटमेंट फिक्स करके शुक्रवार शाम तक वैक्सीन लगवाने के लिए सेंटर की जानकारी और समय पर पहुंचने का मसेज भेज दिया गया है। लाभपात्री को पहली डोज लगने के चीन घंटे बाद अगली डोज लगवाने के लिए एसएमएस उसी दिन आएगा, जिस दिन उसे पहली डोज लगेगी। कोई लाभपात्री वैक्सीन लगवाने के मेसेज को दो बार इग्नोर करता है और सेंटर पर जाकर वैक्सीन नहीं लगवाता तो उसकी पोर्टल से एंट्री रद हो जाएगी। वैक्सीन लगवाने से पहले घर से कुछ खाकर आएं। फोटो आइडी प्रूफ साथ लेकर आएं। मोबाइल फोन पर आया मेसेज डिलीट न करें। वैक्सीनेशन सेंटर पर शनिवार सुबह 11 से शाम 5 बजे तक वैक्सीन लगाई जाएगी। वैक्सीन से पहले डाक्टर को यह बताना जरूरी

- किसी दवा, खाद्य पदार्थ आदि से आपको गंभीर एलर्जी तो नहीं है?

- आपको बुखार है। खून को पतला करने की कोई दवा ले रहे हैं अथवा आपको ब्लीडिग संबंधी बीमारी है?

- आपकी इम्युनिटी कमजोर है और आप इम्युनिटी सिस्टम को प्रभावित करने वाली कोई दवा तो नहीं ले रहे हैं?

- गर्भवती हैं अथवा प्रेग्नेंसी प्लान कर रही हैं? ब्रेस्ट फीडिग करा रही हैं?

- कोविड-19 से बचाव के लिए कोई टीका पहले लगवा चुके हैं? वैक्सीनेशन की जानकारी के लिए डायल करें 1075

टीका सिर्फ मांसपेशी पर लगेगा। आदर्श रूप से डेल्टाइड मांसपेशी में। टीके के कोर्स में 0.5 एमएल की दो खुराकें हैं। डोज लगवाने के बाद अगर सेहत बिगड़ती है तो डाक्टर को बताएं। वैक्सीन और वैक्सीनेशन से संबंधित जानकारी हेल्पलाइन नं. 1075 पर लें। डीप फ्रीजर में दो डिग्री तापमान में रखी गई वैक्सीन

वैक्सीन को सुरक्षित रखने के लिए जिले में आइएलआर (डीप-फ्रीजर) उपलब्ध है। इनमें कोरोना की वैक्सीन को रखा गया है। वैक्सीन की कोल्ड चेन बनाए रखने के पूरे इंतजाम किए गए हैं। सिविल सर्जन कोठी के पास बनी इमारत में वैक्सीन स्टोर करके रखी गई है। यहीं से शुक्रवार को वैक्सीन को तलवंडी, गोनियाना के अलावा बठिडा सैनिक छावनी को भेजी गई। एक वायल में पांच एमएम दवा, 10 लोगों को कवर करेगी

वैक्सीन में पहुंची वायल्स में पांच एमएल दवा है। एक लाभपात्री को एक बार में 0.5 एमएल डोज लगेगी। यानी एक वायल से करीब 10 लोगों को टीका लगेगा। वैक्सीन की एक वायल खुलने के बाद उसे दोबारा आइएलआर फ्रिज में नहीं रखा जाएगा। फिर उसे बाक्स में आइस पैक के साथ ही रखा जाएगा। जागरण अपील..

कोरोना का टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। सबसे अपील है कि भ्रम का वातावरण न बनाएं। सुनी-सुनाई बातों पर वैक्सीन के विरुद्ध भ्रम न फैलाएं। ऐसे प्रयासों से कोविड के विरुद्ध हमारी लड़ाई कमजोर होगी। हमें मिलकर यह लड़ाई लड़ना और जीतना है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.