लोगों से मिले बिना लौटे चन्नी, जताया विरोध

रामा मंडी में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की रैली खत्म होने के बाद जब कुछ लोग उनसे मिलना चाहते थे तो पुलिस ने उनको मिलने नहीं दिया

JagranWed, 08 Dec 2021 10:03 PM (IST)
लोगों से मिले बिना लौटे चन्नी, जताया विरोध

जागरण संवाददाता, बठिडा: रामा मंडी में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की रैली खत्म होने के बाद जब कुछ लोग उनसे मिलना चाहते थे तो पुलिस ने उनको मिलने नहीं दिया, जिस कारण उन्होंने विरोध जताया। वहीं ठेका मुलाजिम भी सीएम की रैली का विरोध करने के लिए बठिडा से रामा मंडी के लिए रवाना हुए, लेकिन उनको पुलिस ने गांव जज्जल के पास ही रोक कर स्कूल में बंद कर दिया।

दरअसल, रैली खत्म होने के बाद रामा मंडी व आसपास के गांवों के लोग अपनी विभिन्न प्रकार की समस्याओं को लेकर सीएम से मिलना चाहते थे, लेकिन सीएम भाषण खत्म होने के बाद लौट गए। इसके बाद लोगों ने विरोध किया तो वहां पर मौजूद कांग्रेस के यूथ प्रधान ने उनसे शिकायतें इकट्ठी कीं। वहीं बुजुर्ग माता अमरजीत कौर ने बताया कि उसका बिजली का बिल माफ नहीं हुआ तो कुछ लोगों ने खाल पक्के करने के लिए पैसे जमा करवाए जाने के बाद भी कोई कार्रवाई न होने की बात की। इसके अलावा गुरदीप कौर अपनी नौकरी के लिए सीएम से मिलने के लिए आई थी, लेकिन उसको भी मिलने नहीं दिया। वहीं शिदर कौर की सोसायटी के खाते में पैसे न आने की समस्या हल नहीं हुई। इसी प्रकार जसविदर कौर ने बताया कि वह बठिडा देहाती की कांग्रेस की महिला विग की प्रधान है। लेकिन इसके बाद भी उसको नहीं मिलने दिया।

पूर्व मंत्री हरमंदर जस्सी को सीएम के साथ नहीं मिली कुर्सी

सीएम चरणजीत सिंह चन्नी जब मंच पर पहुंचे तो उनके साथ ट्रांसपोर्ट मंत्री राजा वड़िंग, हलका तलवंडी साबो के इंचार्ज खुशबाज जटाना व पूर्व हरमंदर सिंह जस्सी भी मौजूद थे। सीएम को खुशबाज जटाना बाजू पकड़ कर कुर्सी तक ले गए। इसके बाद खुशबाज जटाना व राजा वड़िंग ने सीएम की दोनों बाजू ऊपर उठाकर लोगों का अभिवादन किया, लेकिन इस दौरान पूर्व मंत्री हरमंदर सिंह जस्सी को नहीं बुलाया गया। इसके बाद जस्सी जब सीएम के साथ वाली कुर्सी पर बैठने लगे तो वहां पर पहले कांग्रेस के यूथ प्रधान ने कब्जा कर लिया, जिसके बाद वह दूसरी तरफ बैठने लगे तो जटाना ने उनको आखिरी कुर्सी आफर की। जटाना ने तो जस्सी का मंच से नाम भी लिया, जबकि राजा वड़िंग व चन्नी ने अपने भाषण में उनका जिक्र जरूर किया। जब जटाना ने डीसी को रोका..

- खुशबाज जटाना जब मंच से सीएम चन्नी को अपनी मांगें बता रहे थे तो बठिडा के डीसी अरविद पाल सिंह संधू चन्नी के साथ कुछ बात करने लगे। मगर जटाना को यह बात रास नहीं आई तो उन्होंने डीसी को दो बार यह बोलकर टोक दिया कि डीसी साहिब आप कुछ देर के लिए रुक जाओ। फिर जटाना का भाषण खत्म होने के बाद डीसी ने सीएम से बात की। चन्नी ने माइक को बादलों से जोड़ा..

- मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी जब मंच से भाषण दे रहे थे तो बादलों की बात करते समय माइक से अचानक साउंड तेज हो जाता। इस पर चन्नी ने मजाक ने कहा कि बादलों का नाम सुनकर तो माइक भी बंद हो जाता है। जटाना को टिकेट देने की दे गए हवा

- सीएम चन्नी ने अपने भाषण के दौरान बताया कि वह पहले चमकौर साहिब से आजाद चुनाव लड़े थे, क्योंकि पहले उनको कांग्रेस से टिकट नहीं मिली थी। टिकट लेने के लिए काफी दौड़ लगानी पड़ती है, जिस प्रकार से अब जटाना लगा रहे हैं। वड़िंग से पुलिस वाले से पूछा-बादलों की बस बंद की कभी

- ट्रांसपोर्ट मंत्री राजा वड़िंग जब भाषण दे रहे थे तो उन्होंने एक पुलिस कर्मी से अपनी ड्यूटी की शपथ दिलाकर पूछा कि कभी बादलों की बस को बंद किया है, तो उसने जवाब न में दिया। इस पर राजा वड़िंग ने कहा कि कैप्टन ने भी कभी ऐसे नहीं किया था।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.