राजन गर्ग की फिटनेस का राज.. घर का खाना और सुबह की सैर

पूर्व मंत्री चिरंजी लाल गर्ग के बेटे व जिला योजना बोर्ड के चेयरमैन राजन गर्ग सिपल लिविग एंड हाई थिंकिग में विश्वास रखते हैं।

JagranWed, 15 Sep 2021 05:01 AM (IST)
राजन गर्ग की फिटनेस का राज.. घर का खाना और सुबह की सैर

गुरप्रेम लहरी बठिडा

पूर्व मंत्री चिरंजी लाल गर्ग के बेटे व जिला योजना बोर्ड के चेयरमैन राजन गर्ग 'सिपल लिविग एंड हाई थिंकिग' में विश्वास रखते हैं। ज्यादातर सफेद कुर्ते-पायजामे में दिखते हैं, लेकिन पेशे से वकील होने के नाते अदालत में केस लड़ने के समय जरूर पेंट-शर्ट पहनते हैं। खुद को फिट रखने के लिए सुबह जल्दी उठकर सैर करते हैं। परिवार के साथ समय बिताते हैं। इसके बाद सुबह आठ से रात आठ बजे तक दिनचर्या इतनी व्यस्त कि एक पल भी आराम नहीं करते। इसके बावजूद जो भी मिलता है, उससे मुस्कुराहट के साथ मिलते हैं।

एक साथ कई जिम्मेदारियां निभा रहे राजन गर्ग साल 2019 में सिविल लाइन क्लब के प्रधान चुने गए थे। साल 2013 में पीपीसीसी के प्रदेश सचिव बने। मौजूदा समय में वह पंजाब प्रदेश अग्रवाल सभा के सचिव, सनातन धर्म सभा महावीर दल के उपप्रधान, एमएसडी एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स के प्रधान और दाना मंडी रामबाग कमेटी के प्रधान की जिम्मेदारी भी निभा रहे हैं। वहीं साल 2008 में नगर निगम के पार्षद बने। इसके अलावा जिला बार एसोसिएशन के निर्विरोध प्रधान और शिअद के बठिडा शहरी के प्रधान रह चुके हैं। अमरिदर गिल व दिलजीत दोसांझ के पंजाबी गाने पसंद व्यस्त दिनचर्या के बावजूद राजन गर्ग परिवार के साथ फिल्में देखने के लिए समय निकाल ही लेते हैं। पंजाबी और हिदी फिल्मों का क्रेज इतना कि शायद ही कोई ऐसी फिल्म होगी जो उन्होंने न देखी हो। बॉलीवुड अभिनेताओं में सलमान खान और शाहरुख खान के फैन हैं, लेकिन कोई हीरोइन ऐसी नहीं, जिसके वह फैन बन सकें। वहीं पंजाबी फिल्मों में अमरिदर गिल व दिलजीत दोसांझ की फिल्में देखना पसंद करते हैं। पंजाबी गायक कंवर ग्रेवाल, शमशेर लहरी और बीरेंद्र ढिल्लों की सूफी गायकी उन्हें बेहद पसंद है। हिदी गाने सिर्फ मुकेश के ही सुनते हैं। अपने पसंदीदा गानों को वह पेन ड्राइव में सेव रखते हैं और सफर में अपने साथ ही लेकर चलते हैं। स बह सबसे पहले मां को प्रणाम, फिर पिताजी के साथ पीते हैं चाय राजन गर्ग को सुबह जल्दी उठने की आदत है। सुबह उठते ही मुंह धोकर सबसे पहले अपनी स्वर्गीय मां की तस्वीर के आगे प्रणाम करते हैं। इसके बाद वह दो कप चाय बनाते हैं। एक अपने लिए और दूसरी अपने पिता जी के लिए। चाय पीकर सैर पर निकल जाते हैं। 30 मिनट में सवा चार किलोमीटर सैर करते हैं। सैर के प्रति गंभीर इतने कि किसी का फोन नहीं उठाते और मन में हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं। माडल टाउन में बास्केटबाल कोर्ट, स्विमिंग पूल और क्रिकेट पिच बनवाई राजन गर्ग की शुरू से ही खेलों दिलचस्पी रही है। वह बास्केटबाल, स्विमिग, वेट लिफ्टिग, बैडमिटन और फुटबाल खेलते रहे हैं। फुटबाल में वह गोल कीपर के तौर पर खेलते थे। बैडमिटन में भी वह जोन स्तर पर जीतकर राज्य स्तर पर खेल चुके हैं। खेलों में रुचि के चलते ही उन्होंने माडल टाउन फेज एक में बास्केटबाल कोर्ट, स्विमिग पूल व क्रिकेट की दो पिच बनवाई।

अखबार पढ़कर खुद को रखते हैं अपडेट राजन गर्ग जिला योजना बोर्ड के चेयरमैन होने के साथ-साथ प्रोफेशनल एडवोकेट भी हैं। सुबह अखबार पढ़कर अपडेट होने के बाद वह अपनी वकालत के केसों पर काम करते हैं। साथ ही दिनभर के कार्यक्रम तय करते हैं। एक घंटा अपने चैंबर में लगाने के बाद जिला योजना बोर्ड के दफ्तर में चले जाते हैं। वहां पर लोगों को मिलने के बाद दिन भर के अन्य कामों में व्यस्त हो जाते हैं। बाहर का खाना नापसंद, गाड़ी में ही रखते हैं घर की बनी चपातियां राजन को बाहर का खाना पसंद नहीं है। वह सुबह घर से निकलते समय ही तीन चपातियों के रोल बना कर गाड़ी में रख लेते हैं और जब भी समय मिलता है, गाड़ी में ही खा लेते हैं। उनके सुबह के खाने में दो चपातियों के अलावा हरी चटनी व एक कटोरी दहीं ही रहता है। शिअद के पहले शहरी यूथ प्रधान बने पहले सभी राजनीतिक पार्टियों में एक ही जिला प्रधान होता था, लेकिन शिरोमणि अकाली दल की सरकार के समय राजन गर्ग को पहला जिला शहरी प्रधान नियुक्त किया गया। इसके बाद कांग्रेस व अन्य पार्टियों ने भी देहाती व शहरी क्षेत्रों के अलग-अलग प्रधान नियुक्त किए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.