आंगनबाड़ी वर्करों और हेल्परों ने फूंके पंजाब सरकार के पुतले

तलवंडी साबो के छह गांवों में पंजाब सरकार के पुतले जलाए गए।

JagranWed, 15 Sep 2021 10:02 PM (IST)
आंगनबाड़ी वर्करों और हेल्परों ने फूंके पंजाब सरकार के पुतले

संवाद सूत्र, तलवंडी साबो: आल पंजाब आंगनबाड़ी मुलाजिम यूनियन के प्रदेश प्रधान हरगोबिद कौर और प्रदेश कमेटी के आह्वान पर तीसरे दिन तलवंडी साबो के छह गांवों में पंजाब सरकार के पुतले जलाए गए।

ब्लाक तलवंडी साबो की प्रधान सतवंत कौर ने बताया कि गांव कोटबख्तू, जग्गा राम तीर्थ कलां, जीवन सिंह वाला, तलवंडी साबो, शेखपुरा, ज्ञाना आदि गांवों में पंजाब सरकार के पुतले जलाए गए। पंजाब सरकार की तरफ से उनकी लंबे समय से लटकती मांगों को पूरा नहीं किया जा रहा है। जत्थेबंदी की तरफ से दो अक्टूबर को चंडीगढ़ में प्रदेश स्तरीय रैली की जा रही है। इस मौके पर परमजीत कौर, जसविदर पाल कौर, जसवंत कौर, सुखविदर कौर, तेजिदर कौर, रानी कौर, राजदीप कौर, निर्मल कौर, जसवीर कौर, स्वर्णजीत कौर, परमजीत कौर, सुनीता, परमजीत आदि हाजिर थे। आंगनबाड़ी यूनियन ने फूंका पंजाब सरकार का पुतला आंगनबाड़ी वर्कर यूनियन ने अपनी मांगों को लेकर भीखी में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह का पुतला फूंका। ब्लाक प्रधान जसवंत कौर फरमाही ने कहा कि कैप्टन सरकार ने सत्ता में आने से पहले किया कोई भी वादा पूरा नहीं किया। उनकी मांगों को अनदेखा किया जा रहा है। उनका यह संघर्ष तब तक जारी रहेगा, जब तक पंजाब सरकार उनकी मांगे नहीं मान लेगी। शिक्षा सचिव का पुतला जलाकर जताया रोष अध्यापकों ने डीटीएफ के नेतृत्व में शिक्षा सचिव का पुतला फूंककर रोष प्रदर्शन किया।

यूनियन नेताओं जगपाल बंगी, रेशम सिंह, विकास गर्ग, नवचरनप्रीत, मक्खण सिंह, सिकंदर सिंह धालीवाल आदि ने बताया कि शिक्षा सचिव की ओर से लगातार शिक्षा विरोधी फैसले लिए जा रहे हैं जिससे अध्यापकों में भारी रोष है। इनमें निजीकरण को बढ़ावा दिया जा रहा है जबकि सरकारी स्कूलों को बंद करने के रास्ते साफ किए जा रहे हैं। आने वाले दिनों में संघर्ष को और तेज किया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.