बेइज्जती से आहत हो फंदा लगाने के मामले में केस दर्ज

बेइज्जती से आहत हो फंदा लगाने के मामले में केस दर्ज
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 10:23 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सूत्र, बरनाला : महिला द्वारा बेइज्जती करने से परेशान किशोर ने बुधवार को फंदा लिया। पुलिस ने मृतक के पिता के बयान पर महिला के खिलाफ केस दर्ज कर कानूनी कारवाई शुरू कर दी। सहायक थानेदार ज्ञान सिंह ने बताया कि हरबंस सिंह निवासी गोना पत्ती पक्खों कलां ने बयान दर्ज करवाया कि उसकी 17 वर्षीय लड़की अर्शदीप कौर व एक 15 वर्षीय लड़का सिकंदर सिंह है। दोनों लोंगपुरी के सेकेंडरी स्कूल पक्खोंकलां में पढ़ते हैं। 17 सितंबर को वह अर्शदीप कौर को साथ लेकर परीक्षा के बारे में पता करने के लिए स्कूल गया था तथा बेटा सिकंदर घर में अकेला था, जब आधे घंटे बाद वापस आया तो देखा कि सिकंदर पंखे से लटक रहा था। शोर मचाने पर मौके पर पहुंचने लोगों ने उसे नीचे उतारा, लेकिन उसकी मौत हो चुकी थी। उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले उसके चचेरे भाई बूटा सिंह निवासी पक्खों कलां की लड़की को हरप्रीत सिंह उर्फ गीती निवासी गांव चाउके जिला बठिडा बहला फुसला कर भगाकर ले गया था। हरप्रीत सिंह की वीरपाल कौर उर्फ कर्मजीत कौर निवासी माना पत्ती पक्खों कलां से जान पहचान व आपस में काफी आना जाना है। उसका लड़का सिकंदर सिंह व अमरीक उर्फ सोनू निवासी पक्खों कलां वीरपाल कौर उक्त के घर 20 सितंबर को पूछताछ करने के लिए गए थे तो आगे से वीरपाल कौर ने उनको अपशब्द बोले, गाली गलौच की व धमकियां दी। जिसके कारण सिकंदर सिंह के मन पर गहरा असर पड़ा। जिसने घर आकर उसको बताया कि वीरपाल कौर ने उनकी बहुत बेइज्जती की है, इससे बेहतर तो मर जाना अच्छा है। जिसको मैने बहुत समझाया लेकिन वीरपाल कौर की तरफ से की गई बेइज्जती सिकंदर के दिल में घर कर गई, जिसके कारण उसने घर में फंदा लगा लिया। पुलिस ने मृतक सिकंदर सिंह के पिता हरबंस सिंह के बयान पर वीरपाल कौर निवासी माना पत्ती पक्खों कलां के खिलाफ केस दर्ज करके आगे की कानूनी कारवाई शुरू कर दी है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.