बरनाला में किसान आज फूकेंगे भाजपा नेताओं के पुतले

संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा तीन कृषि कानूनों को रद करवाने व एमएसपी की गारंटी देने वाला नया कानून बनाने की मांग को लेकर रेलवे स्टेशन की पार्किंग में लगाया पक्का मोर्चा शुक्रवार को 380वें दिन भी जारी रहा।

JagranFri, 15 Oct 2021 11:24 PM (IST)
बरनाला में किसान आज फूकेंगे भाजपा नेताओं के पुतले

जागरण संवाददाता, बरनाला : संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा तीन कृषि कानूनों को रद करवाने व एमएसपी की गारंटी देने वाला नया कानून बनाने की मांग को लेकर रेलवे स्टेशन की पार्किंग में लगाया पक्का मोर्चा शुक्रवार को 380वें दिन भी जारी रहा। वक्ताओं ने बताया कि भाजपा सरकार जानबूझ कर किसान मोर्चे के हर फैसले व प्रोग्राम को धार्मिक रंगत देने की कोशिश करती है। सरकार ने पहले दिन से ही किसान को एक धर्म विशेष के लोगों का आंदोलन सिद्ध करने की कोशिश की है कितु यह पूरे देशवासियों का सांझा आंदोलन है। बलवंत सिंह उप्पली, करनैल सिंह, उजागर सिंह, बाबू सिंह, बलवंत सिंह, गुरनाम सिंह, हरचरण चन्ना, जसपाल चीमा, नछतर सिंह, जसपाल कौर, गुरजंट सिंह ने लखीमपुर घटना की निंदा की। संयुक्त किसान मोर्चा ने 18 अक्टूबर को पूरे देश में रेल रोकने के आह्वान को लागू करने का फैसला किया है। 18 अक्टूबर को सुबह 10 से शाम चार बजे तक रेल ट्रैक जाम किए जाएंगे। राजविदर सिंह मल्ली के कविश्री जत्थे ने कविश्री से समय बांधा। आज पक्के मोर्चे में शामिल होंगे डीटीएफ के कार्यकर्ता

डेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट इकाई दिड़बा की बैठक ब्लाक प्रधान रविदर सिंह की अगुआई में हुई। इसमें 16 अक्टूबर को मोरिडा में मुलाजिमों द्वारा लगाए जा रहे पक्के मोर्चे में शिरकत करने का एलान किया गया। राज्य संयुक्त सचिव दलजीत सिंह सफीपुर व ब्लाक सचिव गौरवजीत सिंह ने बताया कि पंजाब सरकार मुलाजिमों, पेंशनरों, बेरोजगारों से धोखा कर रही है। नेताओं ने कहा कि आने वाले समय में इकाई की मजबूती के लिए अध्यापकों को घरों में जाकर मिलेंगे। इस अवसर पर लखीमपुर में हुए किसान कत्लकांड के खिलाफ नारेबाजी करते हुए आरोपितों को सख्त सजा देने की मांग की गई। इस मौके पर प्रेस सचिव जसवीर सिंह, वित सचिव बेअंत सिंह, अमन सिहाल व सुखपाल सफीपुर आदि मौजूद थे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.