बरनाला में चन्नी का विरोध, पुलिस से धक्का-मुक्की

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को महल कलां बरनाला व तपा के दौरे दौरान बेरोजगार व कच्चे कर्मचारियों के रोष का सामना करना पड़ा।

JagranSun, 28 Nov 2021 05:59 AM (IST)
बरनाला में चन्नी का विरोध, पुलिस से धक्का-मुक्की

जागरण टीम, बरनाला

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को महल कलां, बरनाला व तपा के दौरे दौरान बेरोजगार व कच्चे कर्मचारियों के रोष का सामना करना पड़ा। एनएचएम के अधीन कार्यरत कच्चे मुलाजिमों, आंगनबाड़ी वर्करों, कोरोना वारियर्स व पंजाब राज्य बिजली बोर्ड ज्वाइंट एक्शन कमेटी के मुलाजिमों ने यहां के मैरी लैंड रिजोर्ट के नजदीक नेशनल हाईवे जाम करके पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। कच्चे मुलाजिमों व पुलिस के बीच धक्का-मुक्की भी हुई। कई मुलाजिमों की पगड़ियां उतर गई। पुलिस ने कई मुलाजिमों को सड़कों पर घसीटा व बसों में डालकर प्रोग्राम स्थल से दूर ले गए।

पावरकाम के कच्चे कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री के काफिले को घेरने की कोशिश भी की। पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। एसपी हरबंत कौर व डीएसपी कुलदीप सिंह की अगुआई में पुलिस पार्टी ने रोष प्रदर्शन कर रहे मुलाजिमों को समागम स्थल की तरफ जाने से रोके रखा। डिप्टी कमिश्नर कुमार सौरभ राज, एडीसी अमित बैंबी ने मौके पर पहुंचकर प्रदर्शन कर रहे मुलाजिमों से बातचीत की व उनकी बैठक मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से करवाने का आश्वासन दिलाया। यूनियन के पांच सदस्यों की सीएम से बैठक करवाने बाबत कहा। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने रोड के एकतरफ बैठकर रोष-प्रदर्शन जारी रखा।

एनएचएम इंप्लाइज यूनियन के जिला नेता कमलजीत कौर पत्ती, सीएचओ संदीप कौर, हरजीत सिंह, विपन कुमार, डा. चेतनजीत, डा. कुलजीत सिंह, नवदीप सिंह, सुखपाल सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी जहां भी जाएंगे वह उनका विरोध करेंगे। चन्नी सरकार 36 हजार कच्चे मुलाजिमों को पक्का करने का महज ड्रामा कर रही है। बेरोजगार व कच्चे कर्मचारी रेगुलर करने की मांग को लेकर सड़कों पर संघर्ष कर रहे हैं कितु उन्हें पक्का रोजगार देने की बजाए पुलिस की लाठियां मिल रही हैं। --------------------

तपा में टंकी पर चढ़ा बेरोजगार शिक्षक तपा मंडी (बरनाला) : मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के आगमन को लेकर जहां प्रशासन द्वारा पुख्ता प्रबंध किए गए थे वहीं समागम वाली जगह के नजदीक बनी पानी की टंकी पर कच्चे अध्यापक यूनियन का एक अध्यापक पेट्रोल की बोतल लेकर टंकी पर चढ़ गया। प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। यूनियन के अन्य साथियों ने टंकी के नीचे ही गेट के समक्ष धरना लगा दिया। प्रशासनिक अधिकारी उक्त व्यक्ति को टंकी से उतारने के लिए यूनियन के नेताओं को समझाते रहे। अध्यापक यूनियन के पंजाब कमेटी के सदस्य कर्मजीत सिंह ने बताया कि 2016 से सरकार उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दे रही। अब मुख्यमंत्री चन्नी द्वारा उनको पक्का करने का जो वादा किया था, उसे अमलीजामा नहीं पहनाया गया। उन्होंने बताया कि जिला मानसा से संबंधित अध्यापक सुखचैन सिंह पेट्रोल की बोतल लेकर चढ़ा है। जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं की जाएंगी संघर्ष इसी तरह जारी रहेगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.