आज बस, ट्रेनें और दुकानें रहेंगी बंद, सिर्फ जरूरी सेवाएं मिलेंगी

आज बस, ट्रेनें और दुकानें रहेंगी बंद, सिर्फ जरूरी सेवाएं मिलेंगी
Publish Date:Fri, 25 Sep 2020 12:57 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, अमृतसर: केंद्र सरकार की ओर से लोकसभा व राज्यसभा में लाए गए तीन कृषि विधेयकों व बिजली एक्ट-2020 संशोधित के विरोध में किसानों ने शुक्रवार को पंजाब बंद की घोषणा की है। इसके तहत 25 सितंबर को बसों और ट्रेनों का चक्का पूरी तरह से जाम रहेगा। साथ ही लगभग सभी मार्केट एसोसिएशनों ने बंद को समर्थन देते हुए दुकानें बंद रखने का फैसला किया है। केवल जरूरी सेवाएं (मेडिकल, दूध की सप्लाई और डाक्टरों के क्लीनिक व अस्पताल खुले रहेंगे) जारी रहेंगी। इसके अलावा किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पुलिस ने पुख्ता प्रबंध कर लिए हैं। डीसीपी ने जिले में हथियार लेकर चलने पर पाबंदी लगा दी है।

शुक्रवार को बंद के चलते अमृतसर के भंडारी पुल पर किसानों की ओर से विशाल रोष रैली की जा रही है। अलग-अलग स्थानों से किसानों की ओर से जत्थे निकाल कर रोष मार्च किए जाएंगे। ऑल इंडिया किसान सभा, पंजाब किसान सभा, जम्हूरी किसान सभा, किरती किसान यूनियन, आजाद किसान संघर्ष कमेटी, किसान संघर्ष कमेटी बुढ्ढा कोट, भारतीय किसान यूनियन राजेवाल ग्रुप, पंजाब किसान सभा लिब्रेशन की ओर से अमृतसर में मुख्य रैली भंडारी पुल पर आयोजित की जाएगी। बाद दोपहर 12 बजे से शाम तीन बजे तक रैली आयोजित होगी। इससे पहले किसानों के अलग-अलग जत्थों की ओर से भंगतावाला आनाज मंडी, वल्ला सब्जी मंडी, शहर के अलग-अलग व्यापारिक क्षेत्रों और बाजारों में रोष मार्च आयोजित किए जाएंगे। इसके साथ ही किसानों की ओर से अजनाला, मजीठा, रइया आदि में भी विशाल किसान रोष रैलियों का आयोजन किया जा रहा है। बंद को विभिन्न संगठनों का समर्थन

किसान नेताओं लखबीर सिंह निजामपुरा, रत्न सिंह रंधावा, जतिदर सिंह छीना, बलविदर सिंह दुधाला ने बताया कि भंडारी पुल पर आयोजित की जाने वाली रैली में वकीलों, ट्रेड यूनियन संगठनों, विद्यार्थी संगठनों, युवाओं के संगठनों, मजदूरों की जत्थेबंदियों, अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन, सब्जी मंडी आढ़ती एसोसिएशन, व्यापार मंडल, मार्केट एसोसिएशनों की ओर से समर्थन किया गया है। उनकी रैली में इस संगठनों के कार्यकर्ता भी पहुंचेंगे। लोग अपने कारोबार बंद रख कर शामिल होंगे। तीन दिन चलेगा रेल रोको आंदोलन

किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के नेता सतनाम सिंह पन्नू ने कहा कि भारतीय किसान यूनियन उग्राहां ग्रुप के साथ मिल कर राज्य भर के गांवों व कस्बों तथा शहरी इलाकों में रोष मार्च निकाल कर कारोबार को बंद करवाया जाएगा। 24 से 26 सितंबर को रेल रोको अभियान शुरू किया गया है। उसे तीनों दिन पूरी सफलता से चलाया जाएगा। उनको अलग-अलग धार्मिक व राजनीतिक तथा सामाजिक संगठनों की ओर से समर्थन दिया जा रहा है। जिले में तीन हजार पुलिस कर्मचारी तैनात

जिला पुलिस प्रशासन ने जिले भर में तीन हजार के करीब पुलिस व सुरक्षा कर्मी तैनात कर दिए हैं। अमृतसर शहरी इलाके में 21 के करीब गजेटिड पुलिस अधिकारियों को फील्ड में तैनात कर दिया गया है। डीसीपी जगमोहन सिंह ने कहा कि किसानों के पंजाब बंद और जिले में हाई सुरक्षा अलर्ट किया गया है। पुलिस अधिकारियों की सख्त ड्यूटियां लगा दी गई हैं। 24 से 26 सितंबर तक किसी भी तरह के हथियार लेकर चलते पर पूर्ण पाबंदी लगा दी गई है। तोड़फोड़ करने वालों व हालातों को खराब करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जीएनडीयू में जारी रहेगी फाइनल ईयर की परीक्षा

पंजाब बंद के दौरान गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी (जीएनडीयू): की ओर से ली जा रही फाइनल ईयर की परीक्षा शुक्रवार को जारी रहेगी। हालांकि एग्जाम पूर तरह से ऑनलाइन ही होने हैं। जीएनडीयू के प्रो. मनोज कुमार ने बताया कि परीक्षा टालने संबंधी कोई फैसला नहीं लिया गया है। तय शेड्यूल के मुताबिक ही परीक्षा होगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.