पाइटेक्स में ईरान, थाइलैंड, अफगानिस्तान, मिस्त्र और तुर्की से पहुंचेंगे व्यापारी

डिप्टी कमिश्नर गुरप्रीत सिंह खैहरा ने कहा कि पीएचडी चैंबर आफ कामर्स इंडस्ट्री की ओर से पंजाब सरकार के सहयोग से करवाए जा रहे पंजाब इंटरनेशनल ट्रेड एक्सपो (पाइटेक्स) के माध्यम से जहां कई देशों में उद्योग संबंध मजबूत होंगे

JagranWed, 01 Dec 2021 11:26 PM (IST)
पाइटेक्स में ईरान, थाइलैंड, अफगानिस्तान, मिस्त्र और तुर्की से पहुंचेंगे व्यापारी

जागरण संवाददाता, अमृतसर : डिप्टी कमिश्नर गुरप्रीत सिंह खैहरा ने कहा कि पीएचडी चैंबर आफ कामर्स इंडस्ट्री की ओर से पंजाब सरकार के सहयोग से करवाए जा रहे पंजाब इंटरनेशनल ट्रेड एक्सपो (पाइटेक्स) के माध्यम से जहां कई देशों में उद्योग संबंध मजबूत होंगे, वहीं उद्योग जगत के क्षेत्र में अमृतसर का ग्राफ भी बढ़ेगा। 14 सालों से पाइटेक्स ने पंजाब ही नही बल्कि विदेशों में भी अपनी विलक्षण पहचान बनाई है। उन्होंने कहा कि वीरवार से शुरू होने वाला यह मेला छह दिसंबर तक चलेगा। इस मेले का शुभारंभ वीरवार को उप मुख्यमंत्री ओम प्रकाश सोनी, उद्योग मंत्री गुरकीरत सिंह कोटली करेंगे। पाइटेक्स मेले में इस बार का थीम टूरिज्म होगा। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वह मेले में कोरोना की हिदायतों का पालन करते हुए हिस्सा लें। उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी छह दिसंबर को आएंगे।

पीएचडी चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के पंजाब चैप्टर के चेयर आरएस सचदेवा ने बताया कि इस बार डेढ़ साल के बाद यह मेला लगाया जा रहा है। कोरोना के कारण यह देरी हुई है। उन्होंने कहा कि कई फ्लाइटें बंद होने के बावजूद भी इस मेले में पांच देश हिस्सा ले रहे हैं। इसमें ईरान, थाइलैंड, अफगानिस्तान, मिस्त्र और तुर्की के अलावा जम्मू, कश्मीर, वेस्ट बंगाल, गुजरात, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा आदि राज्यों से भी व्यापारी इस मेले में पहुंच रहे हैं। इस बार सबसे अधिक 450 के करीब स्टाल होंगे। इसके लिए आठ हैंगर हाल है, जोकि पूरी तरह से फुल हैं।

उन्होंने कहा कि इस आयोजन में राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर के उद्योगों के अलावा पंजाब सरकार के अदारे मार्कफेड, पंजाब टूरिज्म, पंजाब एग्रो इंडस्ट्री कारपोरेशन, पंजाब स्टेट कार्पोटिव मिल्क फेडरेशन, पेडा, अमृतसर डवलपमेंट अथारटी, पंजाब स्माल इंडस्ट्री एंड एक्सपर्ट कारपोरेशन, पंजाब सहकारी बैंक, पनसप, पंजाब स्टेट वेयर हाउसिग कार्पोरेशन, मंडी बोर्ड भी हिस्सा ले रहे है।

पीएचडी चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री पंजाब चैप्टर के को-चेयर करण गिल्होत्रा ने बताया कि पाइटेक्स में तीन दिसंबर को एमएसएमई को उत्साहित करने के लिए सेमिनार का आयोजन किया जा रहा है। पीएचडी चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के स्थानीय आयोजक जयदीप सिंह ने बताया कि पाइटेक्स शुरू होने से पहले स्टाल बुक हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि साल 2005 में जब अमृतसर में पाइटेक्स की शुरुआत की गई थी तो वहां करीब 150 कारोबारियों ने हिस्सा लिया और 50 हजार लोगों ने यहां का दौरा किया था। पिछली बार यहां करीब तीन लाख लोग पहुंचे थे। इस बार डेढ़ साल के बाद यह मेला लग रहा है तो लोगों में काफी उत्साह है और उम्मीद है कि इस बार यह संख्या इस बार साढ़े तीन लाख मेले में पहुंच सकते है।

पंजाब अपने स्तर पर बनाए कन्वेंशन सेंटर : सचदेवा

पीएचडी चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के पंजाब चैप्टर के चेयर आरएस सचदेवा ने पंजाब सरकार से अपील की है कि एयरपोर्ट रोड पर कन्वेंशन सेंटर बनाया जाना है। इसे पीपीपी मोड की बजाय अपने खर्चे पर पंजाब सरकार इसका निर्माण करवाएं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी जब आएंगे तो उनसे अपील करेंगे कि इसका नींवपत्थर रखकर इसका काम शुरु करवाया जाए।

मेले में मास्क पहन कर पहुंचे लोग : करन गिल्होत्रा

पीएचडी चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री की ओर से आयोजित किए जा रहे 15वें पाइटेक्स में प्रबंधकों की ओर से कोरोना से बचाव संबंधी हिदायतों का पालन करने के लिए विशेष प्रबंध किए गए है। पीएचडी चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के पंजाब चैप्टर के चेयरमैन आरएस सचदेवा और उप चेयरमैन करन गिल्होत्रा ने बताया कि यहां सभी एंट्री गेटों पर थर्मल स्कैनिग का प्रबंध किया गया है। इसके अलावा बनाए गए सभी हैंगरों के बाहर सैनिटाइजर का प्रबंध भी किया गया है। इतना ही नहीं पहले जहां सभी हैंगर आपस में जुड़े होते थे, लेकिन इस बार अलग-अलग कर दिया गया है। इसके अलावा पाइटेक्स में किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए फ‌र्स्ट एड काउंटर भी स्थापित किए गए है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.