छह बीपीईओज के कंधों पर 15 एजुकेशन ब्लॉक का बोझ

छह बीपीईओज के कंधों पर 15 एजुकेशन ब्लॉक का बोझ
Publish Date:Fri, 25 Sep 2020 12:31 AM (IST) Author: Jagran

अखिलेश सिंह यादव, अमृतसर

ब्लाक प्राइमरी एजुकेशन ऑफिसर (बीपीईओज) की कमी से जिला अमृतसर जूझ रहा है। शिक्षा विभाग ने जिले में बनाए 15 एजुकेशन ब्लॉक का सारा काम छह अधिकारियों पर सौंप कर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया है।

उधर, बीपीईओ ऑफिसर एसोसिएशन ने शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार को काम के बोझ का हवाला देते हुए विभाग द्वारा उनसे भेदभाव की नीति बरतने का आरोप लगाते हुए पत्र लिख दिया है। पत्र में लिखा गया है कि बीपीईओ को वेतन के मसले पर भी न्याय नहीं मिल रहा।

ब्लाक प्राइमरी एजुकेशन ऑफिसर एसोसिएशन के अध्यक्ष हरमिदर सिंह बराड़ व चंद्र प्रकाश शर्मा ने बताया कि बीपीईओज की ग्रेड पे मास्टर व लेक्चरर कैडर से कम है। लेकिन एक बीपीईओ पर कम से कम 60 स्कूलों से अधिक का काम होता है। उनकी ग्रेड पे 5400 की जाए। साथ ही बीपीईओज के लंबे अनुभव को देखते हुए डीईओ व डिप्टी डीईओ पोस्ट पर तरक्की की जाए। पंजाब भर में 228 पद मंजूर हैं। लेकिन अधिकतर पद रिक्त हैं। बीपीईओज को एक से अधिक ब्लाकों का काम करना पड़ रहा है। दफ्तरी काम का बोझ भी बीपीईओज पर रहता है। नवनियुक्त बीपीईओज का प्रोबेशन पीरियड दो साल किया जाए। पता चला है कि डीईओज अपनी रंजिश निकालने के लिए बीपीईओ को कारण बताओ नोटिस जारी कर रहे हैं। ऐसी गतिविधियों पर अंकुश लगाया जाए।

किसके पास कितने ब्लॉक की जिम्मेदारी

अमृतसर में 15 ब्लॉक हैं। उनमें छह बीपीईओज कार्यरत हैं। सबसे अधिक बोझ वेरका ब्लॉक के बीपीईओ यशपाल के कंधों पर हैं। उन्हें चार ब्लॉक का कामकाज देखना पड़ रहा है। यशपाल के पास वेरका ब्लॉक के साथ मजीठा-2, अमृतसर 1, तरसिक्का भी है। बीपीईओ चंद्र प्रकाश मजीठा-1 ब्लॉक व अमृतसर-2 ब्लाक, गुरमीत कौर जंडियाला व रइया, अरुणा मैडम अमृतसर-3 व चुगावां-1, गुरदेव सिंह अजनाला-1 व अजनाला-2 तथा रविदरजीत कौर चुगावां-2 व अमृतसर-4 का कामकाज देख रही हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.