अमृतसर में भी आज से नाइट क‌र्फ्यू

अमृतसर में भी आज से नाइट क‌र्फ्यू

कोरोना वायरस की दूसरी लहर की आशंका के चलते एक दिसंबर से फिर से नाइट क‌र्फ्यू लागू कर दिया गया है।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 10:56 PM (IST) Author: Jagran

नितिन धीमान, अमृतसर

जागरण संवाददाता, अमृतसर: कोरोना वायरस की दूसरी लहर की आशंका के चलते एक दिसंबर से फिर से नाइट क‌र्फ्यू लागू कर दिया गया है। एक दिसंबर से रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक लोगों के बाहर निकलने पर पाबंदी रहेगी। सोमवार को अमृतसर से डीसी गुरप्रीत सिंह खेहरा और तरनतारन के डीसी कुलवंत सिंह ने इस संबंधी आदेश जारी किए। साथ ही कहा कि होटल, रेस्टोरेंट और मेरिज पैलेस रात 9:30 बजे तक ही खुले रहेंगे। उन्होंने साफ कहा कि सभी आदेश सख्ती से लागू किए जाएंगे। इसके अलावा मास्क पहनने और शारीरिक दूरी के नियम का उल्लंघन करने पर जुर्माना 500 से बढ़ाकर एक हजार रुपये कर दिया गया है। नवंबर में 47 संक्रमितों की जान गई, 1243 पाजिटिव हुए नवंबर माह चला गया। कोरोना वायरस ने इस महीने भी काफी आक्रामकता दिखाई। तीस दिन में 47 संक्रमितों की जिदगी चली गई, वहीं 1243 नए पाजिटिवरिपोर्ट हुए। दूसरी लहर की ओर बढ़ रहा कोरोना वायरस सोमवार को किसी की जिदगी तो नहीं निगल सका, पर 51 लोगों को संक्रमण का दर्द दे गया। कोरोना पाजिटिवों की बढ़ती रफ्तार से यह संभावित है कि जल्द ही कोरोना की दूसरी लहर दस्तक दे जाए। इस ओर न जाएं, इसके लिए लोगों को धैर्य और संयम रखना होगा। मास्क पहनने के साथ—साथ शारीरिक दूरी का पालन करें।

नवंबर माह में ही 1223 लोगों को कोरोना ने संक्रमित बनाया, जबकि इन्हीं तीस दिन में 45 संक्रमित लोगों की जान चली गई। मौतों का यह आंकड़ा अक्टूबर माह से कम है। कोरोना का सर्वाधिक प्रकोप सितंबर माह में रहा। इस एक महीने में 5939 केस रिपोर्ट हुए, जबकि सर्वाधिक 203 मौतें हुईं। अक्टूबर में कोरोना कुछ कम हुआ। वहीं नवंबर में इसकी रफ्तार में और कमी दर्ज की गई, लेकिन दिसंबर माह में इसकी दूसरी लहर का खतरा संभावित है। दूसरी लहर की तैयारी, अलर्ट पर अस्पताल

जिले के सरकारी अस्पतालों में कोरोना मरीजों की संख्या बेशक अब नगण्य है, लेकिन दूसरी लहर को देखते हुए प्रभावी रूपरेखा तय की गई है। गुरु नानक देव अस्पताल में 12 आइसोलेशन वा‌र्ड्स कोरोना काल में बनाए गए थे। इन वार्डों में अब मरीजों की संख्या 50 से कम है, लेकिन इन वार्डों को यथावत ही रखने को कहा गया है। वहीं अस्पताल में 115 वेंटिलेटर्स इंस्टाल किए जा चुके हैं। चिकित्सा अमले को पूरी तरह तैयार रहने को कहा गया है। इससे साफ है कि कोरोना की दूसरी लहर आ सकती है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.