कैप्टन के आने से बदले सियासी समीकरण: सोनी, औजला, वेरका को थापी, सिद्धू-डैनी रहे नदारद

कैप्टन की अमृतसर की दो दिवसीय फेरी के पहले दिन रहे कार्यक्रमों में सिद्धू नदारद रहे।

JagranSun, 15 Aug 2021 07:30 AM (IST)
कैप्टन के आने से बदले सियासी समीकरण: सोनी, औजला, वेरका को थापी, सिद्धू-डैनी रहे नदारद

विपिन कुमार राणा, अमृतसर : मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह और पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीपीसीसी) के प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू के बीच चल रहा सियासी द्वंद्व खत्म होता दिखाई नहीं दे रहा है। यही वजह रही कि कैप्टन की अमृतसर की दो दिवसीय फेरी के पहले दिन रहे कार्यक्रमों में सिद्धू नदारद रहे। सिद्धू की कर्मभूमि अमृतसर में कैप्टन ने अपनी ताकत दिखाते हुए सभी विधायकों को एक मंच पर लाने का काम किया। कैप्टन के साथ पूर्व में जो जलवा कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिदर सिंह बाजवा और सुखबिदर सिंह सुखसरकारिया का हुआ करता था, इस बार वह दिखाई नहीं दिया। सोनी और औजला के घर जाकर कैप्टन ने जहां उन्हें ताकत दी, वहीं रविवार को वह वेरका के घर जाएंगे।

गुरु नानक देव विश्वविद्यालय में रखे कार्यक्रम में माझा एक्सप्रेस के रूप में जानी जाती तिकड़ी में से दो धुरंधर कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिदर सिंह बाजवा और सुखबिदर सिंह सुखसरकारिया पहुंचे जरूर, पर कैप्टन के खासमखास होने की वजह से पहले जो जलवा इनका होता था, अब वैसा दिखाई नहीं दिया। मंच पर इनकी हलकी फुलकी गुफ्तगू के अलावा कोई गर्मजोशी वाला आलम नहीं रहा। कैप्टन-सिद्धू विवाद में यह तिकड़ी सिद्धू के साथ खड़ी हुई थी, यही वजह रही कि अपनी गुरुनगरी फेरी में कैप्टन की नई टीम साफ तौर पर दिखाई दे रही थी। इसमें प्रमुख रूप से मोर्चा संभालने वालों में कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश सोनी, सांसद गुरजीत सिंह औजला और विधायक कैबिनेट रैंक डा राजकुमार वेरका हरदम उनके साथ दिखाई दिए। सिद्धू खेमे में नजर आए विधायक सुनील दत्ती कैप्टन के हर कार्यक्रम में दिखाई दिए। पीपीसीसी के कार्यकारी प्रधान व विधायक सुखविदर सिंह डैनी भी कार्यक्रमों से गैरहाजिर रहे। अमृतसर देहाती के तमाम विधायक हरप्रताप सिंह अजनाला, तरसेम सिंह डीसी, संतोख सिंह भलाईपुर जहां समारोह में पहुंचे, वहीं तरनतारन के विधायक हरमिदर गिल, नवनियुक्त चेयरमैन अश्वनी सेखड़ी भी कार्यक्रम में पहुंचे और कैप्टन के साथ कदमताल मिलाई। बुलारिया के सामने कैप्टन ने थामा ठेकेदार का हाथ

सिद्धू खेमे के खास विधायक व मुख्यमंत्री के पूर्व सियासी सलाहकार रहे इंद्रबीर सिंह बुलारिया अमृत आनंद पार्क में हुए समारोह में पहुंचे तो जरूर, पर वह पीछे ही रहे। कैप्टन की आमद पर जब सभी नेता उनके साथ उद्घाटन करने पहुंचे, तब भी बुलारिया मंच पर ही बैठे रहे। मामले में ट्विस्ट तब आया जब बुलारिया के हलके से बैकफिको के चेयरमैन व पूर्व विधायक हरजिदर सिंह ठेकेदार का हाथ पकड़कर कैप्टन कार्यक्रम में चलते दिखाई दिए। ठेकेदार बुलारिया के ही हलके से इस बार टिकट के दावेदार है और कैप्टन के खास हैं। देहाती प्रधान पहुंचे, शहरी गायब रहे

कैप्टन और सिद्धू विवाद में कांग्रेस खेमों में बंटी हुई है। यही वजह रही कि कैप्टन के कार्यक्रमों में अमृतसर देहाती प्रधान भगवंत पाल सिंह सच्चर पहुंचे, पर शहरी प्रधान जतिदर सोनिया कार्यक्रमों से दूर रही। हालांकि शताब्दी यादगार समारोह में मंच से उनके आने की घोषणा होती रही, पर वह कहीं दिखाई नहीं दी। दूसरी तरफ शहर में कैप्टन की आमद पर लगे होर्डिग कुछेक नेताओं ने ही लगवाए, जो साफ तौर पर दिखाई दे रहे थे। सिद्धू विरोधी खेमे ने शहर में कैप्टन के स्वागत के बोर्ड तो लगवाए, पर उसमें सिद्धू की फोटो गायब रही। सिद्धू समर्थकों ने शहर में एक भी बोर्ड कैप्टन के स्वागत में नहीं लगाया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.