मायके से नहीं आ रही थी पत्नी, पति ने फंदा लगा दी जान

थाना डी डिवीजन के अधीन पड़ते गेट खजाना के पास रहने वाले संदीप शर्मा उर्फ दीपू ने वीरवार की देर रात फंदा लगाकार आत्महत्या कर ली।

JagranPublish:Fri, 12 Nov 2021 07:06 PM (IST) Updated:Fri, 12 Nov 2021 07:06 PM (IST)
मायके से नहीं आ रही थी पत्नी, पति ने फंदा लगा दी जान
मायके से नहीं आ रही थी पत्नी, पति ने फंदा लगा दी जान

जासं, अमृतसर: थाना डी डिवीजन के अधीन पड़ते गेट खजाना के पास रहने वाले संदीप शर्मा उर्फ दीपू ने वीरवार की देर रात फंदा लगाकार आत्महत्या कर ली। आरोप है कि वह अपनी पत्नी के रवैये से पिछले कुछ दिनों से काफी परेशान था। फिलहाल पुलिस ने मजीठा रोड स्थित रामबली चौक निवासी सुरिदरपाल की बेटी नीरू के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में केस दर्ज कर लिया है। सब इंस्पेक्टर बलदेव सिंह ने बताया कि मामले की जांच करवाई जा रही है। आरोपित नीरू की गिरफ्तारी के लिए छापामारी की जा रही है।

खजाना गेट स्थित गली धोबियां वाली निवासी निशा पत्नी राकेश कुमार ने बताया कि उसके भाई संदीप शर्मा उर्फ बबलू की लगभग 12 साल पहले नीरू के साथ शादी हुई थी। नीरू ने तीन बच्चों को जन्म दिया। संदीप पिछले कई सालों से शराब के ठेके पर नौकरी करके परिवार का गुजारा चला रहा था लेकिन नीरू की बढ़ती जरूरतें पति के वेतन से पूरी नहीं हो पा रही थीं। इस कारण घर में झगड़ा रहने लगा। नीरू को कई बार परिवार के सदस्यों ने झगड़ा नहीं करने की सलाह दी थी। पर वह हर बार विवाद करके मायके घर चली जाती थी। कुछ समय पहले नीरू तीनों बच्चों के साथ पिता के घर रहने चली गई और लौटकर नहीं आई। संदीप ने कई बार उसे बच्चों सहित घर लौटने की गुहार लगाई। इस कारण संदीप लगातार मानसिक तनाव में जा रहा था। वीरवार को भी संदीप और नीरू के बीच फोन पर ही झगड़ा हुआ था। नीरू ने संदीप को भला-बुरा कहा। इसके बाद संदीप ने घर में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।