अगवा कर नकदी लूटी, नंगा कर पीटा, पांच दिन बाद अस्पताल में मौत

सुंदर नगर जज नगर के रहने वाले 18 वर्षीय राहुल कुमार का कुछ युवकों ने अपहरण करने के बाद लूटपाट और फिर नंगा करके मारपीट की।

JagranPublish:Sat, 04 Dec 2021 02:00 AM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 02:00 AM (IST)
अगवा कर नकदी लूटी, नंगा कर पीटा, पांच दिन बाद अस्पताल में मौत
अगवा कर नकदी लूटी, नंगा कर पीटा, पांच दिन बाद अस्पताल में मौत

जासं, अमृतसर: सुंदर नगर जज नगर के रहने वाले 18 वर्षीय राहुल कुमार का कुछ युवकों ने अपहरण करने के बाद लूटपाट और फिर नंगा करके मारपीट की। राहुल को अस्पताल में दाखिल करवाया गया जहां शुक्रवार को उसकी मौत हो गई।

सुंदर नगर जज नगर निवासी रविदर कुमार ने बताया कि उसका बेटा राहुल 29 नवंबर की शाम सात बजे कटरा सफेद में नए कपड़े खरीदने के लिए गया था। बेरी गेट के पास 15-20 युवकों ने उसका अपहरण कर लिया और खाई मोहल्ला में ले गए। वहां पर उससे 15 हजार की नकदी, मोबाइल लूट लिया। वहां एक पार्क में उसे नंगा करके पीटा। इसका युवकों ने वीडियो भी बनाया और उसे इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया। फिर बेटे को रंजीत एवेन्यू रोज गार्डन के पास फेंक दिया। वहां एक युवक सैर कर रहा था, जिन्होंने उसके बेटे को देखकर पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने उन्हें फोन करके बुलाया। जब वहां पर शिकायत देनी चाही तो उन्होंने कहा कि उनकी शिकायत यहां नहीं बनती है, वह थाना डी डिवीजन में जाएं। वह बाद में अपने बेटे को गुरु नानक देव अस्पताल में ले आए। शुक्रवार को उसके बेटे की मौत हो गई लेकिन पांच दिन बीतने के बावजूद पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। शुक्रवार को थाना डी डिवीजन के दो मुलाजिम उस समय पहुंचे, जब उनके बच्चे की मौत हो गई। भाई ने कहा, आरोपितों में पुलिस कर्मी का बेटा भी

मृतक के छोटे भाई मोहित का कहना है कि प्रेम नगर के रहने वाले शिभु, प्रथम, टिड्डी, मोनी, बादल, रितीक, काला मट्टू, साहिल मट्टू, साहिल मस्त, पीची, हनी मट्टू ने उनके भाई को किडनैप किया था। इनमें पंजाब पुलिस के मुलाजिम का बेटा भी है। मोहित का कहना है कि आरोपितों ने उन्हें घटना को अंजाम देने के बाद फोन करके कहा था कि उनके बेटे को मारकर फेंक दिया है। उन्हें और परिवार को भी जान से मारने की धमकियां दे रहे थे। मदद को आगे आई ह्यूमैनिटी फोरेवर वेल्फेयर सोसायटी

पीड़ित परिवार की जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो ह्यूमैनिटी फोरेवर वैल्फेयर सोसायटी मदद करने के लिए आगे आई। सोसायटी के गौरव कुमार का कहना है कि हैरानीजक है कि पुलिस ने परिवार की कोई सुनवाई तक नहीं की। उन्होंने कहा कि मारपीट करने वालों ने अपनी सभी हदें पार कर दी। इस मामले में पुलिस की बड़ी लापरवाही रही है। परिवार के बयान दर्ज किए: एएसआइ

घटनास्थल पर पहुंचे एएसआइ का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। पीड़ितों के बयान कलमबद्ध कर लिए गए हैं, जिन लोगों के नाम लिखवाए गए, उन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार भी कर लिया जाएगा।