शहर के सभी 12 गेटों के बाहर तारें अंडरग्राउंड करने का काम तेज करने के निर्देश

जिले में चल रहे अलग-अलग विकास कार्यो की समीक्षा करने के लिए डिप्टी कमिश्नर गुरप्रीत सिंह खैहरा ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की।

JagranPublish:Wed, 24 Nov 2021 06:40 PM (IST) Updated:Thu, 25 Nov 2021 02:30 PM (IST)
शहर के सभी 12 गेटों के बाहर तारें अंडरग्राउंड करने का काम तेज करने के निर्देश
शहर के सभी 12 गेटों के बाहर तारें अंडरग्राउंड करने का काम तेज करने के निर्देश

जागरण संवाददाता, अमृतसर: जिले में चल रहे अलग-अलग विकास कार्यो की समीक्षा करने के लिए डिप्टी कमिश्नर गुरप्रीत सिंह खैहरा ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें उन्होंने विकास कार्यो में तेजी लाने संबंधी अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी।

उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा कि गोल्डन गेट से हुसैनपुरा चौक के 2.5 किलोमीटर क्षेत्र तक पहले बीआरटीएस की टूटी हुई ग्रिल, साफ-सफाई, रंग रोगन के काम में तेजी लाई जाएगी। इस रास्ते में कोई भी रेत की ट्रालियां खड़ी नहीं होने दी जाएंगी। उन्होंने नगर सुधार ट्रस्ट के अधिकारियों से कहा कि जहां रेत की ट्रालियां लगती हैं, वह स्थान ट्रस्ट का है और तुरंत इस स्थान की चारदीवारी की जाए, ताकि यहां ट्रालियां न लग सके। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को भी निर्देश दिए कि शहर की चारदीवारी के सभी 12 गेटों के बाहरवार 7.5 किलोमीटर के क्षेत्र की सारी बिजली की तारें स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत अंडरग्राउंड की जानी है, के काम में भी तेजी लाई जाए। उन्होंने बताया कि बिजली विभाग की ओर से 13 करोड़ रुपये की लागत से जिन घरों के ऊपर से बिजली की तारें निकलती थी, को तुरंत हटाया जाएगा। इस अवसर पर एडीसी रणबीर सिंह मूधल, एसडीएम टी बैनिथ, जिला विकास व पंचायत अधिकारी गुरप्रीत सिंह गिल, एसई जल सप्लाई एसके शर्मा, एक्सईएन पुनीत भसीन, एक्सइएन नगर निगम संदीप सिंह के अलावा अलग-अलग विभागों के अधिकारी मौजूद थे। जोड़ा फाटक के पास लैब में फ्री में टेस्ट करवाएं पेयजल की गुणवत्ता

जल सप्लाई विभाग की ओर से 332 गांव के लोगों को आर्सेनिक रहित पानी मुहैया करवाने के उद्देश्य से वाटर प्यूरिफायर दिए गए हैं और ग्रामीण क्षेत्र में भी पीने वाले पानी की नई पाइपें डाली जा रही हैं। खैहरा ने बताया कि जल सप्लाई विभाग की ओर से ही 10 करोड़ रुपये की लागत से जोड़ा फाटक में पानी की टेस्टिंग के लिए लैब स्थापित की गई है, जहां कोई भी व्यक्ति मुफ्त पानी की टेस्टिंग करवा सकता है। उन्होंने समूह अधिकारियों को हिदायत करते हुए कहा कि वह दो दिनों मे संबंधित विभागों की ओर से किए जा रहे कामों की प्रगति रिपोर्ट पेश करे।