इंडो-पाक ट्रेड फेयर फिर से शुरू करने की उठी मांग, सोनी बोले केंद्र के समक्ष रखेंगे बात

उद्योगपति पंजाब में अपने कारोबार का विस्तार करें और नए उद्योग स्थापित करें। राज्य सरकार उनको हर सुविधा देने के लिए वचनबद्ध है।

JagranPublish:Fri, 03 Dec 2021 03:00 AM (IST) Updated:Fri, 03 Dec 2021 03:00 AM (IST)
इंडो-पाक ट्रेड फेयर फिर से शुरू करने की उठी मांग, सोनी बोले केंद्र के समक्ष रखेंगे बात
इंडो-पाक ट्रेड फेयर फिर से शुरू करने की उठी मांग, सोनी बोले केंद्र के समक्ष रखेंगे बात

जासं, अमृतसर: उद्योगपति पंजाब में अपने कारोबार का विस्तार करें और नए उद्योग स्थापित करें। राज्य सरकार उनको हर सुविधा देने के लिए वचनबद्ध है। पंजाब सरकार ने वर्ष 2017 में उद्योगपतियों के हक में पालिसी बनाई, जिसके फलस्वरूप साढ़े चार साल में उद्योगपतियों ने पंजाब में एक लाख करोड़ रुपये का निवेश किया। यह बात उप मुख्यमंत्री ओम प्रकाश सोनी ने वीरवार को पीएचडी चैंबर आफ कामर्स की ओर से अमृतसर में आयोजित 15वें पांच दिवसीय इंटरनेशनल ट्रेड एक्सपो पाइटेक्स का उद्घाटन करने के बाद कही।

पीएचडी चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के प्रबंधकों को इस बार का थीम टूरिज्म रखने पर बधाई देते हुए सोनी ने कहा कि पंजाब में कई जगह ऐसी हैं, जिनके कारण ही पंजाब में टूरिज्म बढ़ रहा है। उप मुख्यमंत्री ओम प्रकाश सोनी ने कारोबारियों की लटकती आ रही मांग को पूरा करने के एलान करते हुए कहा कि जल्द ही अमृतसर में पुरानी जेल के पास 10 एकड़ में कनवेंशन सेंटर का काम शुरू कर दिया जाएगा। इसके बनने से उद्योगपति एक ही छत के नीचे अपने उत्पादों की प्रदर्शनी लगा सकेंगे। इस दौरान सोनी के समक्ष पीएचडी चैंबर आफ कामर्स के चेयरमैन आरएस सचदेवा ने इंडो-पाक ट्रेड फेयर शुरू करने की मांग रखी। इस पर सोनी ने कहा कि वह केंद्र सरकार को इस संबंधी लिखेंगे। उन्होंने कहा कि अमृतसर की तरक्की इसी कारण रुकी हुई है। जब यह मेला शुरू हो जाएगा तो अमृतसर भी मुंबई बन सकता है।

डिप्टी कमिश्नर गुरप्रीत सिंह खैहरा ने कहा कि कोरोना काल में इस तरह के आयोजन को सफल बनाना, जहां प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती है, वहीं इस आयोजन में अमृतसर और आसपास के लोगों की भूमिका भी महत्वपूर्ण है। इस अवसर पर पुलिस कमिश्नर डा. सुखचैन सिंह गिल, पीएचडी चैंबर के सहायक सेक्रेटरी जनरल नवीनसेठ, क्षेत्रीय निर्देशक मधू पिल्ले, जीएम उद्योग मानवप्रीत सिंह, स्माल स्केल इंडस्ट्री के सीनियर उप प्रधान परमजीत बत्तरा, प्यारा लालसेठ, समीर जैन और अन्य व्यापारी व उद्योगपति मौजूद थे। 2029 तक पर्यटन के क्षेत्र में 53 मिलियन नौकरियां पैदा होंगी

पीएचडी चैंबर आफ कामर्स के सेक्रेटरी जनरल सौरव सानयाल ने कहा कि पीएचडीसीसीआइ बड़े, मध्यम और छोटे उद्योगों के साथ मिलकर करीब डेढ़ लाख मैंबरों के आधार से उद्योग और व्यापार की आवाज के रूप में काम करते हुए भारतीय अर्थव्यवस्था को ऊंचे स्तर पर ले जाने के लिए कई क्षेत्रों में उद्योग ज्ञान के साथ अपनी विरासत का लाभ उठाते हुए आगे बढ़ रहे हैं। पिछले साल भारत में पर्यटन के क्षेत्र में 39 मिलियन नौकरी का योगदान था, जोकि देश में कुल रोजगार का 8.0 फीसद था। 2029 तक पर्यटन के क्षेत्र में 53 मिलियन नौकरियों के मौके पैदा होने की संभावना है। कई जिलों में औद्योगिक पार्क विकसित किए जा रहे

इंडस्ट्री विभाग पंजाब के सचिव तेजवीर सिंह ने कहा कि पिछले कुछ सालों के दौरान पंजाब की पहचान तेजी से उभर रहे औद्योगिक राज्य में बनी है। औद्योगिक निवेश को बढ़ाने और ढांचे को मजबूत करने के लिए बठिडा, संगरूर, राजपुरा और होशियारपुर जिलों में औद्योगिक पार्क विकसित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब तक हुए निवेश के जरिए 52 फीसद से अधिक प्रोजेक्ट्स पर काम शुरू कर दिया है और 36 फीसद से ज्यादा अलग-अलग पड़ाव पर है।