योग ने दिलाई कोरोना से जल्द मुक्ति, शरीर को मिली नई ऊजा

कोरोना ने मानवता को झिझोर कर रख दिया। डाक्टरों ने साफ कहा कि जिन लोगों की इम्युनिटी कमजोर है उनको कोरोना से बच कर रहना होगा।

JagranMon, 21 Jun 2021 06:00 AM (IST)
योग ने दिलाई कोरोना से जल्द मुक्ति, शरीर को मिली नई ऊजा

पंकज शर्मा, अमृतसर : कोरोना ने मानवता को झिझोर कर रख दिया। डाक्टरों ने साफ कहा कि जिन लोगों की इम्युनिटी कमजोर है, उनको कोरोना से बच कर रहना होगा। रोगप्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने के लिए लोगों ने अलग-अलग तरह के डाइट प्लान लेने शुरू कर दिए। इसी बीच बहुत सारे लोगों ने जल्द रिकवरी के लिए योग को अपना हथियार बनाया। लोगों ने लाकडाउन के दौरान अपने घरों में योग को अपना कर इस नामुराद महामारी से बचाव करते हुए अपनी और अपने परिवारिक सदस्यों की कोरोना महामारी से सुरक्षा की। बहुत सारे ऐसे मामले सामने आए जिन में लोग योग को अपनाकर निरोग रहे। बेटी की सलाह मानी और योग करके हो गए स्वस्थ: लखदेव सिंह

पूर्व प्रिसिपल लखदेव सिंह की आयु 70 से अधिक है। उन्होंने योग को अपना कर कोरोना के प्रभाव को खत्म किया। लखदेव सिंह बताते है कि कोरोना की पहली लहर के दौरान वह भी कोरोना पाजिटिव आ गए थे। परंतु अपनी विल पावर मजबूत होने के कारण उन्होंने इसका दुष्प्रभाव अपनी मानसिकता पर नहीं पड़ने दिया। सेहत विभाग के नियमों का पालन करते हुए उन्होंने अपनी बेटी की सलाह मानते हुए योग को अपनाया। आनलाइन योग गतिविधियों को इंटरनेट पर देखकर अपनी बेटी की गाइडलाइन को अपनाते हुए अलग अलग योग आसन किए। इस दौरान अलोम व्योम, भुजंग आसन, सभी तरह के प्रणायाम, कपालभाति और बैली ब्रीदिग आदि आसनों का रेगुलर सुबह और शाम हर एक एक घंटा अभ्यास किया तो वह 12 दिनों के भीतर कोरोना से मुक्त हो गए। 13वें दिन रिपोर्ट कोरोना नेगिटव आई। पाजिटिव आई तो घबराई नहीं, योग से मिली नई ऊर्जा: मंजीत कौर

फिटनेस कोच मंजीत कौर बताती हैं कि वह भी कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कोरोना पाजिटिव आ गई थीं। काफी डर महसूस होने लग गया। परंतु फिटनेस कोच होने के कारण मैंने मन मजबूत बनाकर रोजाना की एक्सरसाइज जारी रखी और साथ में योग को भी अपनाया। शरीर में वीकनेस आने के कारण फिटनेस की सख्त एक्सरसाइज नहीं कर पाई। परंतु योग के हलके आसन करके अपनी रोग प्रतिरोधक शक्ति को मजबूत बनाकर इस वायरस के भंवर से बाहर निकली। करीब 11 दिन लगातार योग करने के बाद शरीर में कुछ ऊर्जा महसूस होने लगी और 21वें दिन जब घर में एकातंवास रहने के बाद टेस्ट करवाया को रिपोर्ट नार्मल आई। बिना अंग्रेजी दवा लिए और योग से पाई कोरोना पर फतेह : सारिका

महानगर की सारिका बताती हैं कि वह भी पहली लहर के दौरान कोरोना संक्रमित हो गई थी। करीब एक सप्ताह के बाद शरीर को कमजोरी और श्वास लेने में मुश्किल होने लगी। कोरोना टेस्ट करवाया तो पाजिटिव रिपोर्ट आई। घर में अधिकतर लोग योग करते हैं। उनको देखकर रोज एक घंटा सुबह और एक घंटा शाम को योग किया। कपाल भाति, भद्रिका, शल्ब आसन, ताड़ आसन, सूर्य नमस्कार, सभी प्रणायाम, भुजंग समेत कई आसन किए और दस दिनों के भीतर ही कोरोना से मुक्ति मिल गई। दस दिनों के बाद शरीर को शक्ति महसूस होने लगी। घर में अपने आप को एंकातवास रखा। 21 दिनों के बाद टैक्स करवाया जो रिपोर्ट नेगेटिव आई। बिना किसी तरह की अंग्रेजी दवा लिए योग करके और खानापान पर कंट्रोल रख कोनोरा से मुक्ति हासिल की है। रोज एक घंटा करती हूं योग, इम्युनिटी इसी से मजबूत हुई: संजना बेरी

47 वर्षीय संजना बेरी पिछले कई वर्षों से योग आसन करती आ रही हैं। योग उनके जीवन का हिस्सा है। हर रोज योग करना अब उनके शरीर की जरूरत बन गई है। वह बताती हैं कि उसकी जान-पहचान वाले और आसपास के कई लोग कोरोना से संक्रमित हो गए, हालांकि उन्होंने सावधानी बरती और वह कोरोना से बची रहीं। वह हर रोज करीब एक घंटे तक योग करती हैं। इसमें वह आठ से दस अलग अलग तरह के योग आसन करती हैं। इससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी मजबूत रही है। इसके लिए वह अन्य लोगों को भी प्रेरित करती रहीं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.