ISI की बड़ी साजिश, पंजाब में आतंकी हमले की आशंका, सुरक्षा एजेंसियों ने केंद्र को भेजी रिपोर्ट

पंजाब में पाकिस्‍तान की ओर से आतंकी हमले का खतरा है। (फाइल फोटो)

पाकिस्‍तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ पंजाब में आतंकवाद फैलाने के लिए बड़ी साजिश रच रही है। सुरक्षा एजेंसियों ने रिपोर्ट दी है कि पंजाब में बड़े आतंकी हमले का खतरा है। इसके बाद पंजाब सरकार भी अलर्ट हो गई है।

Sunil Kumar JhaFri, 25 Dec 2020 08:11 PM (IST)

अमृतसर, [नवीन राजपूत]।  Terrorist theat in Punjab: पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ पंजाब मे आंतकी हमले की बड़ी साजिश रच रहा है। आइएसआदइ पंजाब के किसी भी हिस्से में किसी भी समय आतंकी हमला करवा सकती है।  भारतीय खुफिया एजेंसियों ने केंद्र सरकार को इस बारे में बुधवार को रिपोर्ट भेजी है।

बताया जा रहा है कि आतंकी हमले की साजिश के तहत खालिस्तानी माड्यूल के कुछ लोग सीमा पर पहुंचे हथियारों को ठिकाने लगाने की फिराक में हैं। हालांकि पुलिस और बीएसएफ के जवानों द्वारा लोपोके स्थित बीओपी (बार्डर आब्जर्विंग पोस्ट) राजाताल के पास पिछले कई दिनों से सर्च आपरेशन चलाया जा रहा है। इस बीच पुलिस द्वारा गुरदासपुर में बार 11 ग्रेनेड की खेप और राइफल, कारतूस बरामद किए जा चुके हैं।

लगातार ड्रोन से रैकी कर भारतीय क्षेत्र में गिराए जा रहे ग्रेनेड और राइफल

पिछले कुछ दिनों में पकड़े गए नशा और हथियारों के तस्करों से सुरक्षा एजेंसियों को इनपुट मिले हैं कि आइएसआइ ने जम्मू-कश्मीर में एक्टिव हिजबुल मुजाहिद्दीन और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों को खालिस्तानी माड्यूल के लोगों से तालमेल कर पंजाब में धमाके करने का टास्क दिया है। यह बताया जा रहा है कि इसके बारे में पता चलते ही सुरक्षा एजेंसियों ने केंद्र सरकार को रिपोर्ट भेज दी। इसके बाद भारत-पाकिस्तान सीमा पर बीएसएफ ने गश्त तेज कर दी है। ड्रोन द्वारा की जाने वाली रैकी को नाकाम बनाने के लिए लगातार रात के समय आकाश मार्ग पर नजर रखी जा रही है।

बीएसएफ ने सीमा पर बढ़ाई गश्त, पुलिस ने की जबरदस्त नाकाबंदी, लोपोके में सर्च आपरेशन जारी

यही नहीं पाकिस्तान के साथ लगती पंजाब सीमा 553 किलोमीटर पर लगी कंटीली तार पर भी लगातार चौकसी रखी जा रही है। ड्रोन के अलावा अन्य घुसपैठ को नाकाम करने के लिए बीएसएफ के अधिकारियों ने गोली मारने के आदेश जारी कर दिए हैं।

उधर, सुरक्षा एजेंसियों ने पुलिस के साथ मिलकर सीमा पर रहने वाले तस्करों और पुराने आतंकियों को रिकार्ड खंगालना शुरू कर दिया है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने सीमा पार खेती करने जाने वाले कुछ संदिग्धों को पूछताछ के लिए हिरासत में भी लिया है। बता दें 18 नवंबर 2018 में सीमावर्ती गांव अदलीवाल के पास खालिस्तानी आतंकियों ने निरंकारी भवन पर ग्रनेड हमला कर दो लोगों की हत्या कर दी थी। 20 से ज्यादा लोग जख्मी भी हुए थे।

 कब-कब क्या हुआ

 - 22 दिसंबर गुरदासपुर के पास ड्रोन द्वारा किए 11 हैंड ग्रेनेड और भारी संख्या में कारतूस मिले।

 -23 दिसंबर गुरदासपुर में एक टाइप की राइफल और भारी संख्या में कारतूस बरामद किए गए।

 -19 दिसंबर को घरिंडा में सीमा पार करने की फिराक में बीएसएफ ने दो पाक घुसपैठिए मार गिराए। उनके कब्जे से दो एके-47, मैगनम राइफल, तीन मैगजीन और 90 कारतूस बरामद किए थे।

 - 15 दिसंबर को घरिंडा पुलिस ने ड्रोन सहित दो युवकों को काबू किया था। आरोपितों ने ड्रोन से पाकिस्तान से हथियार मंगवाने थे।

 - 16 सितंबर को फताहपुर जेल में बंद चार हेरोइन तस्करों को काबू किया। आरोपितों के इशारे पर ड्रोन खरीदा गया था। पूछताछ में सामने आया था कि चारों आइएसआइ एजेंट चिश्ती के इशारे पर काम कर रहे हैं।

 - 29 नवंबर को को तीन बार ड्रोन ने भारतीय सरहद की रैकी की। आशंका जताई जा रही है कि ड्रोन ने हथियारों की खेप राजाताल में गिराई है। सर्च आज भी जारी है।

यह भी पढ़ें: रेलवे को हरियाणा सहित पूरे देश में घाटा, रोजाना कम बुक हो रहे टिकट, बढ़ सकता है ट्रेन किराया


यह भी पढ़ें: तारीफ में बदले ताने: मिसाल बनी रोहतक की महिला ऑटो चालक, प्रियंका गांधी भी कर चुकी हैं सवारी

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.