अमृतसर में दिल दहला देने वाला हत्याकांड, गैंगस्टर के भाई को 7 गोलियां मारने के बाद डाला भंगड़ा

अमृतसर में मनी धवन नाम के युवक का दिनदहाड़े मर्डर कर दिया गया है।

अमृतसर में शुक्रवार दिनदहाड़े मनीष धवन नाम के युवक की दो बाइक सवार हमलावरों ने गोलियां मारकर हत्या कर दी। दोनों ने युवक की जान लेने के बाद मौके पर भंगड़ा भी डाला है। पुलिस ने मामला गैंगवार से जुड़ा बताया है।

Publish Date:Fri, 27 Nov 2020 02:04 PM (IST) Author: Pankaj Dwivedi

अमृतसर, जेएनएन। शुक्रवार को शहर में उस समय सनसनी मच गई जब दो हमलावरों ने कुख्यात गैंगस्टर सिमरन के गिरोह के सदस्य सन्नी उर्फ गोरिल्ला के भाई मनीष धवन की 7 गोलियां मारकर हत्या कर दी। घटना 88 फुट रोड पर शुक्रवार दोपहर को हुई है। दोनों हत्यारे बाइक पर आए थे। वे इतने बेखौफ थे कि उन्होंने युवक को गोलियां मारने के बाद मौके पर भंगड़ा भी डाला। प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि आरोपितों ने जान बचाकर भाग रहे मनीष धवन उर्फ मनी के सिर पर पीछे से सात गोलियां मारी और वह सड़क पर गिर गया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

वारदात के बारे में पता चलते ही पुलिस कमिश्रनर डा. सुखचैन सिंह गिल, एडीसीपी संदीप कुमार मलिक, एसीपी (क्राइम) हरमिंदर सिंह, एसीपी सरबजीत सिंह बाजवा, सदर थाने के प्रभारी इंस्पेक्टर परवीन कुमार मौके पर पहुंचे। घटना के तुरंत बाद पुलिस ने सारे शहर में नाकाबंदी कर दी। पुलिस अधिकारियों ने दावा किया है कि हत्यारोपित शहर के भीतर ही हैं। उन्हें जल्द काबू कर लिया जाएगा।

प्रत्यक्षदर्शी रमेश कुमार और वरुण ने बताया कि मनीष धवन उर्फ मनी सौ फुटी रोड पर स्कूटर मरम्मत वाली दुकान पर काम करता है। शुक्रवार को दुकान पर कोई ग्राहक नहीं था और वह सामने गली के बाहर धूप सेंक रहा था। इस बीच बाइक पर सवार दो युवक उनकी दुकान के बाहर पहुंच गए। दोनों के पास पिस्तौल थे। बाइक के पीछे बैठा युवक तेजी से नीचे उतरा और मनीष के पास पहुंच गया। जैसे ही मनीष ने उसका चेहरा देखा तो उसे देखकर भागने लगा। पिस्तौल लिए युवक ने तेजी से मनीष पर एक के बाद एक फायर करने शुरु कर दिए। उसने पीछे से मनीष के सिर पर सात गोलियां मारी। गोलियां चलाने वाला और बाइक पर बैठे युवक ने सन्नी के लहूलुहान होकर जमीन पर गिरने के बाद भंगड़ा डाला और फरार हो गए।

लोग जान बचाकर इधर-उधर भागे

गोलियां चलने के बाद घटना स्थल पर मौजूद सभी लोग अपनी जान बचाकर भागने लगे। आरोपितों के जाने के बाद उन्होंने किसी तरह मनीष को पास के गुरु नानक देव अस्पताल में दाखिल करवाया। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

कौन हैं गैंगस्टर सिमरन और शुभम

शुभम और सिमरन की दुश्मनी साल 2015 में शुरु हुई थी। सिमरन के पिता मजीठा रोड पर ढाबा चलाते थे। साल 2016 में शुभम ने अपने साथियों के साथ गोलियां चलाकर सिमरन के पिता और नौकरी की हत्या कर दी थी। इसके बाद सिमरन ने साल 2018 में शुभम के पिता कालू हवलदार की गोलियां मारकर हत्या कर दी थी। इसी कड़ी के तहत सिमरन को पनाह देने वाले हिंदू नेता विपन कुमार शर्मा की शुभम ने बटाला रोड पर गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। इस बीच शुभम को खतरनाक गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया ने सहयोग करना शुरू कर दिया था।

 

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.