शैक्षणिक शिक्षा के साथ-साथ आध्यात्मिक शिक्षा भी जरूरी

बीबीके डीएवी कालेज फार वूमेन में नव शैक्षणिक सत्र के शुभारंभ के उपलक्ष्य में हवन का आयोजन करवाया गया।

JagranPublish:Tue, 13 Jul 2021 07:24 PM (IST) Updated:Tue, 13 Jul 2021 07:24 PM (IST)
शैक्षणिक शिक्षा के साथ-साथ आध्यात्मिक शिक्षा भी जरूरी
शैक्षणिक शिक्षा के साथ-साथ आध्यात्मिक शिक्षा भी जरूरी

अमृतसर (वि.) : बीबीके डीएवी कालेज फार वूमेन में नव शैक्षणिक सत्र के शुभारंभ के उपलक्ष्य में हवन का आयोजन करवाया गया। इसमें कालेज की मैनेजिग कमेटी के अध्यक्ष सुदर्शन कपूर व प्रिसिपल डा. पुष्पिदर वालिया मुख्य तौर पर शामिल हुए। कालेज की प्रि. डा. वालिया ने नव सत्र के शुभारंभ पर शुभकामनाएं देते हुए परमपिता परमात्मा से प्रार्थना करके नए सत्र में महाविद्यालय की कामयाबी की नई बुलंदियां छूने की कामना भी की। उन्होंने कहा कि पद्मश्री पूनम सूरी के कमर्ठ मार्ग दर्शन में एवं आर्शीवाद से यूनिवर्सिटी में कालेज की विद्यार्थियों ने 70 स्थान प्राप्त किए हैं। इसमें 18 प्रथम, 19 द्वितीय और बाकायदा स्थानों पर 33 विद्यार्थी रही हैं। इंडिया टूडे टाप रैंकिग में भी बीबीके डीएवी द्वारा स्थान प्राप्त किया है। इंद्रपाल आर्य ने कहा कि शैक्षणिक शिक्षा के साथ-साथ आध्यात्मिक शिक्षा भी अत्यंत जरूरी है। जबकि सुदर्शन कपूर ने अकादमिक सत्र 2021 की सफलता के लिए शुभकामनाएं दी और कहा कि प्रिसिपल डा. पुष्पिदर वालिया प्रत्येक आर्य पर्व और वैदिक मूल्याधारित उत्सवों का आयोजन बहुत निष्ठा से करती हैं।कालेज के संगीत विभाग ने भजन की प्रस्तुति करके मनमोहक समय बांधा और मंच संचालन की भूमिका डा. अनीता नरिदर ने किया। इस मौके पर कर्नल वेद मित्तल, संदीप आहूजा, करण आहुजा आदि मौजूद थे।