प्रेमी की तलाश में बेटी संग दिल्ली से गोरखपुर पहुंची महिला, जानें- फ‍िर क्‍या हुआ Gorakhpur News

प्रेमी की तलाश में बेटी संग दिल्ली से गोरखपुर पहुंची महिला, जानें- फ‍िर क्‍या हुआ Gorakhpur News

दिल्‍ली की प्रेमिका अपने प्रेमी की तलाश में दिल्‍ली से गोरखपुर पहुंच गई। गोरखपुर आकर उसने अपने प्रेमी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

Publish Date:Fri, 10 Jul 2020 12:31 PM (IST) Author: Pradeep Srivastava

गोरखपुर, जेएनएन। प्रेमी की तलाश में एक महिला अपनी 10 साल की बेटी के साथ दिल्ली से गोरखपुर आई है। आरोप है कि शाहपुर इलाके का रहने वाला प्रेमी उसे दिल्ली में छोड़कर भाग आया है। पीडि़त ने झरना टोला पुलिस चौकी पर पहुंचकर प्रेमी, उसके पिता, भाइयों पर दुष्कर्म और मारपीट करने की तहरीर दी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

बेलीपार इलाके की रहने वाली महिला की शादी वर्ष 2008 में पूणे निवासी एक व्यक्ति से हुई थी। पति से उसको एक बेटी पैदा हुई। वर्ष 2015 में पति की मौत के बाद ससुराल पक्ष का रिश्तेदार शादी करने का भरोसा देकर अपने साथ झरना टोला में ले गाय। कुछ दिन बाद झंगहा इलाके में स्थित अपने गांव और वहां से मुंबई ले गया। कुछ दिन पहले बेटी के साथ उसे लेकर दिल्ली आ गया। महिला का आरोप है कि प्रेमी ने उसके गहने बेच दिया है। पति की मौत के बाद मिले इंश्योरेंस के तीन लाख रुपये भी ले लिया और 27 जून को भाग गया। किराया न देने पर मकान मालिक ने उसे व उसकी बेटी को घर से निकाल दिया। दो जुलाई को गोरखपुुर पहुंचने के बाद बेलीपार स्थित मायके में भाई के घर रह रही है। शाहपुर पुलिस  मामले की जांच कर रही है।

लापता युवक ने घर वालों को खुद दिलवाई थी अपनी हत्या की सूचना

गोरखपुर के तिवारीपुर इलाके के नरसिंहपुर निवासी मोहम्मद शहनवाज की हत्या नहीं हुई थी बल्कि प्रेमिका के साथ रहने के लिए उसने खुद ही अपनी हत्या की झूठी कहानी गढ़ी थी। पुलिस ने उसके झूठ का पर्दाफाश करते हुए सुभाष चौक में किराये के कमरे से गुरुवार को उसे पकड़ लिया। अब उस पर तथा उसकी प्रेमिका पर झूठी सूचना देकर पुलिस को गुमराह करने के आरोप में कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है।

छह जुलाई को मोहम्मद शहनवाज (20) रहस्यमय परिस्थितियों में लापता हो गया था। पिता मोहम्मद शमीम ने सात जुलाई को थाने में तहरीर देकर उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई। इसी बीच सात जुलाई की रात में अनजान नंबर से मोहम्मद शमीम के मोबाइल पर फोन आया। दूसरी तरफ से कोई युवती बोल रही थी। उसने बताया कि छह जुलाई की रात में कुछ युवकों ने असुरन चौराहे पर मोहम्मद शहनवाज को पीट दिया था। जिससे उसकी मौत हो गई है। शव मेडिकल कॉलेज में रखा है। फोन आने के बाद परिजन असुरन पुलिस चौकी पर पहुंचे, लेकिन इस तरह की किसी घटना की पुष्टि नहीं हुई। बाद में मेडिकल कालेज भी गए लेकिन कुछ पता नहीं चला। मौत की खबर मिलने से सहमे पिता मोहम्मद शमीम ने तिवारीपुर थाने में दूसरी तहरीर देकर बेटे का अपहरण कर हत्या किए जाने की आशंका जताते हुए तहरीर दी। इसके बाद सक्रिय हुई पुलिस ने सुभाष चौक पर स्थित किराये के मकान से शहजनवाज और उसकी प्रेमिका को गुरुवार को बरामद कर लिया। तिवारीपुर थानेदार सत्य प्रकाश सिंह ने बताया कि शहनवाज, बक्शीपुर स्थित एक दुकान में काम करता है। उसी दुकान पर काम करने वाली युवती से उसका प्रेम संबंध हो गया था। परिवार वाले उनके रिश्ते को स्वीकार करने को तैयार नहीं थे। प्रेमिका के साथ रहने के लिए शहनवाज ने प्रेमिका की मदद से अपनी हत्या की झूठी कहानी गढ़ी थी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.