युवा कांग्रेस चुनाव में वीरभद्र समर्थकों को झटका, जानिए पूरी खबर

हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस चुनावों में इस बार वीरभद्र समर्थकों को झटका लगा है।
Publish Date:Fri, 30 Oct 2020 05:08 PM (IST) Author: Richa Rana

शिमला, जेएनएन। हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस चुनावों में इस बार वीरभद्र समर्थकों को झटका लगा है।  वीरभद्र सिंह विरोधी धड़े से समर्थित उम्मीदवारों ने चुनावों में बाजी मारी है। संगठनात्मक जिलों को मिलाकर कुल 13 जिला अध्यक्ष में से 9 पदों पर वीरभद्र सिंह विरोधी धड़े से संबंध रखने वाले प्रत्याशी चुनाव जीते हैं।

किन्नौर जिला से संबंध रखने वाले निगम भंडारी अध्यक्ष पद की दौड़ में सबसे आगे हो गए हैं। उन्होंने चुनावों सबसे ज्यादा 40,010 वोट प्राप्त किए हैं। जबकि वीरभद्र सिंह के करीबी यदोपति ठाकुर दूसरे स्थान पर रहे हैं। चुनाव में उन्होंने 37,732 वोट प्राप्त किए हैं। तीसरे स्थान पर अमित पठानिया हैं। इन्होंने चुनावों में 5,998 मत प्राप्त किए हैं। तीन तीनों ही उम्मीदवारों को एक दो दिनों के भीतर दिल्ली में बुलाया जाएगा।

भारतीय युवा कांग्रेस (आईवाईसी) का पैनल इनका साक्षात्कार लेगा। संगठन में दी गई सेवाओं के आधार पर अध्यक्ष चुना जाएगा। निगम भंडारी एनएसयूआई के हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के इकाई अध्यक्ष,  राष्ट्रीय सचिव, राष्ट्रीय महासचिव एआईसीसी ऑब्जर्वर रह चुके हैं। ऐसे में उनका अध्यक्ष  बनना तय माना जा रहा है।

पहली बार चुनाव में विरोधी धड़े ने मारी बाजी

 युवा कांग्रेस चुनाव में यह पहला मौका है जब वीरभद्र सिंह विरोधी धड़ा इतना ज्यादा मजबूत हुआ है। संगठन सूत्रों की माने तो निगम भंडारी किसी भी गुट से समर्थित नहीं थे। इसके चलते विरोधी धड़े जिनमें पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू, जीएस बाली, रोहित ठाकुर, कौल सिंह ठाकुर सहित अन्य नेताओं ने उन्हें ही स्पोर्ट किया। जबकि दूसरी तरफ उनका मुकाबला यदोपति ठाकुर से था। यदोपति ठाकुर वीरभद्र सिंह के करीबी माने जाते हैं। उन्हें भी कांग्रेस अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष सहित कई अन्य नेताओं का स्पोर्ट चुनाव में मिला था।

यह पहला मौका है जब वीरभद्र सिंह विरोधी धड़े ने संगठन के इस बड़े चुनाव में बाजी मारी है।

हमीरपुर और रामपुर चुनाव के नतीजों पर रोक

हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस चुनाव अधिकारी मुशर्रफ अली ने बताया कि प्रदेश युंका के चुनाव में कुल 1,16,215 वोट पड़े हैं। जबकि नोटा में 540 वोट पड़े। हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र का चुनाव रोका गया है, क्योंकि भाजपा विधायक के बेटे को युकां सदस्य बनाने के मामले की जांच की जा रही है। रामपुर विस क्षेत्र के नतीजे पर भी फिलहाल रोक लगाई है। शिकायत की जांच चल रही है।

चुनावी प्रक्रिया पर सवाल उठाने वाले अयोग्य

 किन्नौर के उम्मीदवार प्रशांत ङ्क्षसह और शिल्पा पोकर को चुनावी प्रक्रिया पर सवाल उठाकर मीडिया में बयान देने के बाद कार्रवाई करते हुए अयोग्य करार दे दिया है। उन्होंने कहा कि युकां प्रदेश कार्यकारिणी, जिला और विधानसभा क्षेत्र कार्यकारिणी के नतीजे घोषित कर अखिल भारतीय युवा कांग्रेस की वेबसाइट पर अपलोड कर दिए गए हैं।

प्रदेश कार्यकारिणी में ये बने महासचिव

नाम व वोट

होत्तम राम 2846 , नीलम कौंडल 377,  रजनीश मैहता 1698 , गोल्डी 2736, अखिल शर्मा, 1657

 गोविंद शर्मा 3240, सुंक्रात भाटिया 792,  आभा नेगी, 306, अब्दुल खालिक 533,  जितेंद्र धीमान 1104 सुरजीत कुमार भरमौरी 2255, अरुणा महाजन 654,  प्रेम डोगरा 518,  अलोब चौहान 1223,  अनु कुमारी 286

इर्शान ओहरी 1472, रितिका ठाकुर 657, रवि सिंह 1276, अंकुश ठाकुर1699, राहल चौहान 1484,  ज्योति 515,   कांता 300, लक्की18, दीक्षा सूद, 397, अनिता देवी 350,  प्रीति 424।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.