UP Assembly By Election 2020: रामपुर के स्वार से हैदर अली खान तथा उन्नाव के बांगरमऊ से आरती वाजपेयी कांग्रेस के प्रत्याशी

कांग्रेस ने उन्नाव के बांगरमऊ से आरती वाजपेयी और रामपुर के स्वार से हैदर अली खान को प्रत्याशी बनाया।
Publish Date:Sun, 27 Sep 2020 04:40 PM (IST) Author: Dharmendra Pandey

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव पर भले ही 29 सितंबर को निर्वाचन आयोग फैसला करेगा, लेकिन कांग्रेस बेहद मुस्तैद हो गई है। कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में आठ सीट पर होने वाले विधानसभा उप चुनाव के लिए रविवार को अपने दो प्रत्याशियों का नाम फाइनल कर दिया है।

कांग्रेस ने उन्नाव के बांगरमऊ से आरती वाजपेयी और रामपुर के स्वार से हैदर अली खान को अपना प्रत्याशी बनाया है। उन्नाव की बांगरमऊ सीट भाजपा के कुलदीप सिंह सेंगर की और रामपुर की स्वार टांडा सीट आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम खां की सदस्यता समाप्त होने के कारण खाली हुई है।

नवाब खानदान के हमजा मियां कांग्रेस प्रत्याशी 

स्वार विधानसभा सीट से उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने नवाब खानदान के हैदर अली खान उर्फ हमजा मियां को प्रत्याशी घोषित किया है। हमजा मियां पहली बार चुनाव लड़ेंगे। उनके पिता नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां लगातार पांच बार विधायक चुने गए। चार बार स्वार सीट से ही जीते थे।

उनके दादा नवाब जुल्फिकार अली खां उर्फ मिक्की मियां पांच बार रामपुर से सांसद चुने गए थे, जबकि उनकी दादी बेगम नूरबानो भी दो बार रामपुर से सांसद रही थीं। रविवार को नूरमहल पहुंचे कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव एवं उत्तर प्रदेश के सह प्रभारी धीरज गुर्जर ने उन्हेंंं प्रत्याशी बनाने की घोषणा की।

अनोखे अंदाज में आरती वाजपेयी ने जताया आभार

उन्नाव के बांगरमऊ से कांग्रेस की प्रत्याशी पूर्व मंत्री पंडित गोपीनाथ दीक्षित की बेटी तथा दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय शीला दीक्षित के पति की भतीजी आरती वाजपेयी  ने अनोखे ढंग से कांग्रेस का आभार जताया। आरती वाजपेयी ने ट्वीट किया कि डॉटर्स डे के अवसर पर बांगरमऊ की बेटी को इतनी महत्वपूर्ण जि़म्मेदारी देने के लिए प्रियंका गांधी तथा अजय कुमार लल्लू की आभारी हूं। मेरे भाई बहनों की ओर से मैं पार्टी नेतृत्व को यह विश्वास दिलाती हूं कि हम यह लड़ाई जीत कर बांगरमाऊ की खोई अस्मिता को वापस लौटायेंगे।

तीसरी बार बांगरमऊ से चुनाव मैदान में होंगी आरती

कांग्रेस ने रविवार को बांगरमऊ उप चुनाव में प्रत्याशी की घोषणा कर अपना पत्ता खोल दिया है। कांग्रेस हाइकमान ने दूसरी बार 162 बांगरमऊ विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे पूर्व गृहमंत्री स्वर्गीय गोपीनाथ दीक्षित की पुत्री आरती वाजपेयी को चुनाव मैदान में उतारने की घोषणा कर दी है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी महिला शाखा की प्रदेश उपाध्यक्ष व प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यसमिति की सदस्य आरती वाजपेयी  को बांगरमऊ विधानसभा उपचुनाव में पार्टी का प्रत्याशी बनाया है। 

आरती पूर्व गृहमंत्री वरिष्ठ कांग्रेस नेता स्वर्गीय गोपीनाथ दीक्षित की पुत्री हैं। उनके पति जलसंस्थान के महाप्रबंधक पद से रिटायर्ड हो चुके हैं। अपने पिता की राजनीतिक विरासत को सहेजने के लिए आरती कई वर्षों से बांगरमऊ क्षेत्र में सक्रिय राजनीति कर रहीं हैं। इसके पूर्व 2007 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने उन्हें प्रत्याशी बनाया था। उसके बाद 2012 के चुनाव में उनका टिकट काट दिया गया था और पूर्व मंत्री अशोक सिंह बेबी को कांग्रेस ने टिकट था। आरती ने पार्टी से बगावत कर निर्दलीय चुनाव लड़ा था। दोनों ही बार उन्हें पराजय का मुंह देखना पड़ा था। कांग्रेस ने दूसरी बार आरती पर दांव लगाया है जबकि, आरती वाजपेयी तीसरी बार बांगरमऊ विधानसभा से चुनाव मैदान में उतर रहीं हैं।

विधानसभा उप चुनाव की आठ खाली सीट में से छह सीट पर भाजपा का कब्जा है, जबकि दो पर समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी जीते थे।

कांग्रेस भी उत्तर प्रदेश की राजनीति में बेहद उत्साह के साथ वापसी करने की योजना में है। प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी आठ सीट पर प्रत्याशियों के चयन के लिए नेताओं का पैनल बनाया था। उसी पैनल की रिपोर्ट पर खाली सीट पर प्रत्याशियों का चयन किया जा रहा है।  

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.