top menutop menutop menu

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवाजीराव पाटिल का निधन, कोरोना से थे संक्रमित

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवाजीराव पाटिल का निधन, कोरोना से थे संक्रमित
Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 09:02 AM (IST) Author: Babita kashyap

मुंबई, एएनआइ। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवाजीराव पाटिल निलंगेकर का पुणे में निधन हो गया। 88 वर्षीय शिवाजीराव कोरोना संक्रमित थे। शिवाजीराव पाटिल ने बुधवार सुबह अंतिम सांस लीं। पिछले माह संक्रमित होने की पुष्टि के बाद से वह इलाज के लिए पुणे के अस्पताल में भर्ती थे। मिली जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद अभी दो दिन पहले ही उन्‍हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी।

शिवाजीराव पाटिल 16 जुलाई को आयी कोरोना टेस्‍ट रिपोर्ट में पॉजिटिव पाये गये थे। इलाज के लिए उन्हें लातूर जिले से लगभग 320 किलोमीटर दूर स्थित पुणे के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। पूर्व मुख्यमंत्री का इलाज पुणे के एक निजी अस्पताल में चल रहा था। उनकी हालत में सुधार हो गया था और कोरोना का रिपोर्ट भी निगेटिव आई थी। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी दी गई थी। स्‍वस्‍थ होने के बाद अचानक बुधवार को उनकी मौत ने सबको चौंका दिया।   

शक्तिशाली सहकारी नेता के रूप में बनी पहचान 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवाजीराव पाटिल निलंगेकर मराठावाड़ा क्षेत्र के लातूर के रहने वाले थे। 1985-86 में वह राज्य के मुख्यमंत्री बने थे। निलांगेकर ने अपनी पुत्री और उसकी मित्र की मदद के लिए 1985 में एमडी परीक्षा के नतीजों में कथित छेड़छाड़ के आरोप लगने के बाद मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। लातूर के एक शक्तिशाली सहकारी नेता के रूप में उन्हें जाना जाता था। भाजपा विधायक संभाजी पाटिल उनके पोते हैं। देवेंद्र फडनवीस की सरकार में संभाजी राज्‍य के श्रम मंत्री रह चुके हैं।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.