Bihar Assembly Elections 2020 : दो दिवसीय तेज संवाद में उमड़ी लागों की भीड़ से गदगद हुए तेज प्रताप यादव, कहा- धन्यवाद हसनपुर

तेज प्रताप समस्तीपुर की हसनपुर विधानसभा सीट से मैदान में आकर डट गए हैं।
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 09:22 PM (IST) Author: Ajit Kumar

मुजफ्फरपुर, जेएनएन। Bihar Assembly Elections 2020: चुनाव आयोग ने अभी बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए तिथि निर्धारित नहीं की है। लेकिन, सभी पार्टिया चुनावी मूड में आ गई हैं। सबमें राजद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद (RJD supremo Lalu Prasad) के बड़े पुत्र सह महुआ (Mahua)विधायक तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav)आगे दिख रहे हैं। कोरोना संक्रमण के कारण जहां अधिकांश दलों ने अपने प्रचार अभियान को वर्चुअल तक ही सीमित रखा है वहीं तेज प्रताप समस्तीपुर की हसनपुर विधानसभा सीट से मैदान में आकर डट गए हैं। वे रोड शो कर रहे हैं और अभीतो उन्होंने दो दिवसीय तेज संवाद का आयोजन किया था। इसमें लोगों की अच्छी सहभागिता ने उन्हें उत्साहित भी किया है। बुधवार को तेज संवाद के सफलतापूर्वक संपन्न होने पर उन्होंने हसनपुर की जनता को धन्यवाद दिया है। अपने फेसबुक पेज और िट्वटर अकाउंट से कहा, दो दिवसीय "तेज संवाद" कार्यक्रम को अथाह प्यार और समर्थन देने के लिए धन्यवाद हसनपुर।।

एक टीम स्थाई रूप से कैंप कर रही

गौरतलब है कि वर्तमान में महुआ के विधायक तेज प्रताज यादव ने इस बार अपना क्षेत्र बदलने का मन बना लिया है। इसके अनुरूप वे तैयारी में भी लग गए हैं। यही वजह है कि वे अब तक दो बार हसनपुर का दौर कर चुके हैं। वहीं, हसनपुर में एक टीम स्थाई रूप से कैंप कर रही है। ऐसा कहा जा रहा है इसमें शामिल करीब दो दर्जन कार्यकर्ता पार्टी की स्थानीय टीम से समन्वय कर जगह-जगह कार्यक्रम का आयोजन करा रहे । तेजप्रताप का रोड शो हो या फिर तेज संवाद का आयोजन, इसकी जिम्मेदारी इस टीम ने ही संभाल रखी है।

सीएम नीतीश पर कर रहे हमला

हसनपुर में भी तेज प्रताप मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमलावर रहे। उन्होंने लॉकडाउन के दौरान राज्य सरकार की नीतियों और घर लौटे प्रवासियों के लिए पर्याप्त रोजगार की व्यवस्था नहीं किए जाने को लेकर कई सवाल किए। कहा,मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रोजगार और कोरोना के नाम पर युवाओं तथा बिहार की जनता को ठगने का काम किया है। आने वाले चुनाव में बिहार की जनता पलटू चाचा को सबक सिखाने के लिए तैयार हो चुकी है। हालांकि राजनीति के जानकारों का कहना है कि पत्नी ऐश्वर्या के चुनाव लड़ने की संभावना को देखते हुए ही तेजप्रताप ने महुआ सीट को छोड़ने का फैसला किया। इतना ही नहीं उनकी इस सक्रियता की वजह भी ऐश्वर्या ही हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.