top menutop menutop menu

Gujarat: भाजपा विधायक केतन ईनामदार ने दिया इस्‍तीफा, सरकार पर लगाया आरोप

अहमदाबाद, जेएनएन। Ketan Inamdar Resigns. भाजपा सांसदों के बाद अब विधायक भी गुजरात की रूपाणी सरकार की कार्यशैली पर प्रश्‍न उठाने लगे हैं। भाजपा विधायक केतन ईनामदार ने जनता के काम नहीं होने व उपेक्षा से तंग आकर बुधवार को विधायक पद से ही इस्‍तीफा सौंप दिया। प्रदेश की राजनीति में इसे मुख्‍यमंत्री रूपाणी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। वहीं, विधानसभा अध्‍यक्ष ने इस्‍तीफा मिलने से इन्कार किया है।

वडोदरा जिले की सावली विधानसभा से चुने गए विधायक केतन ईनामदार ने विधानसभा अध्‍यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी को भेजे गए अपने इस्तीफे में कहा कि सरकार व प्रशासन में संकलन का अभाव है। मंत्री व अधिकारी उनके क्षेत्र के विकास व जनता के कार्यों को लेकर उदासीन हैं। उनकी सिफारिश के बावजूद उनकी व उनके कामों की उपेक्षा की जाती रही है। ईनामदार ने यह भी कहा कि जनप्रतिनिधि के रूप में उनका सम्‍मान नहीं रखा जाता है।

विधायक के इस्‍तीफे से एक बार फिर प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस प्रवक्‍ता मनीष दोषी ने कहा कि भाजपा सरकार में विधायकों के काम नहीं हो रहे हैं। मंत्री व अधिकारी विधायकों की नहीं सुनते, सरकार में पॉलिसी पैरालिसिस की स्थिति है। सरकार के सेवा सदन अब मेवा सदन बन गए हैं, जहां पैसों के बिना काम नहीं होते।

गौरतलब है सत्‍ता के गलियारों में पिछले कुछ दिनों से मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी को लेकर कई तरह की अटकलें चल रही हैं। भर्ती प्रकिया में अनियमितता, सांसदों व विधायकों की सिफारिश के बावजूद जनता के काम नहीं होने की बात को लेकर पहले सांसद व अब विधायक भी सरकार की कार्यशैली पर प्रश्‍न उठाने लगे हैं। विधानसभा अध्‍यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी ने जहां केतन ईनामदार का इस्‍तीफा नहीं मिलने की बात कही।

वहीं, भाजपा अध्‍यक्ष जीतूभाई वाघाणी व प्रवक्‍ता भरत भाई पंड्या ने मीडिया के माध्‍यम से इस्‍तीफे जानकारी मिलने की बात कही है। पंड्या ने कहा कि सरकार व प्रशासन में कौन अधिकारी उनके कामोंकी उपेक्षा कर रहे हैं, इसकी जानकारी ली जाएगी। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि ईनामदार पहले की तरह भाजपा के समर्पित व निष्‍ठावान कार्यकर्ता की तरह जनसेवा के काम करते रहेंगे। पंड्या ने कहा कि कांग्रेस विधायक के इस्‍तीफे से उत्‍साह में नहीं आए, सरकार व संगठन में सब ठीक है। 

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.