top menutop menutop menu

कोविड -19 संक्रमण के साथ संचारी रोग पर नियंत्रण हमारी वरीयता : योगी आदित्यनाथ

लखनऊ, जेएनएन। सीएम योगी आदित्यनाथ से शनिवार को अपने सरकारी आवास पर जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने कोविड-19 की जांच के लिए नवसृजित मंडलीय प्रयोगशालाओं का लोकार्पण भी किया।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने विश्व जनसंख्या दिवस पर कार्यक्रम का शुभारंभ करने के बाद सभा को संबोधित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आज के दौर में हम लोग बेहद चुनौती झेल रहे हैं। कोविड-19 संक्रमण के साथ ही बरसात के मौसम में संचारी रोग भी बढ़ने की संभावना है। कोविड-19 के संक्रमण के प्रचार पर अंकुश लगाने के साथ हमको अब बरसात जनित यानी संचारी रोग को रोकना है। कोविड-19 के कारण ही हमने प्रदेश में तीन दिन लॉकडाउन का कदम उठाया है। इसके लिए भी हमने 11 व 12 जुलाई का समय लिया, इसमें सेकेंड सेटर डे व संडे को अवकाश रहता है। हम बिना अपने काम को प्रभावित किए इन दोनों दिन का समय सैनेटाइजेशन तथा बचाव के अन्य साधन अपनाने में करेंगे।

उन्होंने कहा कि आज के दौर में हमको स्वस्थ समाज की स्थापना के लिए हमको नए स्तर से प्रयास करने की जरूरत है।  पीएम नरेंद्र मोदी के निर्देश पर देश व प्रदेश में अब काल,समय व परिस्थिति के अनुसार वरीयता तय की जा रही है। प्रदेश में हमने 18 मंडल में कोविड-19 की सुविधा प्रदान की है। भविष्य में हम हर जनपद में ट्रू नेट मशीन लगाकर जनपद वार कोविड का परीक्षण करेंगे। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अब हर जिले में कोरोना की जांच के लिए एक लैब खोली जाएगी। इस कोरोना आपदा के समय यूपी में बेहतर काम हुआ है और हम लोगों को स्वस्थ जीवन जीने के लिए जरूरी सुविधाएं देंगे। मृत्यु दर में कमी लाने का प्रयास होगा और यूपी का जनसंख्या घनत्व ज्यादा है इसलिए जन्म दर में कमी लाने के लिए लोगों को जागरूक किया जाएगा, इसके लिए भी विशेष अभियान शुरू किया जाएगा।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में शिशु मृत्यु दर को कम करने में हम सफल रहे हैं। विश्व जनसंख्या दिवस पर हमारा प्रयास प्रदेश की सकल जन्मदर को राष्ट्रीय स्तर से कम करने का है। प्रदेश में हमने शिशुओं के स्वास्थ्य के लिए अलग से आधुनिक व्यवस्था की है। जिला तथा मंडल स्तर पर अस्पतालों में अलग से ओपीडी स्थापित की गई है। माताओं के स्वास्थ्य का भी ध्यान रखा जा रहा है। समय-समय पर बच्चों का टीकाकरण अभियान भी चलाया जा रहा है।  

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के बलरामपुर अस्पताल की वॉयरोलॉजी लैब का ऑनलाइन उद्घाटन किया। निदेशक डॉ. राजीव लोचन ने बताया कि आज से अस्पताल में कोरोना मरीजों की जांच शुरू हो गई है। हालांकि, उद्घाटन के बाद अभी तक बंदी के चलते कोई मरीज आया नहीं है। उन्होंने बताया कि बलरामपुर सहित सात जिलों में वॉयरोलॉजी लैब का उद्घाटन मुख्यमंत्री ने किया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.