कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा का आरोप- यूपी में महिलाएं, बच्चे और व्यापारी सुरक्षित नहीं, जनता में भय

प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक बार फिर कानून-व्यवस्था पर यूपी की योगी सरकार को निशाने पर लिया है।
Publish Date:Mon, 26 Oct 2020 01:18 PM (IST) Author: Umesh Tiwari

लखनऊ, जेएनएन। कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक बार फिर कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर यूपी की योगी सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने सोमवार को ट्वीट कर आरोप लगाया कि सरकार के लोग चुनावी सभाओं में जाकर कोरी भाषणबाजी करते हैं और जनता में भय व्याप्त है। उन्होंने कहा कि यूपी में महिलाएं, बच्चे और व्यापारी सुरक्षित नहीं हैं।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने ट्वीट में यूपी के बागपत जिले में व्यापारी के अपहरण की घटना का जिक्र करते हुए लिखा कि 'बागपत में सोमवार सुबह एक लोहा व्यापारी का अपहरण हो गया। यूपी में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं।  व्यापारी सुरक्षित नहीं हैं। बच्चे सुरक्षित नहीं हैं। सरकार के लोग चुनावी सभाओं में जाकर कोरी भाषणबाजी करते हैं। जनता में भय व्याप्त है।'

बता दें कि उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के बड़ौत शहर में सोमवार को दिन निकलते ही बदमाशों ने लोहा व्यापारी का उस वक्त अपहरण कर लिया जब वह घर से दुकान पर जा रहे थे। बदमाशों ने फोन कर व्यापारी के स्वजन से एक करोड़ की फिरौती मांगी है। अपहरण की सूचना से पुलिस प्रशासन के भी हाथ पांव फूल गए। एसपी अभिषेक सिंह एएसपी मनीष कुमार मिश्र व्यापारी के घर पहुंचे और स्वजन से घटना की जानकारी ली। इस बीच आइजी मेरठ रेंज प्रवीण कुमार घटनास्थल पर पहुंचे और पीड़ितों से बातचीत की। उधर, एसपी अभिषेक सिंह ने पुलिस बल के साथ बिजरौल के जंगल में कांबिंग कर बदमाशों की तलाश की।

यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भी भाजपा सरकार को घेरते हुए कहा कि अंबेडकरनगर में दलित लड़की को बदमाशों ने गोली मारी, बागपत में घर से दुकान जा रहे लोहा व्यापारी का अपहरण कर बदमाशों ने एक करोड़ फिरौती मांगी। सीएम ने पिछले दिनों उपचुनाव प्रचार के दौरान दावा किया था कि 'पश्चिम सुरक्षित है।' आज अपराधियों ने सीएम को आईना दिखा दिया।

यह भी पढ़ें : बागपत में दिन निकलते ही लोहा व्‍यापारी का अपहरण, फोन कर मांगी एक करोड़ की फिरौती

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.