top menutop menutop menu

BJP अध्‍यक्ष नड्डा से मुलाकात के बाद भी नरम नहींं पड़े अनिल विज, CID मामले पर कड़े तेवर कायम

नई दिल्‍ली, [बिजेंद्र बंसल]। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज के तेवर भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा से मिलने के बाद भी ठंडे नहीं पड़े हैं। उन्‍होंने हरियाणा के सीआइडी प्रमुख पर आक्रामक रुख से एक बार फिर अपनी सरकार के लिए उलझन वाली स्थिति खड़ी कर दी है। विज ने यहां कहा कि गृहमंत्री के नाते सीआइडी भी उनके अधीन है, लेकिन सीआइडी प्रमुख उनकी बातों को अनसुनी कर रहे हैं। बार-बार कहने के बावजूद सीआइडी प्रमुख ने प्रदेश का इंटेलीजेंस इनपुट उन्‍हें नहीं दिया। इस रवैये को बर्दाश्‍त नहीं किया जा सकता।

बता दें कि गृह विभाग से सीआइडी को अलग करने के मुद्दे पर हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज का मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल से टकराव की हालत पैदा हो गई है। विज का कहना है कि सीआइडी गृह विभाग के तहत है, दूसरी तरफ सीआइडी को गृह विभाग से अलग कर मुख्‍यमंत्री के अधीन करने की तैयारी है।

विज मंगलवार को यहां कहा कि जब तक वह गृहमंत्री हैं तब तक सीआइडी प्रमुख को उन्हें ही रिपोर्ट करनी होगी। विज ने यह बात दोहराई कि मुख्यमंत्री राज्य सरकार के सर्वेसर्वा होते हैं और कभी भी किसी मंत्री का विभाग बदल सकते हैं, लेकिन गृहमंत्री के नाते सीआइडी से इंटेलीजेंस इनपुट लेने का अधिकार उन्हें है। इसका उन्होंने कारण भी बताया।

उन्होंने इस बात पर फिर नाराजगी जताई कि उनके बार-बार सीआइडी रिपोर्ट मांगने पर भी सीआइडी प्रमुख अनिल राव ने उन्हें रिपोर्ट नहीं दी। इसके चलते ही उन्होंने अनिल राव की जगह वरिष्ठ आइपीएस अधिकारी श्रीकांत जाधव को सीआइडी प्रमुख लगाने की संस्तुति सरकार से की है। विज ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल से उनका कोई विवाद नहीं है मगर जो अधिकारी सरकार में अपनी मनमानी कर रहे हैं, उनके खिलाफ शिकंजा कसने का अधिकार तो उन्हें बतौर एक मंत्री भी है।

विज ने मंगलवार को यहां कहा, मैंने गृहमंत्री के नाते सीआइडी प्रमुख से बार-बार प्रदेश का इंटेलीजेंस इनपुट मांगा, लेकिन यह मुझे उपलब्‍ध नहीं कराया गया। इससे प्रदेश की शांति को कभी भी बड़ा नुकसान हो सकता है। मेरे पास इनपुट नहीं होगा तो मैं कदम कैसे उठाऊंगा और कार्रवाई कैसे करूंगा। जब वे (अधिकारी) बात नहीं मानें तो सरकारी अधिकारी पर कार्रवाई करना तो हमारा नैतिक धर्म है।

विज ने मुख्‍यमंत्री मनाेहरलाल से विवाद के बारे में कहा कि ऐसा कुछ नहीं है और मुख्यमंत्री सरकार के सर्वेसर्वा होते हैं। मेरा सीआइडी या किसी विभाग को लेकर कोई विवाद नहीं है। सीएम जब चाहें किसी मंत्री का विभाग ले सकते हैं और किसी को भी दे सकते हैं। लेकिन, जब तक मैं गृहमंत्री हूं सीआइडी की रिपोर्टिंग मेरे पास होगी क्योंकि मुझे अपने आपको तैयार रखना होता है। प्रदेश में अगर कोई भी दुर्घटना या घटना ने हो इसके मुझे तैयार रहना होता है।

भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष को बधाई देते अनिल विज और हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल।

यह पूछे जाने पर कि सीआइडी प्रमुख को हटाया नहीं गया तो क्या एक्शन लेंगे, विज बोले- मैंने अपनी तरफ से कार्रवाई के लिए आदेश दे दिए हैं, देखिए अब आगे क्या होता है। अनिल विज ने साफ किया कि मुख्यमंत्री से उनका कोई विवाद नहीं है मगर सरकारी अधिकारियों की मनमानी बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी।

बता दें कि अनिल विज ने सोमवार देर रात 11 बजे भाजपा मुख्यालय में नए राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की थी। इस दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी नड्डा के साथ मौजूद थे। वह भाजपा शासित मुख्यमंत्रियों की परिषद की बैठक में हिस्सा लेने दिल्ली आए हुए थे।

विज हरियाणा सरकार के हेलीकॉप्टर से सोमवार दोपहर बाद दिल्ली पहुंचे। उन्हें सीधे भाजपा मुख्यालय जाना था, जहां पार्टी के नए अध्यक्ष जेपी नड्डा की ताजपोशी के उपलक्ष्य में कार्यक्रम था, लेकिन जब वह दिल्ली पहुंचे तो पार्टी मुख्यालय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंच गए थे। इसके कारण वह सुरक्षा की दृष्टि से पीएम के मुख्यालय से निकलने तक हरियाणा भवन ही रहे।

रात करीब 11 बजे विज हरियाणा भवन से सीधे पार्टी मुख्यालय गए और वहां उनकी मुलाकात नए राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से भी हुई। मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी इस दौरान भाजपा शासित मुख्यमंत्रियों की परिषद की बैठक के बाद आयोजित हुए रात्रि भोजन में रुके हुए थे। सूत्र बताते हैं कि विज ने जब अमित शाह से बातचीत के लिए समय मांगा तो उन्होंने नड्डा से मुलाकात का निर्देश दिया।

इसके बाद विज ने नड्डा से मिलकर उन्हें नए राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने की बधाई दी तो मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी वहां पहुंच गए। इसके बाद दोनों ने नड्डा को वही पुष्पगुच्छ एक साथ भेंट किया जिसे विज हरियाणा भवन से अपने साथ लेकर गए थे।

-----------------

पार्टी मुख्यालय से रात में एक साथ आए मगर सुबह दोनों की राह हुई जुदा

नड्डा से मिलने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल और गृहमंत्री अनिल विज पार्टी मुख्यालय से सोमवार रात्रि करीब 12 बजे वापस हरियाणा भवन एक साथ एक ही कार में आए। दोनों मीडिया से बात किए बिना अपने कमरों में रात्रि विश्राम के लिए चले गए। हरियाणा भवन में तैनात गुप्तचर विभाग ने पल-पल की रिपोर्ट रात में ही तैयार कर अपने प्रमुख को भी भेजी।

यह भी पढ़ें: इस शख्‍स ने दाग मिटाने के लिए 18 साल लड़ी लड़ाई, नौकरी संग हासिल किया सम्‍मान भी

मंगलवार सुबह करीब सात बजे मुख्यमंत्री मनोहर लाल हरियाणा भवन से सीधे चंडीगढ़ के लिए रवाना हो गए। सुबह उनकी मुलाकात विज से नहीं हुई। करीब दस बजे विज अपने 34 नंबर कमरे में तैयार बैठे थे। इस दौरान उन्होंने सीआइडी प्रमुख पर कार्रवाई नहीं होने के सवाल पर कहा कि तब का तब देखेंगे।

यह भी पढ़ें: दुष्‍यंत चौटाला की पार्टी JJP नहीं लड़ेगी Delhi Assembly Election, करेगी BJP के लिए प्रचार

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.