आप के नेता संजय सिंह का तंज: योगी आदित्यनाथ के राज में आस्था के केंद्र भी सुरक्षित नहीं

संजय सिंह ने कहा योगी आदित्यनाथ सरकार के कार्यकाल में अब आस्था के केंद्र भी अब सुरक्षित नहीं हैं
Publish Date:Mon, 28 Sep 2020 08:41 PM (IST) Author: Dharmendra Pandey

लखनऊ, जेएनएन। AAP RajyaSabha Member Sanjay Singh : आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने लखनऊ में पुजारी की पत्नी की मंदिर प्रांगण में हत्या को बेहद ही कष्टदायक बताया है। देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह गोद लिए गांव में शिव मंदिर पुजारी के पत्नी की हत्या और लूट में शामिल लोगों की संजय सिंह ने जल्द गिरफ्तारी के साथ पीडि़त परिवार को 50 लाख मुवावजा तथा शीघ्र न्याय देने की मांग की।

लखनऊ के बंथरा थाना क्षेत्र के बैती में मंदिर के पुजारी की पत्नी की निर्मम हत्या और लूट के मामले की जानकारी पर आदमी पार्टी के सांसद और उत्तर प्रदेश के प्रभारी संजय सिंह ने गांव पहुंच पीड़ित परिवार से मुलाकात की। शोक संवेदना प्रकट की। यहां पर संजय सिंह ने जघन्य हत्या व लूट में शामिल आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी के साथ परिवार को जल्द से जल्द न्याय दिलाए जाने की मांग की।

संजय सिंह ने कहा कि योगी आदित्यनाथ सरकार के कार्यकाल में उत्तर प्रदेश में अब आस्था के केंद्र भी अब सुरक्षित नहीं हैं। बंथरा के बैती गांव में गोपेश्वर मंदिर पौराणिक शिव मंदिर है। इतना ही नहीं केंद्र सरकार में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस गांव को गोद लिया था। सांसद आदर्श गांव के रूप में विकसित किया जाना था। यहां तो आसपास के क्षेत्र के लोग ही नहीं दूरदराज के लोग दर्शन पूजन करने आते हैं। इस पौराणिक शिव मंदिर में कुछ ही समय में लगातार चोरी की घटनाएं हुई। कभी चोर मंदिर से गेहूं उठा ले गए तो कभी सरसों। हद तो यह हो गई कि योगी आदित्यनाथ सरकार की पुलिस की लापरवाही के चलते बदमाशों ने धावा बोल मंदिर के पुजारी दीप नारायण की पत्नी दीपिका त्रिवेदी की जघन्य हत्या कर दी।

संजय सिंह ने कहा कि बेखौफ बदमाशों ने पौराणिक मंदिर और पास की यज्ञशाला को भी अपना निशाना बनाया। कीमती चांदी का छत्र और मंदिर व यज्ञशाला से दानपात्र तोड़ नगदी लूट ले गए। किसी भी हाल में इसकी भरपाई नहीं की जा सकती। मेरी सरकार से मांग है कि पीडि़त परिवार को न्याय दिलाने के लिए त्वरित कार्रवाई की जाए और वारदात में शामिल अपराधियों की अविलंब गिरफ्तारी हो। इसके साथ ही पीड़ित परिवार को सरकार 50 लाख रुपये का मुवावजा दे।

सरकार पर फिर हमला

प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोलते हुए संजय सिंह ने कहा कि लगता है प्रदेश में ब्राह्मणों के हत्या की बाढ़ सी आ गई है। यहां तो आये दिन, लूट, हत्या, सामूहिक दुष्कर्म, बच्चियों के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या तो यह एक आम बात हो गई है। रोज अखबार की सुॢखयां इसी तरह की घटनाओं से भरी रहती हैं। सरकार के ही डीएम व एसपी रंगदारी वसूल रहे हैं और रंगदारी न देने पर हत्या कर दी जाती है। महोबा के व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी की हत्या इसका उदाहरण है। सरकार की कानून व्यवस्था का आलम यह है कि मरने के पहले वीडियो बनाकर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी सीएम योगी आदित्यनाथ से जान माल की सुरक्षा की गुहार करता है। कहता है कि उसकी हत्या करा दी जाएगी, लेकिन सरकार तक जागती है जब उसकी हत्या हो जाती है।

इसके बाद हद तो यह है कि मीडिया में वायरल एसआईटी रिपोर्ट इस जघन्य वारदात को आत्महत्या साबित करने में जुटी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में दीपिका त्रिवेदी की हत्या कोई इकलौता मामला नहीं है। औरैया में कैलाश नारायण दीक्षित की निर्मम हत्या कर दी गई थी। उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ सरकार और प्रदेश के हालात बताने और उठाने पर उनको मुकदमे से नवाज दिया जाता है, लेकिन पूरे प्रदेश में यह हो क्या रहा है। निरवेंद्र मिश्रा से लेकर प्रभात मिश्र तक, विक्रम जोशी से लेकर कैलाश नारायण दीक्षित तक, पूरे प्रदेश में ब्राह्मणों के साथ हत्या की घटनाएं जैसे पूरे प्रदेश में ब्राह्मणों की हत्या की बाढ़ सी आ गई है। राज किशोर पांडेय की हत्या हो या प्रतापगढ़ में दो लोगों को कुल्हाड़ी से काट दिया गया हो। यह थमेगा कब। सरकार कब जागेगी। अब तो स्थिति बर्दाश्त के बाहर हो गई है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी यहां पर पीडि़त परिवार के साथ है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.