शीतकालीन सत्र से पहले उपराष्ट्रपति ने सदन में सभी दलों के फ्लोर नेताओं की बैठक की अध्यक्षता की

Winter Session 2021 इससे पहले रविवार को एनडीए दलों की बैठक हुई। बैठक के बाद संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि संसद के शीतकालीन सत्र में सरकार किसी भी विषय पर चर्चा और बहस के लिए तैयार है। सकारात्मक चर्चा होनी चाहिए।

Dhyanendra Singh ChauhanSun, 28 Nov 2021 06:31 PM (IST)
संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरू हो रहा है

नई दिल्ली, एएनआइ। सोमवार से संसद का शीतकालीन सत्र शुरू हो रहा है। सत्र की शुरुआत से एक दिन पहले उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने रविवार को सदन में सभी दलों के फ्लोर नेताओं की बैठक की अध्यक्षता की। इस दौरान लोकसभा के स्पीकर ओम बिरला और विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे समेत कई अन्य नेता मौजूद रहे।

इससे पहले रविवार को एनडीए दलों की बैठक हुई। बैठक के बाद संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि संसद के शीतकालीन सत्र में सरकार किसी भी विषय पर चर्चा और बहस के लिए तैयार है। सकारात्मक चर्चा होनी चाहिए।

एआइएडीएमके केंद्र सरकार के विधेयकों का करेगी समर्थन

इसके साथ ही एआइएडीएमके सांसद ए नवनीतकृष्णन ने कहा कि अन्नाद्रमुक ने केंद्र सरकार को आश्वासन दिया है कि पार्टी संसद की सुचारू कार्यवाही के लिए उनका समर्थन करेगी और सभी विधेयकों का भी समर्थन करेगी।

जल्द से जल्द बने एमएसपी गारंटी का कानून : खड़गे

रविवार को ही सर्वदलीय बैठक भी हुई। बैठक के बाद कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि हमने मांग की है कि जल्द से जल्द एमएसपी गारंटी का कानून बने। कोरोना में मारे गए करीब 52 लाख लोगों को मुआवजा मिलना चाहिए।

शीतकालीन सत्र के लिए सरकार के पास हे एक बड़ा एजेंडा

बता दें कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार के पास 29 नवंबर से शुरू हो रहे शीतकालीन सत्र के लिए एक बड़ा एजेंडा है, जिसमें 26 नए विधेयकों सहित कई विधायी कार्य शामिल हैं। इस बीच, सरकार ने संकेत दिया है कि तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने वाले विधेयक को प्राथमिकता के आधार पर लिया जाएगा। एजेंडा में क्रिप्टोकरेंसी और आधिकारिक डिजिटल मुद्रा विधेयक, 2021 का विनियमन भी शामिल है।

गौरतलब है कि संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरू हो रहा है और 23 दिसंबर को समाप्त होगा। माना जा रहा है इस बार का शीतकालीन सत्र काफी हंगामेदार होने वाला है। कांग्रेस समेत कई विपक्षी पार्टियां किसान, एमएसपी, लखीमपुर खीरी घटना और महंगाई के मुद्दे पर सरकार को घेरने की कोशिश में हैं। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.