top menutop menutop menu

सोनिया गांधी अभी बनी रहेंगी कांग्रेस अध्यक्ष, थरूर समेत कई बड़े कांग्रेसी नेताओं ने उठाए थे सवाल

सोनिया गांधी अभी बनी रहेंगी कांग्रेस अध्यक्ष, थरूर समेत कई बड़े कांग्रेसी नेताओं ने उठाए थे सवाल
Publish Date:Sun, 09 Aug 2020 10:44 PM (IST) Author: Dhyanendra Singh

नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। कांग्रेस के शिखर नेतृत्व को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं होने के मद्देनजर सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष का कार्यकाल पूरा होने के बाद भी पार्टी की कमान अभी संभालती रहेंगी। उनके अंतरिम अध्यक्ष बने हुए सोमवार को एक साल पूरा हो जाएगा। पार्टी ने कहा कि कांग्रेस कार्यसमिति सोनिया गांधी के अध्यक्ष के तौर पर कार्यकाल के विस्तार को लेकर जरूरी प्रक्रिया पार्टी संविधान के हिसाब से कांग्रेस कार्यसमिति उचित समय पर पूरी कर लेगी। बहरहाल, पार्टी के अंदर ही यह आवाज भी उठ रही हैं कि फुलटाइम अध्यक्ष पर जल्द फैसला होना चाहिए।

चुनाव कराने की मांग कर रहे शशि थरूर

दरअसल पार्टी के अंदर लंबे समय से यह मांग होती रही हैं कि अध्यक्ष का चुनाव होना चाहिए। शशि थरूर समेत कई पार्टी नेताओं की ओर से यह भी संदेश दिया जाता रहा हैं कि अगर राहुल गांधी फिर से अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी लेना नहीं चाहते हैं तो किसी दूसरे का चुनाव होना चाहिए। रविवार को भी थरूर ने ऐसा ही संकेत दिया। उन्होंने आगे कहा 'अंतरिम अध्यक्ष के रूप में मैंने सोनिया जी का स्वागत किया था, लेकिन यह अपेक्षा करना गलत होगा कि वह अनंतकाल तक जिम्मेदारी का बोझ ढोती रहेंगी।'

सोनिया गांधी का पूरा हो रहा है एक साल का कार्यकाल

हालांकि पार्टी प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा कि बेशक अंतरिम अध्यक्ष के रूप में सोनिया गांधी का एक साल का कार्यकाल सोमवार को पूरा हो जाएगा मगर इसका अर्थ यह नहीं कि पार्टी में कोई वैक्यूम हो जाएगा। पार्टी के संविधान में ऐसा कोई प्रावधान नहीं हैं और न ही राजनीति में ऐसा होता हैं। सिंघवी ने कहा कि सोनिया गांधी कांग्रेस की अध्यक्ष हैं और तब तक इस पद पर रहेंगी जब तक पार्टी अपने संविधान के हिसाब से किसी को अध्यक्ष निर्वाचित नहीं कर लेती।

मालूम हो कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी शिकस्त के बाद राहुल गांधी ने जून 2019 में अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था और 10 अगस्त को कार्यसमिति ने सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष चुना था। हालांकि इसके छह महीने बाद से ही राहुल गांधी के दोबारा लौटने की अटकलें लगाई जा रही हैं और इसीलिए कांग्रेस के नेतृत्व को लेकर असमंजस की स्थिति कायम हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.