विपक्षी एकता में दीदी का सियासी ब्रेकर हटाने को मैदान में उतरी शिवसेना, संजय राउत ने की राहुल गांधी से मुलाकात

शिवसेना नेता संजय राउत ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मुलाकात की। संजय राउत ने कहा क‍ि कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ यह एक लंबी बैठक थी। ममता बनर्जी ने शिवसेना के नेता आदित्य ठाकरे व संजय राउत और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी नेता शरद पवार से मुलाकात की थी।

Arun Kumar SinghTue, 07 Dec 2021 06:50 PM (IST)
शिवसेना नेता संजय राउत ने बुधवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मुलाकात की।

नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। विपक्षी एकता को पटरी से उतारने की ममता बनर्जी की कोशिशों से निपटने के लिए शिवसेना ने अपनी सियासी सक्रियता तेज कर दी है। शिवसेना नेता संजय राउत ने मंगलवार को पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करके ममता की राष्ट्रीय महत्वाकांक्षाओं को यह कहते हुए पंचर करने की कोशिश की कि विपक्षी दलों का कोई भी फ्रंट कांग्रेस के बिना संभव नहीं है।

संकेत दिए, ममता को समझाने की पहल कर सकते हैं शरद पवार

शिवसेना नेता ने साफ कहा कि विपक्षी नेतृत्व के बारे में मिलकर चर्चा तो की जा सकती है मगर विपक्ष का केवल एक ही मोर्चा होना चाहिए। इतना ही नहीं, शिवसेना नेता ने यह उम्मीद भी जताई कि विपक्षी एकजुटता को अकेले अलग राह पर ले जाने की कोशिश कर रहीं ममता बनर्जी को समझा-बुझाकर ट्रैक पर लाने में राकांपा प्रमुख शरद पवार अहम भूमिका निभाएंगे। इस तरह की पहल के लिए वह सबसे काबिल नेता हैं।

संजय राउत ने कहा, कांग्रेस के बिना कोई विपक्षी मोर्चा मुमकिन नहीं

राहुल गांधी के सरकारी आवास पर उनसे लंबी मुलाकात के बाद पत्रकारों से चर्चा में संजय राउत ने स्वीकार किया कि इस दौरान विपक्षी राजनीति के मुद्दों पर बात हुई। इसमें ममता बनर्जी की ताजा सियासी पहल पर भी चर्चा हुई और वह शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को इसके लब्बोलुआब से अवगत कराएंगे। संजय राउत ने कहा कि शिवसेना पहले भी कह चुकी है और वह दोहराते हैं कि कांग्रेस के बिना विपक्ष का कोई मोर्चा बनाना संभव नहीं है। राहुल गांधी से इस पर भी चर्चा हुई, वह इस महीने के आखिर में मुंबई जाने वाले हैं और उद्धव ठाकरे की सेहत ठीक रही तो कांग्रेस नेता से उनकी इस संदर्भ में मुलाकात और बातचीत भी होगी।

विपक्षी सियासत को आगे बढ़ाने के लिए राहुल को लीड करना चाहिए

शिवसेना नेता ने बताया, उन्होंने राहुल से कहा कि विपक्षी सियासत को आगे बढ़ाने के लिए उन्हें लीड करना चाहिए और खुलकर काम करने की जरूरत है। ममता के अलग मोर्चा बनाने की कोशिशों को अर्थहीन साबित करने का प्रयास करते हुए राउत ने कहा कि विपक्षी खेमे के बहुत सारे राजनीतिक दल आज भी कांग्रेस के साथ हैं तो अलग-अलग फ्रंट बनाकर क्या करेंगे। राउत ने कहा कि विपक्ष का एक ही मोर्चा हो, अपनी इस पहल के लिए वह बुधवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से भी मुलाकात करके बातचीत करेंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.