top menutop menutop menu

राजनाथ सिंह आज LAC समेत संपूर्ण सुरक्षा की समीक्षा करने CDS और तीनों सेना प्रमुखों से बैठक करेंगे

नई दिल्ली, एएनआइ। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर वर्तमान स्थिति को लेकर रक्षा विभाग के प्रमुख जनरल बिपिन रावत और तीनों सेना प्रमुखों से मुलाकात करेंगे। बताया गया कि बैठक में देश की संपूर्ण सुरक्षा स्थिति की भी समीक्षा की जाएगी। 

हाल ही में बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन से बातचीत में राजनाथ सिंह को आश्वासत किया गया था कि LAC पर सड़क निर्माण कार्य हर हाल में पूरा होगा। बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन एलएसी पर लगातार सड़कों का जाल बिछाने का काम कर रहा है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने साउथ ब्लॉक में बीआरओ के चीफ और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मलाकात की थी। उस दौरान एलएसी और एलओसी पर चल रही परियोजनाओं की समीक्षा की गई। हाल ही में बीआरओ ने लेह में तीन नए पुलों का निर्माण किया है, जिसकी मदद से भारतीय सेना आसानी से टैंकों को एलएसी के पास तक ले जाने में सक्षम हो गई है।

बीआरओ के चीफ लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) और पाकिस्तान के साथ नियंत्रण रेखा (LoC) पर चल रही सड़क निर्माण परियोजनाओं की जानकारी दी। इस दौरान बीआरओ के चीफ ने रक्षा मंत्री को आश्वासन दिया कि बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन समय पर एलएसी और एलओसी पर चल रही परियोजनाओं को पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा। उन्होंने बताया कि रक्षा मंत्रालय, गृह मंत्रालय और परिवहन मंत्रालय के साथ मिलकर इन परियोजनाओं के लिए काम किया जा रहा है।

वहीं, 15 जून को भारत और चीन के बीच हुए संषर्घ को देखते हुए राजनाथ सिंह की यह बातचीत अहम हो सकती है। दोनों देशों के बीच तनातनी से बाद सुरक्षा की समीक्षा करना अहम हो जाता है। भारतीय और चीनी सेनाएं पिछले आठ हफ्तों से पूर्वी लद्दाख में आमने-सामने हैं। इसमें गलवन घाटी में हुए संघर्ष के बाद तनाव कई गुना बढ़ गया जिसमें भारतीय सेना के 20 जवान मारे गए। चीनी पक्ष को भी हताहतों का सामना करना पड़ा, लेकिन अभी तक इसका विवरण नहीं दिया गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.