हिंसा नहीं है किसी समस्या का समाधान, देश हित में कृषि कानून हों रद: राहुल गांधी

किसानों के समर्थन में फिर से बोले राहुल गांधी

किसानों व पुलिस के बीच हिंसक झड़प को देखते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की और कहा कि हिंसा किसी समस्या का हल नहीं है। चोट किसी को भी लगे नुक़सान हमारे देश का ही होगा।

Monika MinalTue, 26 Jan 2021 03:57 PM (IST)

नई दिल्ली, प्रेट्र। गणतंत्र दिवस के मौके पर 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली निकालने वाले किसानों व पुलिस की कई जगहों पर झड़प की घटना पर मंगलवार को कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ( Congress leader Rahul Gandhi) ने कहा, 'हिंसा किसी समस्या का हल नहीं है। चोट किसी को भी लगे नुकसान हमारे देश का ही होगा। देशहित में कृषि विरोधी कनूनों को वापस लें। 

किसानों को ट्रैक्टर रैली के लिए अनुमति दे दी गई थी और इसके लिए रुट भी निर्धारित किए गए थे लेकिन आज प्रदर्शनकारी किसानों की भीड़ लाल किले में दाखिल हो गई और वहां मुंडेरों पर तिरंगा लहराया। लुटियन दिल्ली (Lutyens Delhi) में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे किसानों का समूह ITO पर पुलिस से भीड़ गया। पुलिस ने उन्हें वहां से हटाने के लिए आंसू गैस (tear gas shells) के गोले छोड़े और लाठी चार्ज किया। 

विभिन्न सीमाओं से किसानों ने अपना ट्रैक्टर मार्च निर्धारित समय से पहले ही शुरू कर दिया था। ये सभी सेंट्रल दिल्ली के ITO पहुंच गए जहां के लिए बात नहीं की थी। उनके प्रतिनिधियों ने पहले ही सेंट्रल दिल्ली में प्रवेश न करने पर अपनी सहमति दे दी थी। कांग्रेस (Congress) ने एक वीडियो भी ट्वीट किया जिसमें आंसू गैस के गोलों से निकला धुंए का गुबार नजर आ रहा है। 

कांग्रेस पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर बताया, 'नए भारत में गणतंत्र दिवस 2021 (Republic Day 2021)। हमारी राष्ट्रीय राजधानी (national capital) पर धुएं का बादल है क्योंकि सरकार ने अपनी जनता पर हमला किया है।' विपक्षी पार्टी ने यह भी कहा कि वे किसानों के साथ मजबूती से खड़े हैं और उनके आंदोलन में साथ दे रहे हैं। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.